खबरे अब तक

channel indiaCHANNEL INDIA NEWSखबरे छत्तीसगढ़

जाने क्या होता है PF की प्रक्रिया,कैसे मिलता है इसका लाभ  



PF [Employees Provident Fund] है, जो कि Private कंपनी में कार्यरत् कर्मचारीयों के लिये होता है,जो उसे उसके भविष्य में सहायक होता है|यह फंड EPFO द्वारा पोषित (Maintain) किया जाता है | |इसके तहत तनख्वाह पाने वाले व्यक्ति की तनख्वाह का कुछ भाग हर महीने PF में जमा होता है | और यह पैसा व्यक्ति के पास काम न होने पर, और Retirement के समय काम आता है |अब आप समझ गए होंगे कि “पीएफ क्या है?”दरअसल, काफी लोग नौकरी छोड़ने के बाद अकसर अपने एम्‍प्‍लॉय प्रॉविडेंट फंड (EPF) को ट्रांसफर करना भूल जाते हैं. आइए जानते हैं कि नौकरी छोड़ने के बाद आपके पीएफ अकाउंट (PF Account) और उसमें जमा रकम का क्‍या होता है.

इसे भी पढ़े   Gold Price Today: स्थिर नहीं सोना-चांदी का भाव, फिर हुआ बड़ा बदलाव, जानिए नई कीमत

 

बता दे नौकरी छोड़ने वाले ज्‍यादातर लोग संतुष्ट रहते हैं कि अगर वे अपने पीएफ अकाउंट में निवेश नहीं कर रहे हैं तो भी ब्याज मिलने से उनकी जमा रकम बढ़ रही है. तो आपका यह जान लेना जरूरी है कि पहले 36 महीने तक कोई कॉन्ट्रिब्यूशन नहीं होने पर कर्मचारी का पीएफ अकाउंट निष्क्रिय खाते की श्रेणी में डाल दिया जाता था. ऐसे में आपको अपना खाता एक्टिव रखने के लिए कुछ रकम तीन साल से पहले निकालनी होगी.

इसे भी पढ़े   पाकिस्तान ने भारतीय मीडिया सामग्री के लिए ऑनलाइन भुगतान पर लगाया रोक

पीएफ से पैसा निकालना भी अब पहले की तुलना में काफी आसान हो गया है. खास परिस्थितियों में आप आसानी से तय सीमा तक रकम निकाल सकते हैं. मकान खरीदने, बनाने, मकान की रीपेमेंट, बीमारी, उच्च शिक्षा, शादी आदि के लिए पैसे की जरूरत होती है. ऐसी जरूरतों के लिए आप अपनी जमा राशि की 90 फीसदी तक रकम निकाल सकते हैं.

इसे भी पढ़े   फिल्म ‘सुपर सोल्जर’ में कुछ इस अंदाज से एक्शन करती दिखेंगी कटरीना