किसानों के लिए सरसों की खेती से तेजी से बढ़ेगा उत्पादन, होगा ज्यादा मुनाफा, जाने ये बेस्ट टिप्स… – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

किसानों के लिए सरसों की खेती से तेजी से बढ़ेगा उत्पादन, होगा ज्यादा मुनाफा, जाने ये बेस्ट टिप्स…

Published

on

महाराष्ट्र में इस बार बेमौसम बारिश के कारण रबी की बुवाई में देरी हुई है. इसलिए ज्वार की बुवाई कम होने की उम्मीद हैं जबकि गेहूं की बुवाई बढ़ने की उम्मीद थी. लेकिन एक नवंबर तक राज्य में गेहूं की बुआई नहीं हुई हैं . नवंबर महीने में भी बेमौसम बारिश के कारण बुवाई में तेजी नहीं आई है.इसके अलावा किसानों ने ज्वार और गेहूं के विकल्प के रूप में अब सरसों की खेती पर जोर दिया है. हालांकि रबी सीजन में ज्वार और गेहूं मुख्य फसलें हैं लेकिन घटती दरों और कटाई में कठिनाई के कारण किसान अब सरसों का विकल्प चुन रहे हैं.साथ ही बारिश से दोहरी बुवाई का संकट झेल रहे हैं इसलिए किसान सरसों पर ध्यान दे रहे हैं.

हालांकि सरसों की बुवाई बहुत छोटे क्षेत्रों में की जाती है लेकिन इस साल तस्वीर बदल रही है.किसान गेहूं के विकल्प के रूप में सरसों की खेती पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं.क्योंकि इसकी कीमत न्यूनतम बेस प्राइस से 60 से 70 फीसदी ज्यादा है. ऐसे में किसान वैज्ञानिको की सलाह से सरसों की खेती करें तो फसल बेहतर होगी.इसके अलावा भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने भी किसानों को गेहूं और सरसों की बुवाई करने की सलाह दी है.

गेहूं की बुवाई करते समय बरती जाने वाली सावधानियां गेहूं रबी मौसम की प्रमुख फसल है.बुवाई के दौरान खेत की मिट्टी में नमी का होना जरूरी है.बुवाई से पहले हल्की खेती तभी करनी चाहिए जब खेत में नमी हो. खेत की सिंचाई करने का समय होने पर भी यह काम कर सकता है, लेकिन सूखी भूमि पर बुवाई के बाद अंकुरण नहीं होता है. मौसम को देखते हुए किसान गेहूँ की बुवाई के लिए खाली खेत तैयार करें.साथ ही उन्नत बीज एवं उर्वरक उपलब्ध कराना चाहिए. बुवाई से एक घंटे पहले बीजोपचार करना महत्वपूर्ण है. अन्यथा बीजों में फफूंद संक्रमण का खतरा होता है.किसान गेहूं की खेती में एचडी 3226, एचडी 18, एचडी 3086 और एचडी 2967 किस्मों की बुवाई करें.

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING8 hours ago

भाजपा जिला संगठन में नेतृत्व परिवर्तन होना चाहिए: संतु दास

बीजापुर(चैनल इंडिया)|भाजपा संगठन में अन्तकर्लह और बयानबाजी सोशल मीडिया में जोरो पर बढ़ता जा रहा है ठंडी के मौसम राजनीति...

BREAKING10 hours ago

ISRO दे रहा है फ्री ऑनलाइन कोर्स करने का मौका, जानिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन…

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन  छात्रों के लिए एक फ्री ऑनलाइन कोर्स की पेशकश कर रहा है. 12-दिवसीय पाठ्यक्रम ‘देहरादून स्थित...

BREAKING10 hours ago

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा- देश की अर्थव्यवस्था विकास के स्थिर पथ पर है, GDP संख्या उत्साजनक होगी…

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  ने आज की साझेदारी में शनिवार को आयोजित एचटी लीडरशिप समिट में कहा कि...

BREAKING10 hours ago

गोदावरी पावर एंड इस्पात लिमिटेड अब “ग्रेट प्लेस टू वर्क” -प्रमाणित

रायपुर(चैनल इंडिया)| गोदावरी पावर एंड इस्पात लिमिटेड (हीरा ग्रुप की इकाई ) अब “ग्रेट प्लेस टू वर्क” से प्रमाणित है।...

BREAKING10 hours ago

कमजोर पड़ा चक्रवात ‘जवाद’, छग में टला बारिश का खतरा

रायपुर(चैनल इंडिया)| समुद्री चक्रवात जवाद के रूप में मंडरा रहा खतरा टलता दिख रहा है। मौसम विभाग ने बताया है,...

Advertisement
Advertisement