खबरे अब तक

Special News

जाने देश को सुरक्षा कि सांस देने वाले जवानो कि कैसे होती है होली



रंगो का त्योहार होली राग-रंग का लोकप्रिय पर्व वसंत का संदेशवाहक उत्सव है,यह एक ऐसा त्यौहार है जो दुश्मनों को भी गले लगाने पर मजबूर कर देता है। इस दिन पुरे देश में रंग, अबीर, गुलाल उड़ते दिखाई देते हैं। पुरे देश में धूम शाम से यह पर्व मनाया जाएगा। ऐसे में BSF जवान बॉर्डर पर कैसे होली खेलते हैं। BSF जो कि भारत की सुरक्षा की पहली लाइन कही जाती है उसके जवान आपस में टिका और गुलाल लगाकर होली खेलते हैं।होली के त्योहार मे देश के वीर जवान भी परिवार से अलग रहकर साथियों के साथ यह त्योहार मानते है|

इसे भी पढ़े   राजीव गांधी किसान न्याय योजना के द्वितीय किश्त का भुगतान आज,जिले के 29 हजार 131 किसानों को मिलेगा 24 करोड़ 11 लाख रुपये का द्वितीय किस्त

बता दे बॉर्डर पर बरोह मास देश और देशवासियों के लिए तैनात हमारे जवान भी होली का त्यौहार मानते हैं। भले ही वो अपने परिवार से दूर हो लेकिन एक परिवार एक तो करीब होते हैं जो है उनका अपना परिवार। सभीओ जवान एक साथ मिलकर बॉर्डर पर होली मानते हैं। होली मिलन समारोह के साथ-साथ देशभक्ति के गाने भी बजाए जाते हैं। BSF जवान परिवार से दूर रहकर हमारी सुरक्षा करते हुए होली मनाते हैं।हरे, पीले, लाल, गुलाबी आदि असल रंगों का भी एक त्यौहार पूरी दुनिया में हिंदू धर्म के मानने वाले मनाते हैं। यह है होली का त्यौहार इसमें एक और रंगों के माध्यम से संस्कृति के रंग में रंगकर सारी भिन्नताएं मिट जाती हैं और सब बस एक रंग के हो जाते हैं वहीं दूसरी और धार्मिक रूप से भी होली बहुत महत्वपूर्ण हैं।होली का त्योहार मेल जोल और उत्साह का त्योहार है|जो सभी के लिए बराबर र्हेता है|