लॉक डाउन ने गरीब मजदूरों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है : मोहन मरकाम - Channelindia News
Connect with us

channel india

लॉक डाउन ने गरीब मजदूरों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है : मोहन मरकाम

Published

on

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने सभी मजदूर साथियों को मजदूर दिवस की दी बधाई

छत्तीसगढ़ सरकार कांग्रेस पार्टीऔर छत्तीसगढ़ का जन जन मजदूरों के साथ है

करोना महामारी और लॉक डाउन के कारण छत्तीसगढ़ से बाहर गए प्रवासी मजदूर रोजी रोजगार के संकट अपने पास की गाढ़ी पूंजी समाप्त हो जाने और खाने रहने और चिकित्सा की कठिनाइयों से जूझ रहे हैं

करोना संक्रमण की विकट स्थिति के बावजूद छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार मजदूरों के साथ खड़ी है और उनके लिए काम कर रही है

रायपुर | विश्व मजदूर दिवस 1 मई को सभी मजदूर साथियों को बधाई देते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि आज करोना संक्रमण की विकट स्थिति के बावजूद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार मजदूरों के साथ खड़ी है और उनके लिए काम कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि करोना एक संक्रामक बीमारी है। विश्व की वर्तमान स्थिति देश की स्थिति और देश के अनेक राज्यों की स्थिति भयावह है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार ने देश से पहले करोना पर नियंत्रण का काम जन जन के सहयोग से किया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी के लोग मोर्चा संगठनों के लोग सरकार के कंधे से कंधा मिलाकर जन-जन की और खासकर गरीब मजदूर अशक्त जन की मदद करने में लगे हुए है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि शुरू में रायपुर दुर्ग राजनांदगांव कोरबा जैसे बड़े शहरों में करोना संक्रमण के मामले सामने आए । सरकार ने प्रशासन ने पुलिस ने और स्वास्थ्य विभाग ने तत्काल प्रभावी नियंत्रण किया और आज यह बड़े महानगर करोना के संक्रमण से मुक्त हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि कोरबा जिले में कटघोरा में करोना संक्रमण ने तेजी से फैलना शुरू किया था। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा उठाए गए प्रभावी और कड़े कदमों के बाद प्रशासन पुलिस स्वास्थ्य विभाग ने करोना पर कटघोरा में प्रभावी अंकुश लगाने में सफलता प्राप्त की अब कोरबा जिला और कटघोरा संक्रमण से मुक्त हो चुका है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि एक चिकित्सा अधिकारी करोना संक्रमित मरीजों का इलाज करते हुए खुद संक्रमण का शिकार हो गया। झारखंड के प्रवासी मजदूर सूरजपुर में क्वेरेंटाइम किए गए थे उनमें से तीन करोना संक्रमण से प्रभावित पाए गए हैं और उनका भी इलाज चल रहा है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के हर व्यक्ति की चिंता छत्तीसगढ़ सरकार को और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को है । गरीब मजदूर असहाय निशक्त जंगलों में रहने वाले रोज कमाने रोज खाने वाले लोग कांग्रेस की प्राथमिकता में है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि लॉक डाउन ने गरीब मजदूरों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है।

लॉक डाउन के बावजूद छत्तीसगढ़ में गरीबों के लिए मजदूरों के लिए जंगल में वनोपज इकट्ठा करने वालों के लिए सरकार लगातार काम कर रही है।

जंगल में वनोपज संग्रहण करने वालों का ध्यान छत्तीसगढ़ सरकार ने रखा है। ट्रायफेड Tribal Cooperative Marketing Development Federation of India द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ में अभी तक 18 करोड़ 63 लाख से अधिक मूल्य की लघु वनोपज की खरीद की जा चुकी है। यह पैसा सीधे-सीधे आदिवासियों और गांव में जंगल म्रइन हने वालों के पास पहुंचा है।

