आदिवासी नेता नंदकुमार साय का अपनी ही पार्टी पर हमला, कहा- डॉ. रमन, सौदान सिंह व राजनाथ सिंह ने केंद्रीय नेतृत्व को भ्रमित किया – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

आदिवासी नेता नंदकुमार साय का अपनी ही पार्टी पर हमला, कहा- डॉ. रमन, सौदान सिंह व राजनाथ सिंह ने केंद्रीय नेतृत्व को भ्रमित किया

Published

on

जशपुर (चैनल इंडिया)| दिग्गज आदिवासी नेता नन्दकुमार साय के बयान से प्रदेश भाजपा में बवंडर मच गया है। नंदकुमार साय ने कहा है कि पार्टी आलाकमान चाहता है कि आदिवासी समाज को कैसे ताकतवर बनाया जाए लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसा नहीं हो रहा है। भाजपा को 15 सालों की सत्ता के बाद आदिवासी समाज की इतनी नाराजगी झेलना पड़ रही है तो ऐसे में कहीं न कहीं पार्टी को समाज के प्रति विचार करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि मैंने 2016 में ही प्रधानमंत्री को छत्तीसगढ़ की जमीनी हालत बता दिए थे कि प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन किया जाय अन्यथा पार्टी की बुरी तरह पराजय हो सकती है लेकिन डॉ. रमन सिंह ,प्रदेश प्रभारी सौदान सिंह और राजनाथ सिंह मिलकर गलत रिपोर्ट देते रहे। 65 प्लस का नारा देकर पार्टी के आला नेताओं को भ्रमित कर दिया। जिसका नतीजा क्या निकला यह बताने की जरूरत नहीं है। 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव में मैंने भाजपा के प्रचार में जी जान लगाकर मेहनत की लेकिन दूसरी और तीसरी बार बहुमत में आने के बाद भी उन्हें मुख्यमंत्री नही बनाया गया।

विधानसभा चुनाव में उन्हें मरवाही से टिकट दिया गया था । अजीत जोगी जैसे आदमी से चुनाव जीतना सम्भव नही था फिर भी दमदारी से चुनाव लड़ा। हालांकि वह हार गए लेकिन प्रदेश में भाजपा को बहुमत मिल गया। बहुमत मिलने के बाद जब उन्होंने मुख्यमंत्री बनाने को कहा तो उन्हें पार्टी ने कहा कि उन्हें बनाया जाता अगर वह मरवाही से चुनाव जीत जाते । उन्होंने आगे कहा कि पार्टी को उन्हें दो जगहों से टिकट देनी थी। लेकिन सिर्फ मरवाही से मैदान में उतार दिया । साय के जशपुर में दिए बयान के बाद राजधानी में भी राजनीति सरगर्म रही। साय के जरिए कांग्रेस ने जहां भाजपा में चल रही खेमेबाजी पर हमला किया तो भाजपा नेता बचाव करते रहे।

साय की नहीं हुई अनदेखी: विष्णुदेव
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने नंदकुमार साय के बयान को लेकर पलटवार किया है उन्होंने कहा कि नन्दकुमार साय ऐसे  नेता हैं जिनकी अनदेखी नही की जा सकती न ही आजतक उनकी कोई अनदेखी की गई है। वह 1977 से लगातार पार्टी के जिमनेदार पदों पर रहते हुए कई बार क्षेत्र के विधायक रहे ,कई बार सांसद रहे ,कई बार राज्यसभा सांसद रहे। इसके अलावे अविभाजित मध्यप्रदेश में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी रहे और छत्तीसगढ़ में नेता प्रतिपक्ष बनाया गया।

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING7 hours ago

भाजपा जिला संगठन में नेतृत्व परिवर्तन होना चाहिए: संतु दास

बीजापुर(चैनल इंडिया)|भाजपा संगठन में अन्तकर्लह और बयानबाजी सोशल मीडिया में जोरो पर बढ़ता जा रहा है ठंडी के मौसम राजनीति...

BREAKING9 hours ago

ISRO दे रहा है फ्री ऑनलाइन कोर्स करने का मौका, जानिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन…

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन  छात्रों के लिए एक फ्री ऑनलाइन कोर्स की पेशकश कर रहा है. 12-दिवसीय पाठ्यक्रम ‘देहरादून स्थित...

BREAKING9 hours ago

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा- देश की अर्थव्यवस्था विकास के स्थिर पथ पर है, GDP संख्या उत्साजनक होगी…

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  ने आज की साझेदारी में शनिवार को आयोजित एचटी लीडरशिप समिट में कहा कि...

BREAKING9 hours ago

गोदावरी पावर एंड इस्पात लिमिटेड अब “ग्रेट प्लेस टू वर्क” -प्रमाणित

रायपुर(चैनल इंडिया)| गोदावरी पावर एंड इस्पात लिमिटेड (हीरा ग्रुप की इकाई ) अब “ग्रेट प्लेस टू वर्क” से प्रमाणित है।...

BREAKING9 hours ago

कमजोर पड़ा चक्रवात ‘जवाद’, छग में टला बारिश का खतरा

रायपुर(चैनल इंडिया)| समुद्री चक्रवात जवाद के रूप में मंडरा रहा खतरा टलता दिख रहा है। मौसम विभाग ने बताया है,...

Advertisement
Advertisement