आभा ऐप के क्यूआर कोड से करवा सकते हैं पंजीयन

आभा ऐप के क्यूआर कोड से करवा सकते हैं पंजीयन

महारानी अस्पताल में ओपीडी पर्ची के लिए अब लाइन लगाने की आवश्यकता नहीं

जगदलपुर  आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन यथा आभा के अंतर्गत जिला चिकित्सालय महारानी अस्पताल जगदलपुर में मरीजों को ओपीडी पर्ची के लिए अब लाइन लगाने की आवश्यकता नहीं होगी। मरीज या परिजन घर बैठे ही मोबाइल ऐप आभा के माध्यम से अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं या इसके लिए उक्त ऐप के क्यूआर कोड का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा मोबाइल ऐप आभा क्यूआर कोड का उपयोग मरीज या परिजन अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इस ऐप में मरीज का एक आभा कार्ड बनेगा जिसमें यूजर्स को एक 14 डिजिट का कार्ड नंबर मिलेगा। जिसमें मरीज के हेल्थ डायग्नोस्टिक व दवाई की पूरी जानकारी भी होगी। इससे देश में कहीं पर भी किसी भी डॉक्टर द्वारा मरीज की पूरी हेल्थ हिस्ट्री जानने में सहूलियत होगी। स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्रों के सुदृढ़ीकरण और आयुष्मान भारत डिजिटल हेल्थ मिशन यथा आभा के तहत इस ऐप के उपयोग के लिए निर्देश दिये गये हैं। इसके तहत यूजर्स को स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। इसके तहत कोई भी व्यक्ति आभा एप पर अपना आभा कार्ड बनवा सकते हैं। इसमें पंजीयन के लिए मरीज या परिजन को आभा ऐप या जिला चिकित्सालय महारानी अस्पताल जगदलपुर के ऐप का क्यूआर कोड का इस्तेमाल करना होगा। आसान है आभा ऐप का उपयोग करना


ऐसे करना होगा रजिस्ट्रेशन


          जिला अस्पताल जगदलपुर के सिविल सर्जन डॉ. संजय प्रसाद ने इस बारे में बताया कि आभा ऐप का उपयोग कोई भी स्मार्ट मोबाईल धारक कर सकता है। ऐप या क्यूआर कोड के माध्यम से रजिस्टर्ड ऑप्शन में जाकर अपना मोबाइल नंबर और आधार कार्ड नंबर दर्ज कर रजिस्टर्ड करें। इसके बाद ओटीपी सत्यापन होगा और उपयोगकर्ता को अपना नाम, लिंग, जन्मतिथि, मोबाइल नम्बर व ईमेल का विवरण अपने मोबाइल पर स्वयं दर्ज करना होगा। इस ऐप से संबंधित क्यूआर कोड जिला चिकित्सालय महारानी अस्पताल जगदलपुर में चस्पा किया गया है एवं एक बार रजिस्ट्रेशन होने के पश्चात पुनः चिकित्सालय में फॉलोअप आने पर स्वयं अपना रजिस्ट्रेशन आभा नंबर के माध्यम से कर सकते हैं। इससे चिकित्सालय के ओपीडी के कतार में खड़े होने की आवश्यकता नहीं होगी। चिकित्सालय में इलाज हेतु आये श्री सुरेश उम्र 31 वर्ष के द्वारा बताया गया कि वे स्वयं अपने मोबाईल से आभा एप का उपयोग कर अपना डिजिटल ओपीडी पर्ची जनरेट कर सके एवं समय की बचत कर अनावश्यक लाईन में खड़े होने से राहत मिली।  यह काफी सुविधाजनक है और अब इसी ऐप के जरिये यहां पर पंजीयन करवाकर अपनी चिकित्सा जांच एवं उपचार करवाएंगे।