1 अगस्त से बदल जाएगा आपके बैंक से जुड़ा ये नियम, जानिए किसे होगा इसका सबसे ज्यादा फायदा – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

1 अगस्त से बदल जाएगा आपके बैंक से जुड़ा ये नियम, जानिए किसे होगा इसका सबसे ज्यादा फायदा

Published

on

1 अगस्त से एनएसीएच (NACH-National Automated Clearing House) सर्विस 24 घंटे सातों दिन काम करेगी. इससे नौकरी करने वालों को बड़ा फायदा होगा. अब संडे को भी सैलरी खाते में ट्रांसफर की जा सकेगी. आपको बता दें कि एनएसीएच सर्विस को एनपीसीआई चलाता है. इसके जरिए बल्क पेमेंट किए जाते है. जी हां, जैसे सैलरी का भुगतान करना, शेयरधारकों को डिविडेंड देना, ब्याज का भुगतान, पेंशन ट्रांसफर करना. इसके अलावा इलेक्ट्रिसिटी, टेलीफोन, पानी जैसे हर महीने के बिल का भुगतान पर किया जाता है.
अगर आसान शब्दों में कहें तो NACH एक ऐसा बैंकिंग सर्विस है. जिसके जरिए कंपनियां और आम आदमी अपनी हर महीने की हर पेमेंट को आसानी से और बिना किसी टेंशन के पूरा कर लेते है.
आरबीआई गवर्नर का कहना है कि NACH डीबीटी के एक लोकप्रिय और प्रमुख माध्यम के रूप में उभरा है. बड़ी संख्या में लाभार्थियों को इससे सरकारी सब्सिडी के हस्तांतरण में मदद मिली है. मौजूदा कोरोना संकट के बीच इससे कंपनी और आम आदमी दोनों को मदद मिलेगी. 1 अगस्त, 2021 से ये सर्विस सप्ताह के सभी दिनों में उपलब्ध होगी.
क्या होता है NACH- एनएसीएच को नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH) कहते है. इसे देश में नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) चलाता है. इसके जरिए आमतौर पर बल्क पेमेंट की जाती है.
संडे को भी आएगी सैलरी- बैंकिंग सेक्टर से जुड़े जानकार बताते हैं कि इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सिस्टम (ECS) के मुकाबले एनपीसीआई का एनएसीएच काफी बेहतर सिस्टम है. यह ईसीएस का एडवांस वर्जन है. कंपनियां इसका इस्तेमाल डिविडेंड देने के लिए, सैलरी भुगतान के लिए, पेंशन के लिए करती है.वहीं, आम आदमी इसका इस्तेमाल टेलीफोन, बिजली, पानी, लोन की ईएमआई, म्यूचुअल फंड एसआईपी और बीमा प्रीमियम प्रीमियम भुगतान के लिए करते है.
बैंकिंग सेक्टर से जुड़े जानकार बताते हैं कि आमतौर पर कंपनियां अब महीने की आखिरी तारीख को सैलरी खाते में ट्रांसफर कर देती है. अगर किसी वजह से छुट्टी है तो एक दिन पहले भुगतान कर दिया जाता है. लेकिन अब NACH की सुविधा 24 घंटे 7 दिन मिलने से सैलरी का भुगतान और आसान हो जाएगा. अब कंपनियां चाहेंगी तो सैलरी भुगतान कभी भी कर सकती है.
NPCI की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, दो तरह के एनएसीएच मैंडेट होते है. एक एनएसीएच डेबिट होता है. इसका इस्तेमाल आमतौर पर टेलीफोन बिल भुगतान, म्यूचुअल फंडों में सिप और बिजली बिलों का भुगतान करने के लिए किया जाता है.वहीं, दूसरा एनएसीएच क्रेडिट होता है. एनएसीएच क्रेडिट का इस्तेमाल सैलरी, डिविडेंड देने के लिए किया जाता है.एनएसीएच मैंडेट आपकी ओर से संस्थानों को आपके खाते से पैसे काटने और जमा करने के लिए दी जाने वाले मंजूरी होती है.


Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING13 hours ago

UP में ‘अब्बाजान’ के बाद छग में ‘चचाजान’ पर सियासत…

रायपुर(चैनल इंडिया)। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बाजान वाले बयान के बाद अब छत्तीसगढ़ में चचाजान पर सियासत तेज...

BREAKING14 hours ago

सरायपाली संयुक्त शिक्षक संघ की बैठक हुई आज ,समस्याओं को लेकर बीईओ से मिलेंगे

सरायपाली(चैनल इंडिया)|  आज 18 सितंबर को छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ ब्लॉक इकाई सरायपाली के सदस्यों की आवश्यक बैठक बीआरसीसी...

 सक्ती14 hours ago

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिवस के शुभ अवसर पर भाजपा महिला मोर्चा ने जिला चिकित्सालय में किया फल वितरण…

सक्ती(चैनल इंडिया)। हमारे गौरव राष्ट्रहित सर्वोपरी को मानकर कार्य करने वाले हमारे आदर्श  भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र  मोदी जी...

 सक्ती14 hours ago

शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में फेरी कर चूड़ी बेचने वाले निकले आरोपी, जानिए क्या है पूरा मामला…

मोहन अग्रवाल की रिपोर्ट… सक्ती(चैनल इंडिया)|  विगत 15 सितंबर को नगर के व्यस्त मार्ग नवधाचौक में स्थित मयंक मोबाइल दुकान...

channel india14 hours ago

हाथी ने साइकिल सवार युवक को पटक-पटक कर उतारा मौत के घाट….

जशपुर(चैनल इंडिया)। प्रदेश में हाथियों का उत्पात लगातार जारी है। एक बार फिर हाथी ने 2 दिन के अंदर 3...

Advertisement
Advertisement