इजरायल में भारतीयों ने 26/11 आतंकी हमले में शहीदो को किया याद… – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

इजरायल में भारतीयों ने 26/11 आतंकी हमले में शहीदो को किया याद…

Published

on

इजरायल में भारतीयों ने 2008 के 26/11 मुंबई हमलों (26/11 Mumbai attacks) में लश्कर-ए-तैयबा द्वारा मारे गए लोगों को याद किया. इस दौरान अपराध के ‘मास्टरमाइंड’ (मुख्य साजिशकर्ता) को सजा देकर जल्द न्याय देने की मांग की. उन्होंने इन हमलों की 13वीं बरसी की पूर्व संध्या पर आतंकवाद की समस्या से निपटने के लिए समन्वित प्रयास करने की मांग की.

इजरायल में सभी प्रमुख संस्थानों में भारतीय छात्र, भारतीय यहूदी समुदाय  के सदस्य और इजरायल में रह रहे तथा काम कर रहे भारतीयों ने 26/11 हमलों की बरसी की पूर्व संध्या पर गुरुवार को देशभर में कई कार्यक्रम आयोजित किए और आतंकी हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी. इन हमलों में मारे गए लोगों में छह यहूदी भी शामिल हैं. हमलों की बरसी पर शुक्रवार को भी कई कार्यक्रम आयोजित किए
भारत और इजरायल आतंक से पीड़ित

दक्षिणी तटीय शहर ईलात  में भारतीय यहूदी समुदाय के नेता इसाक सोलोमन (84) ने क्लब सितार में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि भारत और इजरायल  आतंकवाद से पीड़ित हैं, यद्यपि दोनों देश अपने पड़ोसियों के साथ शांति चाह रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘आतंकवादियों का सच में कोई वास्तविक उद्देश्य नहीं होता. उनका केवल एक लक्ष्य होता है लोगों को नुकसान पहुंचाना. भारत और इजरायल ऐसे लोकतंत्र हैं जो शांति चाहते हैं और दुनिया में कहीं भी आतंकवाद की समस्या के खिलाफ अपनी आवाज उठाते रहेंगे.’

ईलात के डिप्टी मेयर स्टास बिल्किन ने भी हमले के पीड़ितों के प्रति एकजुटता जताते हुए कार्यक्रम में भाग लिया. यरुशलम विश्वविद्यालय, हिब्रू, तेल अवीव विश्वविद्यालय, बेन गुरियों विश्वविद्यालय और हाइफा में कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिनमें बड़ी संख्या में भारतीय छात्रों ने कोविड-19 संबंधी नियमों का पालन करते हुए भाग लिया.
दोषियों को सजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास जरूरी

बेन-गुरियों विश्वविद्यालय में शोधकर्ता अंकित चौहान ने कहा, ‘यह शर्मनाक है कि हमले के असली मास्टरमाइंड खुले में घूम रहे हैं जबकि पीड़ितों के परिवार न्याय का इंतजार कर रहे हैं. आतंकवाद और उनके प्रायोजकों को हराने के संकल्प में शांति चाहने वाले सभी देशों को एकजुट होना चाहिए. 26/11 भारत और इजरायल के बीच एक साझा दर्द है और हमें दोषियों को सजा दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास करना चाहिए.’

कार्यक्रम में भाग लेने वाले कुछ लोगों ने 2008 में मुंबई में आतंकवादी हमले से निपटने में भारतीय जवानों के साहसी प्रयासों को भी याद किया. भारत के पूर्वोत्तर राज्यों मणिपुर और मिजोरम से ताल्लुक रखने वाले नेई मेनाशे यहूदी समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले संगठन दिगल मेनाशे ने हमलों की निंदा करते हुए इसे निहत्थे निर्दोष लोगों पर ‘कायराना’ कृत्य बताया.

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING7 mins ago

आश्रम अधीक्षक ने पढ़ने आए बच्चों को कराई मजदूरी

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में बाल मजदूरी का मामला सामने आया है। आश्रम अधीक्षक खुद के खेत में आश्रम के...

BREAKING23 mins ago

कंगना रनौत ने दर्ज कराई FIR, जाने क्या है पूरा मामला…

अभिनेत्री कंगना रनौत ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर किया है, जिसके जरिए एक्ट्रेस ने बताया कि उन्होंने उन...

BREAKING36 mins ago

CG News: निर्वाचन आयोग ने इन 103 लोगों के चुनाव लड़ने पर लगाई रोक

रायपुर (चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ के नगरीय निकायों में आम और उप चुनाव की प्रक्रिया चल रही है। इस बीच राज्य...

BREAKING39 mins ago

Cm योगी ने दिए निर्देश, विदेश से आने वालों की पड़ताल हो और कहा- हर स्तर पर बरतें सावधानी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उच्चाधिकारियों को कोविड के ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर हर स्तर पर सावधानी बरतने के निर्देश दिए...

BREAKING3 hours ago

यहां के फैक्टरी में लगी भीषण आग, जवानों ने मौके पर पहुँचकर बचाई लोगों की जान…

पुलवामा में सोमवार देर रात एक फैक्टरी में आग लग गई। काम कर रहे कई मजदूर अंदर फंस गए। सूचना...

Advertisement
Advertisement