जरा हटके : क्या माया सभ्यता के साथ एलियंस का संबंध था? जानिए क्या है इसके पीछे का रहस्य – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

जरा हटके : क्या माया सभ्यता के साथ एलियंस का संबंध था? जानिए क्या है इसके पीछे का रहस्य

Published

on

माया सभ्यता के विषय में आप में से कई लोगों ने सुना होगा। इस रहस्यमय सभ्यता को लेकर देश दुनिया में कई दावे किए जाते हैं। कई लोगों का मानना है कि माया सभ्यता का संबंध एलियंस के साथ था। इस बात में कितनी हकीकत है और कितना फसाना आज हम उसी के बारे में जानेंगे। विश्व भर में ऐसी कई प्राचीन कलाकृतियां हैं, जिनके विषय में कहा जाता है कि उन्हें एलियंस ने बनाया था। फिर चाहे बात आप गीजा के पिरामिड की करें या स्टोनहेंज की। कॉन्सपिरेसी थ्योरिस्ट्स इन सभी कलाकृतियों का संबंध एलियंस के साथ जोड़ कर देखते हैं। इसी कड़ी में आज हम माया सभ्यता की बात करने वाले हैं। माया आर्किटेक्ट को देखने के बाद कई विशेषज्ञों का कहना है कि उनका संबंध एलियंस के साथ था। माया मंदिरों की दीवारों पर कई जगह परग्रही जीवों के चित्र अंकित हैं। इसी सिलसिले में आइए जानते हैं माया सभ्यता के रहस्य के बारे में –

माया संस्कृति में इस बात का उल्लेख मिलता है कि प्राचीन समय में स्वर्ग से कई देवता धरती पर उतरे थे। उन्होंने प्राचीन माया लोगों को एस्ट्रोनॉमी, आर्किटेक्चर और निर्माण संबंधी बहुमूल्य ज्ञान दिया था। उन्हीं में से एक देवता ने ये ऐलान किया था कि वे धरती पर दोबारा 21 दिसंबर 2012 के दिन आएंगे। विशेषज्ञों का कहना है कि ये देवता कोई और नहीं बल्कि एलियंस थे, जिन्हें माया के लोगों ने अपना ईष्ट समझा था।

माया सभ्यता पर हुई कई खोजों और रिसर्च के बाद इस बात को बल मिला है कि प्राचीन माया सभ्यता को एलियंस ने विजिट किया था। लेटिन अमेरिका की इस सभ्यता की दीवारों पर ऐसी कई कलाकृतियां अंकित हैं, जो माया और एलियंस के ताल्लुकात होने का दावा करती हैं। पाकाल का मकबरा लंबे समय से इस बात की गवाही देता आ रहा है।  पाकाल के मकबरे का चित्र देखने के बाद कई विशेषज्ञों का ये कहना है कि पाकाल एक खास तरह की उडऩतश्तरी में बैठा है, जो किसी दूसरे जगत में जाने की तैयारी कर रहा है। इसके अलावा माया सभ्यता से जुड़ी कई रहस्यमय खोजें हुई हैं, जो इस बात की गवाही देते हैं कि एलियंस के साथ माया लोगों का संपर्क था।  इस सभ्यता से जुड़ी रहस्यमय कलाकृतियों को साल 2011 में जर्मनी के सारब्रकन में आयोजित एक सम्मेलन में प्रदर्शित किया गया। इन रहस्यमय कलाकृतियों को डॉ नसीम हरामीन द्वारा प्रस्तुत किया गया था। सम्मेलन में कई ऐसी चीजों को दिखाया गया जिनमें परग्रही जीव या उनसे जुड़ी रहस्यमय चीजें अंकित थीं।

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING2 mins ago

पुलिस में कॉन्स्टेबल के 10459 पदों पर निकली वैकेंसी, ऐसे करें अप्लाई

पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए एक शानदार मौका सामने आया है. गुजरात पुलिस में 10,000...

BREAKING53 mins ago

CM बघेल ने कहा- आज उम्मीद है लखनऊ एयरपोर्ट में बैठना नहीं पड़ेगा, जशपुर की घटना पर बोले बार-बार सवाल उठाकर माहौल खराब नहीं करना चाहिए…

रायपुर(चैनल इंडिया)।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दो दिवसीय उत्तरप्रदेश दौरे के लिए रवाना हो गए है। इसके पहले उन्होंने एयरर्पोट पर मीडिया...

BREAKING1 hour ago

नगरपंचायत पांडातराई में तालाब पर अवैध प्लाटिंग करने का आरोप, कलेक्टर से हुई शिकायत

कवर्धा(चैनल इंडिया)|जिले में सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा का खेल तो चल ही रहा है लेकिन माफियाओं ने सार्वजनिक उपयोग...

BREAKING1 hour ago

सक्ती शहर के रामअवतार ट्रेडर्स में दीपावली पर्व को लेकर चलाई जा रही डबल धमाका स्कीम

सक्ती(चैनल इंडिया)|शहर के स्टेशन रोड में स्थित कपड़ों की प्रतिष्ठित दुकान रामअवतार ट्रेडर्स में दीपावली पर्व को लेकर डबल धमाका...

BREAKING1 hour ago

सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 3 नक्सली ढेर, AK-47 समेत कई हथियार बरामद

बीजापुर(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़-तेलंगाना बॉर्डर पर सोमवार की सुबह सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में सुरक्षाबलों...

Advertisement
Advertisement