गृहमंत्री के रिश्तेदार ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, कारण अज्ञात… – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

गृहमंत्री के रिश्तेदार ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, कारण अज्ञात…

Published

on


दुर्ग(चैनल इंडिया)। सूबे के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के रिश्तेदार ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है. उसने अपने खेत में पेड़ पर फांसी लगाकर अपनी जान दी है. मृतक पेशे से किसान था. घटना उतई थाना क्षेत्र के ग्राम मानिकचौरी का है.
जानकारी के मुताबिक मृतक का नाम कुबेर साहू (47 वर्ष) है, जो कि मानिकचौरी गांव का रहने वाला था. उसने अपने खेत में नीम के पेड़ से नायलॉन की रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली.
पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक किसान गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का रिश्तेदार था. उतई पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी है, लेकिन अब तक घटना का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है.

इसे भी पढ़े   अच्छी खबर: कोरोना से क्षतिग्रस्त हुए फेफड़े 3 महीने में खुद हो जाएंगे रिपेयर…

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING2 hours ago

अगर आपके पास भी है एक्सपायरी ड्राइविंग लाइसेंस तो घबराने की जरूरत नहीं, रिन्यू करवाने के लिए करें ये काम

अगर आप सड़कों पर वाहन चलाने के शौकीन हैं, तो आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस होना बेहद जरूरी है। आप यह...

BREAKING2 hours ago

तहसील परिसर में युवक ने सोशल मीडिया में लाइव आकार खुद को मारी गोली, पूर्व SDM पर लगाए गंभीर आरोप

मध्य प्रदेश के रायसेन में एक शख्स ने फेसबुक लाइव के दौरान खुद को गोली मार ली. इस घटना का...

BREAKING2 hours ago

टीका लगवाने के और भी हैं फायदे, ये बड़ी कंपनियां दे रही हैं शानदार ऑफर, पढ़े पूरी खबर…

वैक्सीनेशन ड्राइव को लेकर निजी कंपनियों भी उत्साहित हैं। वजह ये है कि जितनी ज्यादा संख्या में लोगों को टीका...

BREAKING2 hours ago

अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किया ब्लैकमेल, फरार आरोपी हुआ गिरफ्तार…

धरसींवा(चैनल इंडिया)|  जून माह के प्रथम सप्ताह में थाना ख़रोरा अंतर्गत ग्राम के सरपंच पति को उसका अश्लील विडीओ वायरल...

BREAKING3 hours ago

चीन सीमा से लगे उत्तराखंड के इस छोटे से गांव का कभी भी मिट सकता है नामों निशान, लोगों में दहशत का माहौल, जानिए क्यों?

हर साल उत्तराखंड में मानसून अपने साथ खतरा भी साथ लाता है. बारिश होते ही कई गांव और कस्बों में...

Advertisement
Advertisement