जानिए मंगल ग्रह की मिट्टी के नमूने पाने के पहले प्रयास में क्यों नाकाम हुआ NASA का रोवर – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

जानिए मंगल ग्रह की मिट्टी के नमूने पाने के पहले प्रयास में क्यों नाकाम हुआ NASA का रोवर

Published

on

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA) ने एक साल पहले मंगल ग्रह (Mars) के लिए अपना खास रोवर प्रक्षेपित किया था. पर्सिवियरेंस रोवर (Perseverance Rover) के इस अभूतपूर्व अभियान को बहुत सारे ऐसे प्रयोगों के लिए तैयार किया गया था जिससे मंगल पर मानव के लंबे समय तक रहने की अनुकूल परिस्थितियां तैयार करने में मदद मिल सके. लेकिन इसके अलावा इस अभियान का एक और प्रमुख उद्देश्य था. इसमें पर्सिवियरेंस को मंगल ग्रह की मिट्टी के नमूने भी जमा करने थे जिन्हें पृथ्वी पर लाने के अभियान पर भी काम जारी है. पर्सिवियरेंस का नमूने लेने का पहला प्रयास नाकाम रहा. इसकी वजह भी अनोखी ही पता चली है.

पहला प्रयास
पर्सिवियरेंस ने हाल ही में मंगल की सतह पर खुदाई भी करना शुरू कर दी थी. लेकिन वह मंगल की मिट्टी और पत्थरों के नमूने जमा करने के अपने पहले प्रयास में ही नाकाम रहा है. ये नमूने पृथ्वी पर वैज्ञानिकों के लिए बहुत ही उपयोगी सिद्ध हो सकते हैं जिनका विश्लेषण कर मंगल ग्रह के बारे में बहुत सारी प्रमाणिक जानकारी मिल सकेगी.

नली में नहीं पहुंच सके पदार्थ
इसी साल फरवरी के महीने में मंगल के जजीरो क्रेटर पर उतरे पर्सिवियरेंस की इस कवायद में योजना के मुताबिक नहीं सफलता हासिल नहीं हो सकी. नासा ने शुक्रवार को ही पहले नमूनों को हासिल करने के लिए खुदाई का काम शुरू किया, लेकिन पर्सिवियरेंस से आए संकेतों से पता चला है कि नमूने वाली नली में किसी भी तरह की धूल या चट्टान नहीं पहुंच सकी.

नासा की तस्वीर
नासा ने शुक्रवार को ही छेद वाले एक छोटे टीले की तस्वीरें जारी की है जो रोवर के पास की हैं. यह लाल ग्रह पर रोबोट से खोदा गया पहला गड्ढा है. नासा के साइंस मिशन डायरेक्टरेट के एसोसिएट प्रशासक थॉमस जुर्बुकेन ने बताया कि उनकी टीम को उस छेद की तलाश नहीं थी और नई जमीन को तोड़ना हमेशा ही जोखिम भरा होता है.

यह है उम्मीद
जुर्बुकेन ने विश्वास व्यक्त किया कि नासा के पास इस काम के लिए सही टीम हैं और वह इस समस्या से निपटने के लिए भरसक प्रयास करेंगे. नमूने जमा करने की प्रक्रिया के लिए खुदाई करना पहला कदम है. इसमें करीब 11 दिन का समय लगता है. इस प्रक्रिया का उद्देश्य मंगल ग्रह पर पुरातन सूक्ष्मजदीवन के संकेतों का पता लगाना है जो पुरानी झीलों के निक्षेपों में संरक्षित हो गए होंगे.

कम से कम 20 ट्यूब भरी जाएंगी
वैज्ञानिकों का मानना है कि इस क्रेटर में 3.5 अरब साल पुरानी झील के अवशेष मौजूद हैं जहां उस समय पृथ्वी के बाहर के जीवन के अनुकूल हालात होने की उम्मीद है. पर्सिवियरेंस के साथ 43 नमूना नलियां भेजी गई हैं और इस अभियान में कम से कम 20 नलियों को भरने की उम्मीद की जा रही है. मंगल की सतह पर खुदाई करने वाली भुजा करीब 2.1 मीटर लंबी है.

मिट्टी पहले भी कर चुकी है असामान्य बर्ताव
मंगल ग्रह की सतह की चट्टाने और जमीन असामान्य बर्ताव दिखा रही हैं. इससे पहले भी क्यूरियोसिटी रोवर को मंगल की सतह पर खुदाई करने में परेशानी हुई थी. वही नासा के इनसाइट लैंडर भी अपनी योजनाओं के अनुसार खुदाई नहीं कर सका था जहां धूल तो थी लेकिन वह कुछ चिपकने वाले गुणों के साथ थी जिसकी हमारे वैज्ञानिकों को आशा नहीं थी. इन अनुभवों को देखते हुए नासा के वैज्ञानिक पर्सिवियरेंस के अनुभव पर हैरान नहीं हुए हैं.
नासा का मकसद मंगल से करीब 30 नमूनों को पृथ्वी तक साल 2030 तक लाना है. इन नमूनों का कई ऐसे उपकरणों से विश्लेषण किया जाएगा जो उन्हें लाने वाले उपकरणों से कहीं ज्यादा उन्नत होंगे. नासा की अगले दशक में मंगल पर मानव अभियान भेजने की योजना है.


Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

 अंबिकापुर15 mins ago

पेट्रोल के लिए आपको क्यों चुकानी पड़ रही ज्यादा कीमत, सरकार ने बताई ये बड़ी वजह..

नई दिल्ली. पेट्रोल के दाम पिछले 18 दिनों से लगातार स्थिर है. के मुताबिक, देश की राजधानी दिल्ली में एक...

channel india24 mins ago

India में लॉन्च हुई Ducati Monster बाइक , फीचर्स और कीमत जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर…

2021 डुकाटी मॉन्स्टर (Ducati Monster) को भारत में लॉन्च कर दिया गया है, जिसकी कीमतें स्टैंडर्ड वेरिएंट के लिए 10.99...

BREAKING38 mins ago

कोल ब्लॉक नीलामी के लिए दबाव बना रहा केंद्र सरकार : मंत्री रविंद्र चौबे

रायपुर(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने सीएम भूपेश बघेल के दिल्ली दौरे को लेकर बड़ी जानकारी दी...

BREAKING60 mins ago

बदमाशों के हौसले बुलंद, 3 दिनों में चाकूबाजी की तीसरी बड़ी वारदात, 4 आरोपी गिरफ्तार…

रायपुर(चैनल इंडिया)। राजधानी रायपुर में चाकूबाजी की वारदातें अब आम हो गई हैं. बेखौफ बदमाश रोजाना बेधड़क होकर लोगों को...

 सक्ती1 hour ago

अमलडीहा  में निःशुल्क चिकित्सा एवं आयुष मेला सम्पन्न

सक्ती(चैनल इंडिया)|  छत्तीसगढ़ शासन आयुष विभाग द्वारा आज अमलडीहा (सक्ती) में आयुष मेला तथा नि:शुल्क चिकित्सा व दवा वितरण का...

Advertisement
Advertisement