सितम्बर माह में चलेगा पोषण अभियान , विभिन्न तिथियों में कार्यक्रम निर्धारित – Channelindia News
Connect with us

channel india

सितम्बर माह में चलेगा पोषण अभियान , विभिन्न तिथियों में कार्यक्रम निर्धारित

Published

on


अम्बिकापुर |  राज्य शासन द्वारा सितम्बर माह में ‘‘सही पोषण छत्तीसगढ़ रोशन’’ अभियान संचालित किया जा रहा है। इसके लिए 1 सितम्बर से ही विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। सितम्बर महीने के पहली तारीख को राज्य स्तर पर पोषण माह का शुभारंभ कर दिया गया है। इस दिन महिला एवं बाल विकास विभाग की देख-रेख में सुपोषण रथ को रवाना किया गया है। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी डिजिटल लॉचिंग कार्यक्रम में अपनी सहभागिता निभाएंगे। इस दिन यूनिसेक के सहयोग से पत्रकारिता विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के साथ संवाद करते हुए पोषण पर आधारित वेबिनार आयोजित किया गया। साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा टीएचआर वितरण के साथ लोगों को पोषण आहार के सम्बध में महत्वपूर्ण बिन्दूओं की जानकारी दी गई। 2 सितम्बर को जिला स्तर पर पोषण माह की तैयारी के लिए अंतर्विभागीय बैठक आयोजित की गई। तत्पश्चात 3 सितम्बर को अनुविभागीय अधिकारी की अध्यक्षता में विभागीय बैठक आयोजित की गई। दिनांक 4 सितम्बर को खाद्य एवं पोषाहार बोर्ड द्वारा आवश्यक प्रशिक्षण एवं प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें कार्यक्रम अधिकारी तथा जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी, जिले के समस्त परियोजना अधिकारी एवं प्रत्येक परियोजना के दो-दो पर्यवेक्षक शामिल हुए।
अगले दिन 5 सितम्बर को पंचायत में वार्डवार पोषण की स्थिति का आकलन कर कुपोषित बच्चों के चिन्हांकन का कार्य किया गया। इसी दिन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग तथा नगरीय प्रशासन विभाग के सहयोग से आवश्यक कार्यक्रम आयोजित करने के लिए विभिन्न बिन्दुओं पर विचार विमर्श किया गया। 6 सितम्बर को विभिन्न ग्रामों में संबंधित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा प्रमुख स्थानों में महत्वपूर्ण पोषण संबंधी संदेशों पर आधारित नारे लिखे गए। 7 सितम्बर को महिला एवं बाल विकास अधिकारी, क्षेत्रीय महिला प्रशिक्षण संस्थान के अधिकारी, परियोजना अधिकारी, महिला बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी पर्यवेक्षक एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ गंभीर कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन कर उनके प्रबंधन के संबंध में प्रशिक्षण आयोजित किया गया। 8 सितम्बर को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा टीएचआर वितरण के साथ लोगों को पोषण आहार के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। 9 सितम्बर को स्कूली विद्यार्थियों के सहयोग से आवश्यक कार्यक्रम आयोजित किए गए। साथ ही स्कूली विद्यार्थियों के लिए निबंध प्रतियोगिता, चित्रकारी, स्लोगन एवं रंगोली बनाए गए। 10 सितम्बर को पोषण वाटिका का निर्माण किया गया। आंगनबाड़ी स्कूल के सहयोग से पोष्टिक सब्जियों एवं फलदार पौधो का रोपण किया गया। इसमें कृषि विभाग एवं उद्यानिकी विभाग का सहयोग लिया गया। 11 सितम्बर को स्वास्थ्य विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, नगरीय प्रशासन एवं साक्षरता विभाग के समन्वित प्रयास से पोषण माह के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 12 सितम्बर को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा चिन्हांकित गंभीर कुपोषित बच्चों के समुचित देख-रेख के लिए स्वास्थ्य सेवा संबंधी कार्य योजना पर चर्चा की जाएगी। महिला बाल विकास विभाग द्वारा 13 सितम्बर को स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप डिजिटल प्लेटफार्म में कोविड-19 संबंधी निर्देशो का पालन करते हुए आवश्यक गतिविधियां आयोजित किए जाएंगे। 14 सितम्बर को महिला बाल विकास विभाग द्वारा कृषि विभाग का सहयोग लेकर पोषण संबंधी विषयों पर परिचर्चा आयोजित किए जाएंगे।
15 सितम्बर को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा विभिन्न घरों में जाकर गृह भेंट कर आवश्यक विचार विमर्श किया जाएगा। 16 सितम्बर को पंचायत एवं नगरीय निकाय के प्रतिनिधियों के साथ पोषण आहार के संबंध में चर्चा करेंगे। 17 सितम्बर को यूनिसेफ के सहयोग से पूरूषों की सहभागिता पर आवश्यक गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। 18 सितम्बर को महिला बाल विकास विभाग द्वारा पंचायत ग्रामीण विकास तथा नगरीय प्रशासन विभाग के सहयोग से पोषण स्थिति का आकलन करते हुए कुपोषण मुक्ति के लिए कार्यक्रम बनाए जाएंगे। 19 सितम्बर को पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा नगरीय प्रशासन विभाग का सहयोग लेकर गंभीर कुपोषित बच्चों के उपचार एवं देख-रेख का स्थिति का आकलन किया जाएगा। साथ ही पर्यवेक्षक एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा स्व सहायता समूह की बैठक आयोजित किए जाएंगे। 20 सितम्बर को स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप डिजिटल प्लेटफार्म बनाकर आवश्यक कार्य किए जाएंगे। 21 सितम्बर को जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला महिला बाल विकास अधिकारी, राज्य स्तरीय संसाधन केन्द्र एवं क्षेत्रीय महिला प्रशिक्षण संस्थान के अधिकारी, परियोजना अधिकारी, पर्यवेक्षक एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी पोषण अभियान संबंधी पुस्तिका तैयार करेंगे तथा उसका विमोचन करेंगे। 22 सितम्बर को स्वच्छ भारत मिशन एवं यूनिसेफ के सहयोग से पोषण के पांच सूत्रों पर स्वच्छाग्राहियों का उन्मुखीकरण के लिए मास्टर ट्रेनर परीक्षण आयोजित किया जाएगा। साथ ही इस दिन घर-घर जाकर पोषण आहार के संबंध में आवश्यक परामर्श दिया जाएगा। 23 सितम्बर को स्वास्थ्य विभाग एनआईसी के सहयोग से कृमि मुक्ति दिवस का शुभारंभ किया जाएगा। 24 सितम्बर को महिला बाल विकास विभाग द्वारा स्वास्थ्य विभाग व यूनिसेफ के सहयोग से पोषण के पांच सूत्रों पर आधारित वेबिनार आयोजित किए जाएंगे। 25 सितम्बर को महिला बाल विकास विभाग द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से किशोरी बालिकाओं, महिलाओं एवं बच्चों का एनीमिया प्रशिक्षण कर उन्हे आवश्यक सुझाव दिए जाएंगे। 26 सितम्बर को महिला बाल विकास विभाग द्वारा पंचायत ग्रामीण विकास विभाग व नगरीय प्रशासन विकास विभाग के सहयोग से पोषण पंचायत बैठक आयोजित किए जाएंगे। इस दिन स्व सहायता समूह की बैठक लेकर डायरिया प्रबंधन विषय पर चर्चा किए जाएंगे। 27 सितम्बर को स्थानीय आवश्कताओं के अनुरूप डिजिटल प्लेटफार्म तैयार कर स्थानीय स्तर पर चयनित गतिविधियां आयोजित होंगी। 28 सितम्बर को महिला बाल विकास विभाग द्वारा पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के सहयोग से ग्राम पंचायत या नगरीय निकायों की बैठक होगी जिसमें पोषण स्थिति का आकलन कर कुपोषण मुक्ति के लिए आवश्यक कार्य किए जाएंगे। 29 सितम्बर को संबंधित आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के द्वारा घर-घर जाकर टीएचआर वितरण के साथ पोषण संबंधी महत्वपूर्ण बिन्दुओं की जानकारी दी जाएगी। 30 सितम्बर को पोषण अभियान का समापन किया जाएगा।

