केंद्र सरकार के महती योजना से ओबीसी वर्ग को मिलेगा लाभ – रूपसिंग साहू – Channelindia News
Connect with us

channel india

केंद्र सरकार के महती योजना से ओबीसी वर्ग को मिलेगा लाभ – रूपसिंग साहू

Published

on

राजिम(चैनल इंडिया)। प्रदेश साहू संघ युवा प्रकोष्ठ के रायपुर संभाग अध्यक्ष एवं सामाजिक कार्यकर्ता रूपसिंग साहू ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के 1 साल होने पर मेडिकल कॉलेजों में दाखिले में अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 27 फीसदी एवं 10 फीसदी आरक्षण गरीबों के लिए स्वागत योग्य बताया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार का ऐतिहासिक फैसला से हजारों छात्रों को लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना के माध्यम से अन्य पिछड़ा वर्ग और गरीब तबके के विद्यार्थियों को तोहफा दिया है। प्रति वर्ष ऑल इंडिया कोटा स्कीम (एआईक्यू) के तहत एमबीबीएस, एमएस, बीडीएस, एमडीएस, डेंटल मेडिकल और डिप्लोमा में 5550 कैंडीडेट्स को आरक्षण की नई व्यवस्था का फायदा मिलेगा। श्री साहू ने बताया कि ऑल इंडिया कोटा स्कीम 1986 में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के तहत शुरू की गई थी, इसका उद्देश्य दूसरा राज्य के स्टूडेंट को अन्य राज्य में आरक्षण का लाभ उठाने में सक्षम बनाना था। साल 2008 तक ऑल इंडिया कोटा स्कीम में अनुसूचित जाति के लिए 15 प्रतिशत और अनुसूचित जनजाति के लिए 75 प्रतिशत आरक्षण की शुरुआत की थी। अब इससे ओबीसी व ईडब्ल्यूएस भी शामिल हो गए है। इससे पहले मेडिकल कॉलेजों में दाखिले से जुड़े ऑल इंडिया कोटे में ओबीसी को आरक्षण नहीं दिया जा रहा था, 2019 में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए एक संवैधानिक संशोधन किया गया। इसके मुताबिक मेडिकल कॉलेज और डेंटल कॉलेज में सीट बढ़ाई गई है ताकि अनारक्षित वर्ग पर भी इसका कोई असर न पड़े। श्री साहू ने कहा कि बेशक यह केंद्र सरकार का महती योजना का फैसला है। क्योंकि आरक्षण नौकरी से अधिक जरूरी है। शिक्षा संस्थानों में सामाजिक असमानता दूर करने की दिशा में अगर हमें बढ़ना है तो पिछड़े वर्ग को अधिक से अधिक शैक्षिक अवसर देने से फायदा होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस ऐतिहासिक फैसला से इंजीनियरिंग सूचना प्रौद्योगिकी सभी तकनीक हवाई स्किल शिक्षा पाठ्यक्रमों के संस्थानों में प्रवेश के स्तर पर भी बढ़ाया जाना चाहिए। इससे शिक्षा का पूरा स्वरूप बदल जाएगा और उससे परंपरागत शिक्षा पाठ्यक्रम आउटडेटेड होगा। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के 1 साल होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो बड़े ऐलान किए हैं। पहला विद्या प्रवेश प्रोग्राम के जरिए गांव में भी बच्चे को प्ले स्कूल की सुविधा मिलेगी। दूसरा इंजीनियरिंग के कोर्स का 11 भारतीय भाषाओं में ट्रांसलेशन के लिए टूल डेवलप किया गया है। यह शैक्षिक बदलाव की दिशा में अहम कदम है। देश में हमारे समूची शैक्षिक व्यवस्था व पाठ्यक्रमों को एक राष्ट्रीय स्वरूप देना जरूरी है। नई शिक्षा नीति में 3 से 18 वर्ष की आयु वाले बच्चों के लिए 5़3़3़4 डिजाइन वाली अंतरराष्ट्रीय स्तर की शैक्षणिक संरचना अच्छी बात है।


Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

 सक्ती2 hours ago

भाजपा ग्रामीण मंडल द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय  की जयंती मनाई

सक्ती(चैनल इंडिया)| भारतीय जनता पार्टी ग्रामीण मंडल समिति द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती ग्रामीण मंडल सक्ती  के ग्राम पंचायत...

channel india2 hours ago

आबकारी विभाग की में बड़ी कार्रवाई, शराब बनाने की अवैध फैक्ट्रीं का पर्दाफाश

रायपुर(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नरदाह विधानसभा रोड स्थित अवैध शराब फैक्ट्री बनाने का राजफाश हुआ है। वहां...

channel india2 hours ago

बंगाल की खाड़ी से आने वाला है एक और बड़ा खतरा, जानिए क्या है पूरा मामला….

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने चेतावनी दी है कि बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का सिस्टम, जो...

 अंबिकापुर2 hours ago

यहाँ शख्स की हत्या कर लाश को क्रेन से लटकाया, VIDEO वायरल…

काबुल. तालिबान के सत्ता में आने के बाद अफगानिस्तान के हालात अब तेजी से बदल रहे हैं. तालिबान ने शरिया...

balod district3 hours ago

छत्तीसगढ़ के VVIP सिटी में रेवेन्यू इंस्पेक्टर के साथ लूट…

दुर्ग.(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में महिला अधिकारी के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया गया है. लूट...

Advertisement
Advertisement