देश में अभी तक कुल 18 करोड़ 67 लाख 26 हजार रुपए की लघु वनोपज की खरीद की गई है।

झारखंड में ₹3 लाख 39 हजारऔर उड़ीसा में ₹5 हजार की लघु वनोपज की खरीद की गई है।

लघु वनोपज की खरीद का यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है।

वनोपज संग्रहण के इस सीजन में 1 लाख 32 हजार 272 संग्राहकों से 21 करोड़ रुपये की लघु वनोपज का संग्रहण किया जा चुका है करोना लॉक डाउन के कारण संकट की इस घड़ी में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा लघु वनोपज की समर्थन मूल्य पर खरीदी और नगद भुगतान से जंगलों में रहने वाले आदिवासियों और ग्रामीणों को राहत मिली है। वनोपज के संग्रहण के काम के कारण खासकर आदिवासी इलाकों में रहने वालों के लिए रोजगार के अवसर बढ़ गए हैं।

छत्तीसगढ़ सरकार ने लगातार छत्तीसगढ़ में मनरेगा के काम खोले जाने के लिए राशि जारी करने की बात कहीं लेकिन केंद्र सरकार ने नए काम खोलने की बात तो दूर पुरानी बजाय राशि भी नहीं जारी की। पुराने बकाया में से और नए कामों के लिए कुछ राशि जारी की गई है जिसका छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और ग्रामीण विकास मंत्री टी एस सिंह देव की देखरेख में लगातार समुचित उपयोग किया जा रहा है और वर्तमान में छत्तीसगढ़ देश में कुल मजदूरों की संख्या के 24% अर्थात 1850000 मजदूरों को प्रतिदिन काम देकर देश का अग्रणी राज्य बन गया है।

छत्तीसगढ़ के बाद झारखंड और उत्तर प्रदेश जैसे राज्य हैं यहां छत्तीसगढ़ से आधे मजदूरों को भी काम नहीं दिया जा सका।

लेकिन जो मजदूर कमाने खाने चले गए वह करोना संकट के बाद लाक डाउन में बुरी तरह से फस गए हैं। भारतीय रेल देश की जीवन रेखा है।जिस तरह से पहले ट्रेनें बंद की गई और उसके बाद लॉक डाउन किया गया उससे मजदूर बहुत कठिनाई में हैं। करोना महामारी और लॉक डाउन के कारण छत्तीसगढ़ से बाहर गए प्रवासी मजदूर रोजी रोजगार के संकट अपने पास की गाढ़ी पूंजी समाप्त हो जाने और खाने रहने और चिकित्सा की कठिनाइयों से जूझ रहे हैं। काम धंधा भी बंद हो चुका है और खर्चे बदस्तूर जारी है। मजदूरों को परेशानियां उठानी पड़ रही है।

छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने प्रवासी मजदूरों की तकलीफों को दूर करने के लिए एक हेल्प डेस्क का गठन किया जहां से उनको संबंधित राज्य सरकारों के माध्यम से स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से मदद पहुंचाई जा रही है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि प्रवासी मजदूरों की संख्या को देखते हुए यह बहुत बड़ा काम है और इस काम में छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारी लगातार लगे हुए है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि अब जब बाहर काम धंधा भी बंद हो गया है और मजदूरों की पूंजी भी खत्म हो गई है और खाने रहने और चिकित्सा की परेशानियां हो रही हैं और छत्तीसगढ़ में खेती-किसानी का समय भी नजदीक है इसे देखते हुए इन लाखों मजदूरों को जम्मू कश्मीर से लेकर तमिलनाडु तक जो फसे हुए हैं वापस लाना इन्हें क्वॉरेंटाइन करना और इन्हें इनके गांव तक सुरक्षित पहुंचाना बहुत बड़ी आवश्यकता है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ साथ AICC के छत्तीसगढ़ प्रभारी श्री पी एल पुनिया और छत्तीसगढ़ के सभी 5 कांग्रेस सांसदों 2 लोकसभा और 3 राज्यसभा सदस्यों ने छत्तीसगढ़ से कमाने खाने बाहर गये प्रवासी मजदूरों की समस्या को न केवल महसूस किया है बल्कि इसके लिए प्रभावी पहल भी की है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीडियो कांफ्रेंसिंग पर चर्चा में इन मजदूरों की समस्या को सामने रखा है और इनके लिए विशेष ट्रेन चला कर इन्हें राज्य में वापस लाने की बात की है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि कोटा में पढ़ने वाले 29 छात्र अपने संसाधनों से छत्तीसगढ़ की सीमा पर पहुंच गए थे और इन सभी छात्रों को क्वेरेंटाइन करने के बाद करोना मुक्त पाए जाने के बाद उनके परिवार जनों को सौंप दिया गया है। छत्तीसगढ़ सरकार ने केंद्र सरकार के समक्ष पहल करके अपने संसाधनों से पूरी चिकित्सा व्यवस्था के साथ 100 बसें भेज कर कोटा से 2000 से अधिक छात्रों को लाकर छत्तीसगढ़ में क्वेरेन्टाइन किया है और 14 दिन की अवधि बीत जाने के बाद समिति यहां करके इन बच्चों को उनके पालकों को सौंप दिया जायेगा। यह क्रम अभी भी जारी है और कुछ बसें कोटा से छात्रों को लेकर छत्तीसगढ़ के रास्ते में है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि करोना के कारण लाकडाउन में फंसे छत्तीसगढ़ के अन्य छात्र और मजदूर छत्तीसगढ़ सरकार की प्राथमिकता में है और उनके लिए लगातार पहल की जा रही है।

