सिलगेर में पुलिस कैंप का विरोध जारी, आंदोलन कर रहे 10 लोग हिरासत में... - Channelindia News
Connect with us

BREAKING

सिलगेर में पुलिस कैंप का विरोध जारी, आंदोलन कर रहे 10 लोग हिरासत में…

Published

on

छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके से मिलने जा रहे 10 आदिवासियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि इन सभी आदिवासियों को कोंडागांव में पुलिस ने पकड़ा है। जिन लोगों को पुलिस ने पकड़ा है वे सिलगेर, पुसनार, सिंगारम में चल रहे आंदोलन को लीड कर रहे थे। मूलवासी बचाओ मंच ने एक बयान जारी कर इसकी जानकारी मीडिया को दी है। हालांकि इस संबंध में पुलिस की तरफ से अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है। इधर, पुलिस कैंप के विरोध में सिलगेर में ग्रामीणों का आंदोलन अब भी जारी है।
सुकमा और बीजापुर जिले की सरहद पर स्थित सिलगेर में पुलिस कैंप के विरोध में पिछले 9 महीने से ग्रामीण तंबू गाड़ कर आंदोलन में बैठे हुए हैं। वहीं शुक्रवार को तीर-धनुष समेत पारंपरिक हथियार लेकर ग्रामीण कैंप के सामने तक पहुंच गए थे। जिन्होंने एक बार फिर कैंप के सामने जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों ने कहा कि आदिवासियों की जमीन हड़पने नहीं देंगे। साथ ही सिलगेर के कैंप को हटाने की मांग भी जारी है। राज्यपाल से मिलने जा रहे 10 ग्रामीणों को हिरासत में लेने का विरोध भी ग्रामीणों ने किया है।

ग्रामीण बोले- सड़क बनेगी तो मुश्किलें भी बढ़ेंगी
सिलगेर में आंदोलन में बैठे ग्रामीणों ने कहा कि उन्हें न तो इलाके में पुलिस कैंप चाहिए और न ही पक्की सड़कें। यदि सड़क बनती है तो उनके लिए मुश्किलें बढ़ जाएंगी। जवान उन पक्की सड़कों के माध्यम से आसानी से गांव तक पहुंचेंगे और जंगल में लकड़ी लेने या फिर शिकार पर गए ग्रामीणों का फर्जी एनकाउंटर कर दिया जाएगा। या फिर उन्हें नक्सली बताकर गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया जाएगा।

मृतकों को 1-1 करोड़ रुपए का मुआवजा देने की मांग
सिलगेर में आंदोलन में बैठे ग्रामीणों ने कहा कि पुलिस की गोलियों से 3 लोगों की और भगदड़ में एक गर्भवती महिला की मौत हुई थी। कई ग्रामीण घायल भी हुए थे। सरकार मृतकों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपए और घायलों को 50-50 लाख रुपए का मुआवजा दें। साथ ही सिलगेर में हुए गोलीकांड की न्यायिक जांच भी की जाए।

यह था सिलगेर का मामला
मई 2021 में नक्सल प्रभावित इलाके सिलगेर में नवीन पुलिस कैंप खोला गया था। यहां कैंप खुलने के दूसरे दिन ही इलाके के हजारों ग्रामीण आंदोलन में बैठ गए थे। इस बीच सुरक्षाबलों के साथ ग्रामीणों की झड़प हुई थी। ऐसे में जवानों ने फायरिंग भी खोल दी थी। जिससे गोली लगने से 3 लोगों की और भगदड़ में एक महिला की जान गई थी। पुलिस का कहना था कि, इस भीड़ में नक्सली भी मौजेद थे, जबकि ग्रामीणों ने मारे गए लोगों को निर्दोष आदिवासी बताया था।

 

Advertisement
RO No.- 11641/7

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

खबरे छत्तीसगढ़55 mins ago

पुर्व प्रधानमंत्री स्व.राजीव गांधी की कांग्रेसियों ने मनाई पुण्यतिथि

  गरियाबंद । भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्य तिथि जिला कांग्रेस भवन पर कांग्रेसियों ने मनाया...

खबरे छत्तीसगढ़1 hour ago

शिक्षा विभाग में पति के जगह पत्नी कर रही काम, शासन प्रशासन का यह कैसा काम

  डौंडी- सुनने में और विभागीय तौर पर यह बात खुलकर सामने आने लगी है कि किसी शासकीय कर्मचारी का...

खबरे छत्तीसगढ़1 hour ago

ब्रेकिंग: कारोबारी से 50 लाख लूटने वाले आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी के माना थाना क्षेत्र के देवपुरी में हुई 50 लाख की लूट मामले को पुलिस ने सुलझा लिया...

खबरे छत्तीसगढ़2 hours ago

छत्तीसगढ़ के किसानों, कृषि मजदूरों, पशुपालकों और महिला समूहों को आज 1804.50 करोड़ रूपए की मिली सौगात

रायपुर। पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर आज छत्तीसगढ़ राज्य के किसानों, भूमिहीन कृषि मजदूरों,...

खबरे छत्तीसगढ़2 hours ago

सीएम भूपेश बघेल ने किया हितग्राहियों के खातों में पैसा ट्रांसफर

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर प्रदेश के किसानों, कृषि भूमिहीन मजदूरों,...

Advertisement