सरायपाली में 16 से 20 तारीख तक लॉक डाउन के निर्णय का अनेक लोगो ने किया विरोध , बहुत से व्यापारियों ने कहा यह समस्या का समाधान नही ! नही करेंगे बन्द – Channelindia News
Connect with us

channel india

सरायपाली में 16 से 20 तारीख तक लॉक डाउन के निर्णय का अनेक लोगो ने किया विरोध , बहुत से व्यापारियों ने कहा यह समस्या का समाधान नही ! नही करेंगे बन्द

Published

on


सरायपाली | कुछ स्वयम्भू व्यापारी अपने निजी स्वार्थ के चलते कोरोना का डर दिखाकर आगामी 16 से 20 सितंबर तक सरायपाली में लॉक डाउन का निर्णय लिया है जिसका अनेक व्यापारियों ने सख्त विरोध करते हुवे बंद में शामिल न होकर अपना व्यवसाय पूर्व की भांति चालू रखने की बात कही है । अनेक व्यापारियों ने कहा कि और अब व्यवसाय को बंद किये जाने की स्थिति में व्यवसायी नही है । काफी नुकसान उन्हें उठाना पड़ चुका है फिर लॉक डाउन कोरोना को रोकने का आज की स्थिति में उपाय नही है । सतर्कता व सावधानी ही जरूरी है ।। महासमुंद जिले के प्रमुख व्यवसायिक नगर सरायपाली मे फिर से एक बार लॉकडाउन कराने की फिराक में कतिपय लोगों के द्वारा सक्रियता दिखाने और एसडीएम के नाम एक पत्र के सोशलमीडिया मे वायरल होने के बाद व्यापार व्यवसाय को पटरी पर लाने की कवायद में जुटे लघु और कुटीर उद्योग से जुड़े व्यवसायी के साथ साथ रोजीरोटी के लिए छोटे छोटे कारोबार करनेवाले लोंगो को चिंता में डाल दिया है। लगातार लॉकडाउन के बाद लघु और मध्यमवर्गीय उद्यमी का कारोबार चौपट होने के कगार पर पंहुच चुका है इस बीच कोरोना की आड़ में कतिपय बडे कारोबारियों की ओर से लॉकडाउन करने की मांग पर आधारित एसडीएम के नाम का कथित ज्ञापन पत्र सोशल मीडिया मे वायरल होने के बाद लोगों मे जहां आक्रोश फैल रहा है वहीं दूसरी ओर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया भी व्यक्त की है।

इसे भी पढ़े   जब एक शख्स ने सोनू सूद से मांगा विधानसभा का टिकट,तो उन्होंने कहा-बस, ट्रेन और प्लेन की टिकट….

कतिपय लोगों द्वारा लॉकडाउन की मांग के सुगबुगाहट के बीच नगरपालिका सरायपाली के सभापति हरदीपसिंह रैना ने कहा है कि “लॉकडाउन किसी भी समस्या का हल नहीं है वर्तमान समय में सिर्फ बचाव के द्वारा ही हम कोरोनावायरस से लड़ सकते हैं क्योंकि लॉक डाउन करने से कोरोना वायरस खत्म होता तो 6 महीने से लॉक डाउन में करोना वायरस भारत से गायब हो चुका होता है यह बात देर से ही सही लेकिन राज्य एवं केंद्र सरकार दोनों को समझ में आ चुकी है इसी कारण सरकारों ने बाजार को खोलने का निर्णय दिया है 6 महीने से ठप पड़े व्यापार को जिंदा करने में लगे व्यापारियों पर अपनी सुविधा अनुसार लॉकडाउन थोपा जाना ना सिर्फ उन व्यापारियों के साथ बल्कि उनके यहां काम करने वाले उन कर्मचारियों के साथ भी अन्याय होगा। मैं व्यक्तिगत तौर पर लॉक डाउन का विरोध करता हूं।”

इसे भी पढ़े   दूसरे राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के मजदूरों के घर वापसी के लिए मोदी सरकार स्पेशल ट्रेन शुरू करे-कांग्रेस

नगर के प्रतिष्ठित और वरिष्ठ व्यवसायी मदनलाल अग्रवाल ने बताया कि शासन की ओर से यदि महामारी रोकथाम के लिए सम्पूर्ण लाकडाउन जिसमें बैंक, शराब दुकान, सरकारी स्कूल दफ्तर आदि बंद होता है तो लाकडाउन का पालन करना चाहिए नहीं तो कुछ ब्यवसाइयों के लाकडाउन करने से कोई फायदा नहीं हो सकता, उन्होंने कहा कि वर्तमान में लाकडाउन कोई समाधान नहीं है बल्कि सोशल डिस्टेंस और सावधानी बरतना ज्यादा जरूरी है।

