खबरे अब तक

BREAKING

लुका छिपी के खेल ने ले ली पाँच बच्चो की जान,एक घर से निकला चार संगे भाई-बहनो की अर्थी



बीकानेरएक|राजस्थान से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया जिसमे लुका-छिपी की खेल ने 5 मंसूमों की जान ले ली,यह दर्दनाक हादसा तब हुआ बच्चे खेलते हुए अनाज की टंकी में छिप गए  अस्पताल से जब पांचों बच्चों के शव बाहर निकले तो गांव का हर शख्स के अंदर तकलीफ़ों का सैलाब उमड़ पड़ा। दादा घर पर बैठे बैठे हर दो-चार मिनट में पोते-पोतियों का नाम लेकर रो पड़ते हैं। मां को तो सुध ही नहीं है कि उसके घर पर हो क्या रहा है? मजदूरी करने वाला भींयाराम कभी दीवार को हाथों से मारता है तो कभी किसी के कंधे पर सिर रखकर रो पड़ता है।बच्चो की मौत ने मानो घर की पूरी खुशिया छिन ली किसी को कोई सुध नहीं रहा बीएस बछों का नाम लेकर आसुओं की धारा आँख से बहती रही|

इसे भी पढ़े   छत्तीसगढ़: पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल कोरोना पॉजिटिव, रमन सिंह, कौशिक, सुनील सोनी समेत कई बड़े बीजेपी नेताओं पर कोरोना का खतरा

दरअसल किसान भीयाराम का परिवार खेत में गया हुआ था। इसी दौरान पांच बच्चे घर पर थे। इसमें चार भीयाराम के बेटे-बेटियां थे जबकि पड़ोसी की भांजी थी। भीयाराम का बेटा सेवाराम (4 साल) के अलावा तीन बेटियां रविना (7 साल) राधा (5 साल) और टींकू (8 साल) के साथ ही भीयाराम की भांजी माली पुत्री मघाराम घर पर खेल रहे थे।खेलते खेलते सभी बच्चे लोहे की चादर से बनी अनाज की कोठरी में घुस गए। बच्चों के कोठरी के अंदर घुसने के बाद उसका ढक्कन नीचे आ गया और खुद ही बंद हो गया। टंकी की गहराई 5 फीट और चौड़ाई करीब 3 फीट है। यह इतनी भारी है कि बच्चे चाहकर भी इसे नहीं खोल सकते थे। घटना के दौरान घर में भी कोई नहीं था, वर्ना बच्चों की जान बच जाती।और यह दर्दनाक हादसे की आहात भी नहीं होती