कोरोना से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता की मौत,EHCC अस्पताल में ली आखरी सांसें – Channelindia News
Connect with us

corona covid 19 news

कोरोना से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता की मौत,EHCC अस्पताल में ली आखरी सांसें

Published

on


जयपुर,राजस्थान की राजधानी जयपुर से एक बड़ी खबर आ रही है, जहां कोरोना के कारण वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ हरिसिंह का निधन हो गया, हरिसिंह ने EHCC में आखिरी सांस ली है, हरिसिंह प्रदेश के कद्दावर नेताओं में से एक थे. सीएम अशोक गहलोत, पूर्व सीएम वसुंधरा राजे, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया सहित कई नेताओं ने डॉ. हरिसिंह के निधन (Death) पर गहरा शोक जताया है. डॉ. हरिसिंह के निधन से कांग्रेस (Congress) में बेबाकी के एक युग का अंत हो गया है. जिस बेबाकी और सपाट तरीके से हरिसिंह अपनी बात रखते थे उतना साहस अब के नेताओं में नहीं देखने को मिलता है.

इसे भी पढ़े   मौसम - प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की मध्यम वर्षा के साथ अधिकतम तापमान में वृद्धि होने की संभावना

 

बता दे की बेबाकी और खुलापन डॉ. हरिसिंह की खामी और खूबी दोनों रही. बेबाकी से बोलने के कारण उन्हें राजनीति में नुकसान उठाना पड़ा. और उनके चुनाव हारने के पीछे भी उनकी बेबाकी ही बाधा बन गई, लेकिन नुकसान के बावजूद अंदाज बेबाक ही रहा. डॉ. हरिसिंह जिस सपाट और तीखे अंदाज में बयान देते थे वह साफगोई आज के नेताओं में दुर्लभ है. हरिसिंह उस पुरानी पीढ़ी के नेताओं में से थे जिन्होंने अंग्रेजी राज और सामंती व्यवस्था का दौर भी देखा तो आजाद भारत में आकार लेती और फिर फलती फूलती एक नई राजनीतिक व्यवस्था के साझेदार भी बने. उन्होंने कांग्रेस और बीजेपी नेताओं की तीन- तीन पीढ़ियों के साथ काम किया. इतने अनुभवों के बावजूद हरिसिंह से बेबाकी और बागी तेवर नहीं छूटे. कांग्रेस में रहते हुए अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष को क्रमश: धनानंद और जर- खरीद गुलाम तक बता दिया था.

इसे भी पढ़े   ब्लैक स्पॉट में यातायात पुलिस ने चलाया अभियान कार्यवाही ,150 वाहन चालकों का ड्राइविंग लाइसेंस निलंबन की कार्यवाही

झुंझुनू के कैरू गांव में 6 जुलाई 1936 को जन्मे डॉ. हरिसिंह का एक लंबा और उतार- चढ़ाव भरा राजनीतिक सफर रहा है. आपातकाल के बाद हुए चुनावों में 1977 में पहली बार जनता दल से विधायक बने, भैरोसिंह शेखावत के नेतृत्व में बनी पहली गैर कांग्रेसी सरकार में डॉ. हरिसिंह जलदाय मंत्री रहे. फुलेरा से तीन बार विधायक और सीकर से एक बार सांसद रहे. 1977 से 1985, 1989 से 91 और 1993 से 1996 तक फुलेरा से विधायक रहे. 1987 से 1989 तक फुलरा पंचायत समिति के प्रधान भी रहे. 1996 में सीकर से सांसद बने. वहीं, कांग्रेस में प्रदेश महासचिव और उपाध्यक्ष रहे. पर मतभेदों के चलते 25 अक्टूबर 2011 को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था. बाद में 27 अक्टूबर 2016 को कांग्रेस में वापसी की. 2016 में घर वापसी के बाद से पार्टी में कोई पद नहीं मिला था.

इसे भी पढ़े   NEET EXAM :एग्जाम सेंटर्स में जाने से पहले कैंडिडेट्स को रखना होगा इन बातों का ख्याल
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india15 hours ago

पोष्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन 30 नवम्बर तक

रायपुर (चैनल इंडिया)। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य ने बताया है कि अनुसूचित जाति, अनसूचित जनजाति एवं अन्य...

balrampur15 hours ago

पुलिस अधीक्षक बलरामपुर द्वारा महिला संबंधी अपराधों की समीक्षा तथा गूगल स्प्रेडशीट के माध्यम से मॉनिटरिंग के संबंध में ली गई बैठक

बलरामपुर(चैनल इंडिया)। पुलिस महानिदेशक महोदय छत्तीसगढ़, पुलिस मुख्यालय रायपुर द्वारा 23 अक्टूबर को समस्त पुलिस अधीक्षकों की मीटिंग आयोजित की...

balrampur16 hours ago

कमलपुर के सचिव के ऊपर करीब 12 लाख रुपए गबन करने के आरोप पर एफआईआर दर्ज

शैलेंद्र कुमार द्विवेदी की रिपोर्ट बलरामपुर(चैनल इंडिया)। जिले के जनपद पंचायत वाड्रफनगर के ग्राम पंचायत कमलपुर के सचिव के ऊपर...

channel india16 hours ago

भाजपा की गुटबाजी और असंतोष के कारण सैकड़ो भाजपा कार्यकर्ताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ : कांग्रेस

रायपुर(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने मरवाही उपचुनाव  पर बयान जारी करते हुए कहा...

channel india17 hours ago

पांच आदिवासी किसानों ने बदली बंजर जमीन और खुद की किस्मत, आम का ऐसा उत्पादन कि थोक व्यापारी खेत से ही खरीद लेते हैं फल

रायपुर(चैनल इंडिया)। सहकारिता की भावना के साथ एक सूत्र में बंधकर आगे बढ़ने की मिसाल है जशपुर जिले का सुरेशपुर...

खबरे अब तक

Advertisement