नागरिक एकता समिति के अध्यक्ष अमित आहूजा का कहना है कि वर्तमान समय में लोगों की अर्थव्यवस्था डगमगाने लगी है ऐसे हालात में फिर से लाकडाउन होने पर कई तरह की समस्याएं लोगों के सामने आ सकती है। अच्छा होगा कि लाकडाउन की बजाय सरकारी गाईड लाईन का पालन करते हुए सोशलडिस्टेंस और मास्क का उपयोग कर अपना बचाव करें। उनका मानना था कि जबतक शासन महसूस न करे तब तक लाकडाउन न किया जावे इससे लोगों मिल रही थोडी बहुत राहत भी समाप्त हो जाऐगी।

इसे भी पढ़े   अब देह व्यापार अपराध नहीं,मुंबई हाईकोर्ट का बड़ा फैसला,कहा पेशा चुनने का अधिकार हर महिला को

कम्प्यूटर और फोटो स्टूडियो युनियन के अध्यक्ष कैलाश अग्रवाल ने बताया कि लाकडाउन समस्या का समाधान नहीं है। लोग क्यों लाकडाउन के पीछे पडे है यह समझ से परे है। शासन के निर्देश पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि सरकारी निर्देश को अमल मे लाने की बजाय अपनी मांग को सभी पर थोपा जाना कदापि उचित नहीं है।
आप इस खबर पर अपने कमेन्टस दे सकते है, इसे शेयर करें व हमारे वाटस् एप्प ग्रुप को ज्वाइन करे।

 

मानवाधिकार कार्यकर्ता रूबी ठाकुर ने कहा कि फिर से लाकडाउन किऐ जाने से एक बार फिर से कालाबाजारी बढेगी, लोग रोजमर्रा की जरुरतों के लिए भटकने को मजबूर होंगें। कोरोना की रोकथाम के लिए सरकारी गाईड लाईन जारी की गई है यदि लोग उसका पालन करें तो किसी लाकडाउन की जरूरत नहीं होगी.बडे लोग लाकडाउन की मांग करते हैं लेकिन छोटे लोग इससे प्रभावित होते हैं, कारोबार ब्यवस्था पहले से चौपट है ऐसे में फिर से लाकडाउन होने पर छोटे कारोबारियों की गृहस्थी ही ध्वस्त हो जाऐगी। उन्होंने लाकडाउन की मांग का कडा विरोध जताया है।

Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india8 hours ago

पोष्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन 30 नवम्बर तक

रायपुर (चैनल इंडिया)। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य ने बताया है कि अनुसूचित जाति, अनसूचित जनजाति एवं अन्य...

balrampur8 hours ago

पुलिस अधीक्षक बलरामपुर द्वारा महिला संबंधी अपराधों की समीक्षा तथा गूगल स्प्रेडशीट के माध्यम से मॉनिटरिंग के संबंध में ली गई बैठक

बलरामपुर(चैनल इंडिया)। पुलिस महानिदेशक महोदय छत्तीसगढ़, पुलिस मुख्यालय रायपुर द्वारा 23 अक्टूबर को समस्त पुलिस अधीक्षकों की मीटिंग आयोजित की...

balrampur8 hours ago

कमलपुर के सचिव के ऊपर करीब 12 लाख रुपए गबन करने के आरोप पर एफआईआर दर्ज

शैलेंद्र कुमार द्विवेदी की रिपोर्ट बलरामपुर(चैनल इंडिया)। जिले के जनपद पंचायत वाड्रफनगर के ग्राम पंचायत कमलपुर के सचिव के ऊपर...

channel india9 hours ago

भाजपा की गुटबाजी और असंतोष के कारण सैकड़ो भाजपा कार्यकर्ताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ : कांग्रेस

रायपुर(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने मरवाही उपचुनाव  पर बयान जारी करते हुए कहा...

channel india9 hours ago

पांच आदिवासी किसानों ने बदली बंजर जमीन और खुद की किस्मत, आम का ऐसा उत्पादन कि थोक व्यापारी खेत से ही खरीद लेते हैं फल

रायपुर(चैनल इंडिया)। सहकारिता की भावना के साथ एक सूत्र में बंधकर आगे बढ़ने की मिसाल है जशपुर जिले का सुरेशपुर...

खबरे अब तक

Advertisement