कोरोना मरीजों पर जरा भी कारगर नहीं यह दवा, अगर आप भी करते है इसका उपयोग तो हो जाए सावधान – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

कोरोना मरीजों पर जरा भी कारगर नहीं यह दवा, अगर आप भी करते है इसका उपयोग तो हो जाए सावधान

Published

on

इस कोरोना काल में कई सारी दवाओं का इस्तेमाल खूब बढ़ा है, जिसमें एजिथ्रोमाइसिन भी शामिल है। कोरोना संक्रमितों के इलाज में इसका जमकर इस्तेमाल हुआ है। इस दवा को लेकर हाल ही में हुए एक अध्ययन में पता चला है कि कोरोना के इलाज में इसके इस्तेमाल से किसी तरह का कोई फायदा नहीं हुआ है। अध्ययन के मुताबिक, कोरोना मरीजों पर यह दवा सिर्फ एक प्लेसिबो की तरह काम कर रही थी। इसका मतलब ये हुआ कि दवा खाने के बाद मरीजों को लगता है कि उन्हें आराम मिल गया है, जबकि असल में ऐसा होता नहीं है। यह अध्ययन यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया और स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से किया गया है। भारत में पिछले साल जून में ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी गाइडलाइन में बदलाव किया था और हल्के और मध्यम संक्रमण वाले रोगियों के उपचार के लिए एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग करने पर रोक लगा दी थी।

अध्ययन के मुताबिक, शोधकर्ताओं ने रिसर्च के लिए 263 वॉलंटियर्स को चुना था, जिसमें से 171 कोरोना मरीजों को एजिथ्रोमाइसिन की गोली दी गई थी और 62 लोगों को उसी की तरह दिखने वाली गोली यानी प्लेसिबो दिया गया था। इस दौरान पाया गया कि 14 दिन के बाद प्लेसिबो लेने वाले मरीजों की तुलना में एजिथ्रोमाइसिन लेने वाले लोगों के लक्षणों में कोई सुधार नहीं आया।

एजिथ्रोमाइसिन किस चीज की दवा है?
एजिथ्रोमाइसिन एक एंटीबायोटिक है, जिसका इस्तेमाल कई प्रकार के बैक्टीरियल संक्रमण को खत्म करने में किया जाता है। न्यूमोनिया, ब्रोंकाइटिस, कान, गला, फेफड़े का संक्रमण आदि के इलाज में डॉक्टर एजिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल करते हैं।

शेड्यूल एच की दवा है एजिथ्रोमाइसिन
विशेषज्ञ कहते हैं कि एजिथ्रोमाइसिन शेड्यूल एच में आने वाली दवा है, जिसे डॉक्टर के बिना सलाह के नहीं बेचा जा सकता है, लेकिन भारत में लोग आराम से इसका इस्तेमाल करते हैं और वो भी बिना डॉक्टरी सलाह के। गले में जरा सा भी इन्फेक्शन हुआ नहीं कि लोग दवा दुकानों से एजिथ्रोमाइसिन खरीद कर खा लेते हैं।

ऐसे लोग एजिथ्रोमाइसिन के इस्तेमाल से पहले बरतें सावधानी
विशेषज्ञ कहते हैं कि अगर आपको लिवर, पीलिया, हृदय रोग या आंतों में सूजन संबंधी समस्या है तो खुद से एजिथ्रोमाइसिन दवा भूलकर भी न लें, क्योंकि इससे आपकी स्थिति और भी बिगड़ सकती है। बेहतर होगा कि यह दवा लेने से पहले आप अपने डॉक्टर से सलाह लें।

नोट: यह लेख अध्ययन और शोधकर्ताओं से बातचीत के आधार पर तैयार किया गया है। लेख में शामिल सूचना व तथ्य आपकी जागरूकता और जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किए गए हैं। किसी भी तरह की बीमारी के लक्षण हों अथवा आप किसी रोग से ग्रसित हों तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

 


Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING6 hours ago

UP में ‘अब्बाजान’ के बाद छग में ‘चचाजान’ पर सियासत…

रायपुर(चैनल इंडिया)। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बाजान वाले बयान के बाद अब छत्तीसगढ़ में चचाजान पर सियासत तेज...

BREAKING6 hours ago

सरायपाली संयुक्त शिक्षक संघ की बैठक हुई आज ,समस्याओं को लेकर बीईओ से मिलेंगे

सरायपाली(चैनल इंडिया)|  आज 18 सितंबर को छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ ब्लॉक इकाई सरायपाली के सदस्यों की आवश्यक बैठक बीआरसीसी...

 सक्ती6 hours ago

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिवस के शुभ अवसर पर भाजपा महिला मोर्चा ने जिला चिकित्सालय में किया फल वितरण…

सक्ती(चैनल इंडिया)। हमारे गौरव राष्ट्रहित सर्वोपरी को मानकर कार्य करने वाले हमारे आदर्श  भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र  मोदी जी...

 सक्ती6 hours ago

शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में फेरी कर चूड़ी बेचने वाले निकले आरोपी, जानिए क्या है पूरा मामला…

मोहन अग्रवाल की रिपोर्ट… सक्ती(चैनल इंडिया)|  विगत 15 सितंबर को नगर के व्यस्त मार्ग नवधाचौक में स्थित मयंक मोबाइल दुकान...

channel india7 hours ago

हाथी ने साइकिल सवार युवक को पटक-पटक कर उतारा मौत के घाट….

जशपुर(चैनल इंडिया)। प्रदेश में हाथियों का उत्पात लगातार जारी है। एक बार फिर हाथी ने 2 दिन के अंदर 3...

Advertisement
Advertisement