इंदिरा गांधी लेकर आईं थीं हरित क्रांति, आज जन्मदिन पर मोदी सरकार ने कृषि कानून वापस लेकर दी श्रद्धांजलि: कांग्रेस – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

इंदिरा गांधी लेकर आईं थीं हरित क्रांति, आज जन्मदिन पर मोदी सरकार ने कृषि कानून वापस लेकर दी श्रद्धांजलि: कांग्रेस

Published

on

कृषि कानूनों (Three Agricultural Laws) को वापस लिए जाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के फैसले से न सिर्फ किसानों में, बल्कि विपक्ष के नेताओं में भी खुशी की लहर है. मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस (Congress) ने कहा कि मोदी सरकार ने इन कृषि कानून को वापस लेकर देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी है.
कांग्रेस नेता पवन बंसल ने कहा, ‘इंदिरा गांधी देश मे हरित क्रांति (Green Revolution) लेकर आई थीं. उनका आज जन्मदिन (Indira Gandhi Birth Anniversary) भी है. जाने-अनजाने में ही सही, मगर मोदी सरकार (Modi Government) ने कृषि कानूनों को वापस लेकर इंदिरा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की है.’

‘सरकार को बेबसी में लेना पड़ा ये फैसला’
बंसल ने आगे कहा, ‘सरकार सभी घोषणाएं राजनीतिक संदेश देने के लिए ही करती है. इस आंदोलन में कितने ही लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी. गाड़ी से उनको कुचला गया. अर्थव्यवस्था पर भी भारी असर पड़ा. लेकिन ये सब क्यों किया गया, इसका जवाब सबको आज मिला है. सरकार को बेबसी में ये फैसला लेना पड़ा है.’
भारत की पहली और अब तक की एकमात्र महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 104वीं जयंती है. उन्हें देश की ‘आयरन लेडी’ के रूप में भी जाना जाता है. इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवंबर 1917 को प्रयागराज में हुआ था. वह जनवरी 1966 से मार्च 1977 तक प्रधानमंत्री रहीं. इसके बाद 1980 में वह दोबारा प्रधानमंत्री बनीं. 31 अक्टूबर 1984 को उनके अंगरक्षकों द्वारा उनकी हत्या कर दी गई थी.

किसानों को समझाने में नाकाम रही सरकार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पिछले करीब एक साल से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा की. प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को गुरु नानक जयंती के अवसर पर राष्ट्र के नाम संबोधन में इस फैसले की घोषणा की. उन्होंने कहा, ‘पांच दशक के अपने सार्वजनिक जीवन में मैंने किसानों की मुश्किलों, चुनौतियों को बहुत करीब से अनुभव किया है.’
पीएम ने कहा कि कृषि बजट में पांच गुना बढ़ोतरी की गई है, हर साल 1.25 लाख करोड़ रुपए से अधिक राशि खर्च की जा रही है. मोदी ने कहा कि उनकी सरकार तीन नए कृषि कानून के फायदों को किसानों के एक वर्ग को समझाने में नाकाम रही। उन्होंने घोषणा की कि इन तीनों कानूनों को निरस्त किया जाएगा और इसके लिए संसद के आगामी सत्र में विधेयक लाया जाएगा.

 

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING4 hours ago

पिता ने बेटे को उतारा मौत के घाट और अपनी पत्नी के साथ किया जानलेवा हमला…

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां पडरौना कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत देवकीनगर...

BREAKING5 hours ago

यहां के कलेक्टर ने ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर लगाया प्रतिबंध

धमतरी(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकायों के उप निर्वाचन 2021 सम्पन्न कराने के लिए घोषित कार्यक्रम को...

BREAKING5 hours ago

कांग्रेस नेता ने खड़ी फसलो पर चलवाई JCB किसानों में दिखा आक्रोश…

जबलपुर(चैनल इंडिया)। प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में कांग्रेस नेता जितेन्द्र अवस्थी की दबंई सामने आई है। किसानों पर अवैध कब्जा...

BREAKING7 hours ago

CM योगी ने विपक्ष पर किया हमला, कहा-जिन्ना के अनुयायी नहीं समझेंगे गन्ने की मिठास…

गोंडा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को गोंडा जिले में 450 रुपये करोड़ की लागत से 65.61...

BREAKING7 hours ago

बड़ी कामयाबी: छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण की दिशा में देश में अव्वल

रायपुर (चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ ने वायु, जल प्रदूषण, ठोस कचरे के प्रबंधन और वनों के संरक्षण और संवर्धन की दिशा...

Advertisement
Advertisement