Advertisment

CG Trending News

खबरे छत्तीसगढ़2 weeks ago

चिटफंड कंपनी साईं सुंदरम मालव परिवार स्टेट लिमि. के डायरेक्टर आरोपी संदीप राठौर को गिरफ्तार करने में मिली सफलता

  ● *आरोपी डायरेक्टर संदीप राठौर को भोपाल मध्य प्रदेश से किया गया गिरफ्तार* ● *थाना भाटापारा शहर पुलिस टीम...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

थाना पलारी पुलिस द्वारा 02 शातिर मोटरसाइकिल चोर को किया गया गिरफ्तार

● आरोपियों के कब्जे से 01 मोटर सायकल किया गया बरामद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय श्री दीपक कुमार झा द्वारा...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

सट्टा पट्टी व एक डाट पेन एवं नगदी रकम 1230 रूपयें के साथ 01 आरोपी चढा सिमगा पुलिस के हत्थे

प्रेस विज्ञप्ति दिनांक 16.06.2022 थाना सिमगा आरोपी से एक सफेद कागज में विभिन्न अंको का लिखा हुआ सट्टा पट्टी व...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

जिला बलौदाबाजार-भाटापारा पुलिस द्वारा अवैध रूप से शराब बिक्री करने वाले कोचियों की धरपकड़ लगातार जारी

● साइबर सेल ने कार्यवाही कर मोटरसाइकिल से शराब का परिवहन करते हुए 02 आरोपियों को किया गिरफ्तार ● आरोपियों...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

सढौली चिखली कुरूभाठा हाईस्कूल में मनाया शाला प्रवेशोत्सव

  आज देश-विदेश में भी हमारे सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी अपना परचम लहरा रहे हैं : सफीक गरियाबंद । शासन...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में पहुंचा पैसा, सीएम भूपेश बघेल ने किया ट्रांसफर

रायपुर। मुख्यमंत्री भपेश बघेल ने वर्ष 2020 में हुए तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य के लिए 432 समितियों के 4 लाख 72...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

डीजल और पेट्रोल की भारी किल्लत, लोग परेशान

जगदलपुर। शहर में डीजल पेट्रोल की भारी किल्लत हो गई। लोग डीजल भराने पम्प जा रहे है लेकिन बिना डीजल...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

सरायपाली के मोहन्दा स्कूल के 9 छात्राओं का चयन महासमुंद जिले में सर्वाधिक चयन मोहदा स्कूल

  सरायपाली :— राष्ट्रीय प्रवीण सह छात्रवृत्ति परीक्षा में चयनित हुए 9 छात्राएं मिडिल स्कूल मोहदा संकुल बोदा से हुआ...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

सरायपाली के संकुल केंद्र बोन्दा में प्रवेशोत्सव के दौरान अनेक कार्यक्रम आयोजित सरायपाली

सरायपाली के संकुल केंद्र बोन्दा में प्रवेशोत्सव के दौरान अनेक कार्यक्रम आयोजित सरायपाली :— संकुल बोदा के अंतर्गत प्राथमिक और...

खबरे छत्तीसगढ़3 weeks ago

सरायपाली के ग्राम केना के शासकीय विद्यालय में निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण व शाला प्रवेशोत्सव मनाया गया

सरायपाली :– शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय केना, वि. ख. सरायपाली में “शाला प्रवेशोत्सव – 2022” एवं “नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण कार्यक्रम”...