महतारी वंदन योजना का फॉर्म बिक रहा 40 से 50 रुपए में, कलर फोटो कॉपी करने वालों ने मचा रखी है लूट,कोचवाही में हंगामा

महतारी वंदन योजना का फॉर्म बिक रहा 40 से 50 रुपए में, कलर फोटो कॉपी करने वालों ने मचा रखी है लूट,कोचवाही में हंगामा

बालोद से संवाददाता दीपक देवदास की रिपोर्ट

गुरुर। गुरुर ब्लॉक के कई गांव में इन दिनों महतारी वंदन योजना के आवेदन फॉर्म 40 से 50 में बेचे जाने की शिकायत प्राप्त हो रही है। जो कि यह फॉर्म पंचायत में लोगों को निशुल्क मिल जाना था, पर विभागीय लापरवाही के चलते कम संख्या में  फार्म वितरण के लिए आया है और कई जगह फार्म खत्म होने के बाद लोग इसकी कलर फोटो कॉपी करवा रहे हैं। तो वहीं कई जगह पंचायत सचिव या शिविर प्रभारी भी लोगों को यह कहते दिख रहे हैं की कलर में ही आवेदन दीजिए। हालांकि जनपद के उच्च अधिकारियों ने स्पष्ट कर दिया है की कलर या फोटोकॉपी कोई जरूरी नहीं है, जैसे भी हो आवेदन दे सकते हैं,पर इसमें सबसे बड़ी दिक्कत फॉर्म की किल्लत को लेकर आ रही है, जिसका फायदा कंप्यूटर सेंटर और कलर फोटो कॉपी दुकान के संचालक उठा रहे हैं और लोगों की जागरूकता के अभाव के चलते हुए कलर फोटोकापी के फॉर्म को 30 से 50 तक बेच रहे हैं। 
ऐसा ही एक मामला सामने आया गुरुर ब्लॉक के ग्राम कोचवाही में। जहां पर ग्रामीण 20 से 30 रुपए में कलर फोटो कॉपी करवा कर आवेदन पंचायत में दे रहे थे। इस संबंध में जब शिकायत मिली तो जनपद सदस्य प्रतिनिधि और भाजयुमो नेता अजेंद्र साहू मौके पर पहुंचे और उन्होंने व्यवस्था की जानकारी ली। ग्रामीणों ने हंगामा भी किया और पंचायत से निशुल्क फॉर्म दिलवाने की मांग की। 
पंचायत सचिव अंबिका कुंजाम ने बताया कि अधिकतर कलर में ही आवेदन लेकर आ रहे हैं। कौन इस आवेदन का कितना रुपए ले रहा है इस बारे में तो नहीं जानती लेकिन आवेदन ब्लैक एंड व्हाइट फोटोकॉपी में भी ले सकते हैं, ऐसा कुछ नहीं है। हमारे पास जो आवेदन आया था वह खत्म हो गया है इसलिए लोग कलर में कराकर अपने से ला रहे हैं।
हमने किसी को ऐसा कुछ करने के लिए नहीं कहा है। 
जनपद सदस्य संध्या  साहू ने कहा कि शासन की योजनाओं का लाभ पात्र महिलाओं को मिलना ही है। इसके लिए कलर में ही आवेदन देना कोई जरूरी नहीं है। तो वही महिलाओं को जागरुक करते हुए जनपद सदस्य ने कहा कि फॉर्म अगर नहीं मिला है तो उसकी फोटो कॉपी करा कर ब्लैक एंड वाइट कॉपी में ही आवेदन दे सकते हैं। इस तरह से अधिक रुपए खर्च करने या किसी के बहकावे में आने की जरूरत नहीं है तो वहीं उन्होंने संबंधित विभाग के अफसर को जल्द से जल्द फार्म की किल्लत दूर करने की भी मांग की।

बोडरा में 50 तक में बिक रहा फॉर्म 

जनपद उपाध्यक्ष तोषण साहू ने बताया कि उनके पास तो बोडरा के ग्रामीण ने 50 में भी फार्म खरीदने की शिकायत की है।
यह समझ नहीं आ रहा कि सरकार की योजना है आवेदन फार्म पंचायत प्रशासन को लोगों को निशुल्क देना चाहिए लेकिन यह लापरवाही ही है कि इस योजना में लोगों को पैसे देकर फार्म खरीदने पड़ रहे हैं।