किसान के अन्न का अपमान तो भाजपा करती थी जब 2100 रू. बोलकर नहीं दिया, किसान और धान का अपमान भाजपा की फितरत है : कांग्रेस – Channelindia News
Connect with us

channel india

किसान के अन्न का अपमान तो भाजपा करती थी जब 2100 रू. बोलकर नहीं दिया, किसान और धान का अपमान भाजपा की फितरत है : कांग्रेस

Published

on


रायपुर(चैनल इंडिया)।  प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि धान खरीदी पर भाजपा के नेता लगातार झूठ का सहारा ले रहे है। किसानों के हित में ठोस काम करने वाली कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा अभी से झूठा प्रचार करने लगी है। 2018 विधानसभा चुनाव हारने के बाद क्या भाजपा नेताओं की सारी याददाश्त चली गयी है क्या? कांग्रेस सरकार ने किसानों और धान का सम्मान किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने धान का दाम 2500 रू. दिया है। पहले साल 80 लाख टन से अधिक और दूसरे साल 83 लाख टन धान की खरीदी की है। भाजपा की 15 साल की सरकार में तो 15 लाख से भी कम किसानों से औसत 50 लाख टन धान ही प्रतिवर्ष खरीदा गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने पहले साल 2018-19 में 15 लाख 71 हजार किसानों से 80 लाख टन से अधिक धान खरीदा और दूसरे साल 2019-20 में 19 लाख 52 हजार किसानों से 83 लाख टन से अधिक धान खरीदा गया। इस साल 21 लाख 50 हजार से अधिक किसानों का पंजीयन हो चुका है। कांग्रेस सरकार ने किसानों का कर्ज माफ किया है जिसकी सोच ही कभी भाजपा के पास नहीं थी।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि धान की बर्बादी पर घड़ियाली आंसू बहाने वाले धरमलाल कौशिक जवाब दें कि छत्तीसगढ़ में 15 साल सरकार चलाने के दौरान भाजपा सरकार ने धान को सुरक्षित भंडारण के लिये कितने गोडाउन का निर्माण करवाया था। 15 साल में कमीशनखोरी के लिये बिना आवश्यकता के सिर्फ कमीशनखोरी की नियत से बड़ी-बड़ी अट्टालिकायें बनाने वाली तत्कालीन रमन सरकार ने धान के सुरक्षित भंडारण के लिये कोई योजना नहीं बनाया था और न ही निर्माण करवाया। भाजपा की रमन सिंह सरकार ने 15 साल धान को संरक्षित करने और धान खरीदी को सुव्यवस्थित करने की कोई व्यवस्था ही नहीं बनाई। कांग्रेस सरकार तो धान को सुरक्षित करने के लिये चबूतरे बना रही है। कांग्रेस सरकार में तो स्थिति बहुत बेहतर है। भाजपा शासनकाल में तो इससे ज्यादा धान बारिश में भीगने और सड़ने से खराब हो जाता था।

इसे भी पढ़े   कमलनाथ चुनावी सभा में बोले : एदल सिंह पर होने वाली थी कार्रवाई, इसलिए उन्होंने गिरवा दी सरकार

रमन सिंह के शासनकाल में उपार्जित धान के खराब होने का विवरण जारी करते हुये संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि वर्ष 2019-20 में कुल उपार्जित 83.94 लाख मे.टन धान में से 78.80 लाख मे. टन (94.3 प्रतिशत) धान का निराकरण किया जा चुका है। शेष 5.14 लाख मे.टन धान का निराकरण जारी है, जिसे 15 दिसंबर 2020, तक निराकृत कर लिया जायेगा। संपूर्ण धान के निराकरण हुये बिना ही सूखत अथवा खराब धान की मात्रा को लेकर धरमलाल कौशिक का बयान आधारहीन और कोरी बयानबाजी है। कांग्रेस सरकार का प्रयास है कि खराब धान की मात्रा न्यूनतम रहे।

 

क्र.खरीफ वर्ष उपार्जित धान की मात्रा (लाख टन में) खराब हुये धान की मात्रा (टन में)

  1. 2011&12

59-72

50841

  1. 2012&13

71-36

100381

  1. 2013&14

79-72

78161

 

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में कुल 83.94 लाख मे.टन धान का उपार्जन किया गया जिसमें से 51.70 लाख में. टन धान सीधे समितियों से मिलर को प्रदाय किया जो कुल धान उपार्जन का 62 प्रतिशत है। विगत वर्षो में कुल उपार्जित धान के विरूद्व मिलरो द्वारा उठाव का प्रतिशत एवं धान की मात्रा जारी करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि समितियों से सर्वाधिक मात्रा में धान का सीधा उठाव इस वर्ष किया गया है, जिसके कारण शासन को परिवहन राशि की बचत भी हुई है। कांग्रेस सरकार द्वारा सफलतापूर्वक सुव्यवस्थित रूप से धान की खरीदी से भाजपा नेताओं को स्वाभाविक रूप से पेट में पीड़ा हो रही है। अगर भाजपा की सोच सही होती तो धरमलाल कौशिक आगे आकर कांग्रेस सरकार की सफलता को स्वीकार करने का नैतिक साहस प्रदर्शित कर लें।

इसे भी पढ़े   महासमुंद विस क्षेत्र के 40,000 किसान मोदी सरकार के काले कानूनों के विरोध में, भाजपा किसानों के साथ नही पूंजीपतियों के साथ हमेशा खड़ी रही...

