अब आपके शरीर से चार्ज हो जाएंगे फोन और स्मार्टवॉच जैसे डिवाइस, जानें कैसे – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

अब आपके शरीर से चार्ज हो जाएंगे फोन और स्मार्टवॉच जैसे डिवाइस, जानें कैसे

Published

on


नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर (NUS) के रिसर्चर्स ने ऐसी टेक्नोलॉजी को डेवलप किया है जो सिंगल डिवाइस जैसे पॉकेट में रखे मोबाइल फोन और शरीर से लगे अन्य वियरेबल डिवाइस को बिना किसी इंसान के शरीर से चार्ज किया जा सकेगा. इसके लिए इंसान के शरीर को एक पावर ट्रांसमिशन मीडियम के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा.
यह सिस्टम पूरी तरह से चार्ज एक सिंगल पावर सोर्स से शरीर पर लगे 10 वियरेबल डिवाइसेज को 10 घंटे से अधिक समय की अवधि के लिए पूरी तरह से चार्ज करने का मौका देता है. यह एक टिपिकल होम या ऑफिस एनवायरमेंट में इलेक्ट्रॉनिक्स से अनयूज्ड एनर्जी को वियरेबल्स को बिजली देने के लिए इस्तेमाल कर सकता है. इस शोध को जर्नल नेचर इलेक्ट्रॉनिक्स में पब्लिश किया गया है.

बैटरी की जरूरत को खत्म करेगी यह टेक्नोलॉजी
NUS के डिपार्टमेंट ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड कम्प्यूटर इंजीनियरिंग के एसोसिएट प्रोफेसर जेराल्ड यू ने कहा कि, ”वियरेबल डिवाइस में बैटरी सबसे महंगी चीज होती है और यह डिजाइन को बड़ा बना देते हैं. हमारे यूनिक सिस्टम में बैटरी की जरूरत को खत्म करने की क्षमता है. यह मैन्युफैक्चर्रस को गैजेट को छोटा करने के साथ प्रोडक्शन कॉस्ट को भी कम करने का मौका देगा.”
यू ने आगे कहा कि, बैटरी की बाधाओं के बिना हमारा यह नया डेवलपमेंट नेक्स्ट जेनरेशन वियरेबल जैसे ईसीजी पैच, गेमिंग एक्सेसरीज़ और रिमोट डायग्नोस्टिक्स को इनेबल कर सकता है.

ऐसे किया जाएगा सभी डिवाइसेज को चार्ज
NUS टीम ने एक रिसीवर और ट्रांसमीटर सिस्टम को डिजाइन किया है जो वायरेलस पावरिंग के लिए इंसानों के शरीर को एक पावर ट्रांसमिशन का मीडियम तौर पर और एनर्जी हार्वेस्टिंग के लिए इस्तेमाल करता है. सभी रिसीवर और ट्रांसमीटर में एक चिप दिया गया है जिसे स्प्रिंगबोर्ड की तरह इस्तेमाल किया जाता है जिससे पूरे बॉडी में कवरेज को बढ़ाया जा सके.
इसमें यूजर्स को सिर्फ ट्रांसमीटर को एक सिंगल पावर सोर्स जैसे यूजर की कलाई पर बंधे स्मार्टवॉच पर फिट किया जा सकता है और वहीं मल्टीपल रिसीवर्स को व्यक्ति के शरीर पर कहीं भी फिट किया जा सकता है. इसके बाद यह सिस्टम सोर्स से एनर्जी निकाल कर के यूजर के बॉडी पर मौजूद अन्य वियरेबल्स को चार्ज कर सकता है. इस चार्जिंग प्रक्रिया में इस्तेमाल होने वाली टेक्नीक को बॉडी-कपल्ड पावर ट्रांसमिशन कहा जाता है. इस तरीके से यूजर को सिर्फ एक ही डिवाइस को चार्ज करना होगा और अन्य डिवाइस को इसके जरिए चार्ज किया जा सकेगा.

 

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india45 mins ago

राज्य गौ सेवा आयोग के नव पदाधिकारियों का पदभार ग्रहण कार्यक्रम, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित मंत्री रविन्द्र चौबे भी हुए शामिल

जशपुर(चैनल इंडिया)|  राज्य गौ सेवा आयोग के नव पदाधिकारियों के पदभार  ग्रहण कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा...

channel india1 hour ago

कलेक्टर ने एसडीएम, लोक निर्माण विभाग राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों की ली समीक्षा बैठक

जशपुरनगर(चैनल इंडिया)|  कलेक्टर महादेव कावरे ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में अनुविभागीय दंडाधिकारी, लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों की...

BREAKING2 hours ago

शोध में खुलासा : Covid-19 महामारी में इन्फ्लूएंजा वैक्सीान दे रहा है सुरक्षा कवच, कोरोना के गंभीर प्रभावों से कर रहा बचाव

कोरोना संक्रमण से बचाव में इन्फ्लूएंजा वैक्सीन काफी असरदार साबित हो रहा है. यह बात एक शोध में सामने आई...

channel india2 hours ago

लैंसेट की स्टडी में दावा- कोरोना से ठीक होने के बाद मरीजों में 2 हफ्तों तक हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा तीन गुना ज्यादा

देशभर में कोरोना का लहर जारी है. अभी भारत में संभावित तिसरी लहर के आने की चेतावनी भी जारी की...

BREAKING2 hours ago

इन सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के प्रिंसिपलों को मिला नोटिस, जानिए क्या है वजह…

उत्तराखंड सरकार प्रदेश के स्कूलों में क्वालिटी एजुकेशन और अनुशासन के भले ही लाख दावे करे लेकिन टीचरों का रवैया...

Advertisement
Advertisement