इसे भी पढ़े   कंगना को मिली Y श्रेणी की सुरक्षा, केंद्र सरकार ने दी अनुमति... जाने Y श्रेणी सुरक्षा की खासियत...
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

balrampur4 hours ago

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय में प्रवेश के लिए तृतीय काउंसलिंग 31 अक्टूबर को

बलरामपुर 27 अक्टूबर 2020।  शैक्षणिक सत्र 2020-21 अंतर्गत बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में कक्षा 6वीं में...

balrampur4 hours ago

समय-सीमा की बैठक सम्पन्न, लंबित प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ निराकरण करने कलेक्टर का निर्देश

बलरामपुर 27 अक्टूबर 2020। कलेक्टर श्याम धावड़े ने समय-सीमा की बैठक में विभिन्न विभागों में लंबित प्रकरणों की समीक्षा की।...

ambikapur4 hours ago

वर्मी कम्पोष्ट खाद बनाने में लापरवाही पर जनपद सीईओ को कारण बताओ नोटिस, साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक सम्पन्न

अम्बिकापुर 27 अक्टूबर 2020। कलेक्टर संजीव कुमार झा ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में...

ambikapur4 hours ago

ई-मेगा कैम्प में बड़े पैमाने पर किया जाएगा प्रकरणों का निराकरण,31 अक्टूबर को होगा आयोजन

अम्बिकापुर 27 अक्टूबर 2020। जिला एवं सत्र न्यायाधीश बी.पी. वर्मा के निर्देशानुसार राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा 31 अक्टूबर को...

channel india5 hours ago

मुख्यमंत्री का निर्देश हुआ बेअसर ,पटवारी मस्त,, किसान त्रस्त

रिपोर्टर एसके द्विवेदी की रिपोर्ट बलरामपुर   | जिले के वाड्रफनगर विकासखंड में पटवारियों का दबदबा देखते ही बन रहा है...

खबरे अब तक

Advertisement