क्रं. खरीफ वर्ष उपार्जित धान की मात्रा (लाख टन में ) समितियों से सीधे उठाव की मात्रा (लाख टन में )

  1. 2016&17

69-59

41-25

  1. 2017&18

56-88

41-45

  1. 2018&19

80-38

47-40

  1. 2019&20

83-94

51-70

 

सूरजपुर में धान को लेकर धरमलाल कौशिक के बयान पर आंकडे जारी करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि सूरजपूर जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में कुल 1.60 लाख मे.टन धान की खरीदी की गई थी, जिसमें से 1.44 लाख मे.टन धान का उठाव अब तक हो चुका है। जिसका उठाव एवं निराकरण निरंतर प्रगतिरत है तथा 15 दिसंबर 2020 तक शत प्रतिशत निराकरण करने की दिशा में काम किया जा रहा है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि 2500 रू. धान का दाम देने वाली कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार के खिलाफ भाजपा विधायक दल के नेता धरमलाल कौशिक का बयान सीधे-सीधे जनता की आंखो में धूल झोकने की कोशिश है। धान खरीदी पर भाजपा किस मुंह से बोल रही है? भाजपा को किसानों और ग्रामीण मतदाताओं से अब कोई  समर्थन इसलिये नहीं मिलेगा क्योंकि छत्तीसगढ़ के लोग भाजपा के किसान विरोधी, गरीब विरोधी चरित्र, मजदूर विरोधी चरित्र को बखूबी समझ चुके है।

इसे भी पढ़े   जल्द लॉन्च होगा एन.आई.टी के छात्रों का स्टार्टअप "जिमनैश", पब्लिक एवं मीडिया रिलेशन सेल, एन. आई. टी. रायपुर

किसान और धान का सम्मान की बड़ी बड़ी बाते करने वाले धरमलाल कौशिक से प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर अनुमानित धान उपार्जन हेतु लगभग 3.50 लाख गठन नये बारदानों की आवश्यकता के विरूद्ध जूट कमिश्नर, कोलकाता के माध्यम से भारत सरकार द्वारा केवल 1.45 लाख गठन नये बारदाने ही क्यो उपलब्ध कराये जा रहे है? शेष बारदानों की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा की जा रही है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा ने 2013 के घोषणा पत्र में कहा था कि 2100 रू. समर्थन मूल्य देंगे, नहीं दिया। भाजपा ने कहा था कि 5 साल तक 300 रू. बोनस देंगे, नहीं दिया। भाजपा ने कहा था एक-एक दाना धान खरीदेंगे, नहीं खरीदा। भाजपा ने कहा था 5 हार्सपावर पंपों को मुफ्त बिजली देंगे, नहीं दी। भाजपा ने कहा था कि स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशे लागू करेंगे, किसानों को फसल की लागत पर डेढ़ गुना जोड़कर दाम देंगे, नहीं दिया। भाजपा ने कहा था 2022 तक किसानों की आय दुगुनी करेंगे, अभी तक किसानों की आय बढ़ाने के लिये कुछ भी नहीं किया। भाजपा ने तो किसानों के साथ धोखाधड़ी ही की है। भाजपा किसान हितैषी बनने का स्वांग रचती रही है और किसानों के लिये घड़ियाली आंसू बहाती है। भाजपा के किसान विरोधी चरित्र को छत्तीसगढ़ के किसान बखूबी जानते, समझते है।

Advertisement
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india7 hours ago

होम आइसोलेशन के संबंध में स्वास्थ्य विभाग की नई गाईड लाईन का पालन सुनिश्चित करें – कलेक्टर, जिला स्तरीय कोविड केयर कोर कमेटी की बैठक

जांजगीर-चापा(चैनल इंडिया)। कलेक्टर यशवंत कुमार ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित कर कहा कि वे कोविड-19 संक्रमित मरीजों...

BREAKING8 hours ago

असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष की उम्र में निधन, 3 दिनों का राजकीय शोक

असम(चैनल इंडिया)। असम के तीन बार मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई  का सोमवार शाम को निधन हो गया. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज...

channel india8 hours ago

आठ दिनों से गोताखोर के तालाब में डूबने की खबर पर मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने तालाब पहुचकर तत्काल ढूंढने के दिए आदेश

कोरबा(चैनल इंडिया)। राजस्व एवं आपदा प्रबन्धन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा अपर कलेक्टर, कोरबा एसडीएम्, कोरबा डीएसपी,जिला मुख्य कार्यपालन अधिकारी...

channel india8 hours ago

पांच जिलों के करीब दस लाख बच्चों को लगाए जाएंगे जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से बचाव के लिए टीके, स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने किया टीकाकारण अभियान का ऑनलाइन शुभारंभ

रायपुर(चैनल इंडिया)। स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज प्रदेश में जैपनीज इन्सेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान का ऑनलाइन शुभारंभ किया। अभियान...

channel india9 hours ago

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने फाइलेरिया उन्मूलन के लिए सामूहिक दवा सेवन अभियान का किया शुभारंभ… सरगुजा और सूरजपुर जिले में 23 से 30 नवम्बर तक चलेगा अभियान

रायपुर(चैनल इंडिया)। स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत आज प्रदेश में सामूहिक दवा सेवन अभियान...

खबरे अब तक

Advertisement