चीन को एक और बड़ा झटका दे सकता है भारत, 5G पर मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की हुई बैठक – Channelindia News
Connect with us

channel india

चीन को एक और बड़ा झटका दे सकता है भारत, 5G पर मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की हुई बैठक

Published

on


चीन के साथ तनाव के बीच मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में सोमवार को 5G पर चर्चा हुई. इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद रहे  |
नई दिल्ली  | चीन के साथ तनाव के बीच मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में सोमवार को 5G पर चर्चा हुई. इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद रहे. सूत्रों ने यह जानकारी दी. सूत्रों के अनुसार, बैठक में 5G सेवाओं में उपकरणों की आपूर्ति को लेकर चर्चा हुई. गौरतलब है कि चीनी कंपनी हुवै (Huawei) भारत में 5G सेवाओं से जुड़े उपकरणों के लिए एक प्रमुख दावेदार है. भारत में हुवै को 5G ट्रायल में भाग लेने की पिछले साल अनुमति दी गई थी, लेकिन अमेरिका अन्य देशों पर दबाव डाल रहा है कि चीन की इस कंपनी को बाहर रखा जाए. भारत में 5G की नीलामी फिलहाल एक साल के लिए टाली गई है. अमेरिका में हुवै के उत्पादों पर मई 2021 तक के लिए पाबंदी लगाई गई है. सिंगापुर में 5G की दौड़ से हुवै बाहर हो चुका है. वहाँ नोकिया और एरिक्सन को मौका मिला है.

इसे भी पढ़े   समय-सीमा की बैठक सम्पन्न क्षेत्र दौरा के समय जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणजनों से बात करते हए उनका विश्वास अर्जित करें: कलेक्टर ग्रामीणों के मूलभूत समस्याओं को प्राथमिकता से निराकरण करने के दिये निर्देश

भारत में हुवै का विरोध हो रहा है क्योंकि इसके संस्थापक के पीएलए से रिश्ते बताए जाते हैं. सीमा विवाद के बाद देश में बदले माहौल में हुवै के लिए रास्ता मुश्किल होगा. वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में हुए फैसले की फिलहाल कोई जानकारी नहीं मिली है. भारत में सुरक्षा कारणों से हुवै को लेकर चिंता जताई गई है. अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में सुरक्षा कारणों के मद्देनज़र हुवावेई को ट्रायल से बाहर रखा गया था.

इसे भी पढ़े   संयुक्त जांच दल की कार्यवाही में 20 टन खाद जब्त

इससे पहले, सरकार ने चीन को तगड़ा झटका देते हुए 59 चीनी एप को भारत में प्रतिबंधित कर दिया है. टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, वीचैट, शेयरइट और कैम स्केनर उन 59 चीनी एप में शामिल हैं, जिन्हें सरकार द्वारा देशभर में बैन किया गया है. आप यहां क्लिक करके बैन की गई सभी 59 चीनी ऐप्स की सूची देख सकते हैं. सरकार ने बयान में कहा गया है कि ‘उपलब्ध सूचना के अनुसार, ये ऐप्स उन गतिविधियों में लगे हुए हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता,सुरक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरनाक हैं.’

इसे भी पढ़े   ACB की बड़ी कार्रवाई …CMHO आफिस में पदस्थ क्लर्क को रिश्वत लेते रंगेहाथों किया गिरफ्तार
Advertisement
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india12 hours ago

कमिश्नर ने किया निर्माणाधीन पंचायत भवन और धान खरीदी केन्द्रों का किया निरीक्षण…RIS के SDO को कारण बताओ सूचना

अम्बिकापुर: कमिश्नर जिनेविवा किंडो ने आज मैनपाट एवं सीतापुर विकासखण्ड के निर्माणाधीन पंचायत भवन तथा धान खरीदी केंद्र का निरीक्षण...

channel india13 hours ago

केबिनेट बैठक में सभी प्रस्तावों पर छत्तीसगढ़ी में हुई चर्चा, धान-मक्का खरीदी सहित विभिन्न मुद्दों पर लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज निवास कार्यालय में मंत्री परिषद की बैठक आयोजित की गई। छत्तीसगढ़ी राजभाषा...

channel india13 hours ago

मंत्री परिषद की बैठक में सेवानिवृत्त हो रहे मुख्य सचिव आर.पी.मण्डल को दी गई बिदाई 

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज उनके निवास कार्यालय में आयोजित मंत्री परिषद की बैठक में 30 नवम्बर...

channel india13 hours ago

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत लोन के लिए 8 दिसम्बर तक आमंत्रित किए जाएंगे आवेदन

बलरामपुर: मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत जिले के युवाओं को स्व-उद्यम की स्थापना कर आर्थिक दृष्टि से स्वावलम्बी एवं...

channel india13 hours ago

ब्लॉक स्तरीय नि:शुल्क आयुष स्वास्थ्य मेला का हुआ आयोजन, कोरोना वायरस के संबंध में दिए गए दिशा-निर्देश

गढ़गोढी  : ब्लॉक स्तरीय नि:शुल्क  आयुष स्वास्थ्य मेला का आयोजन ग्राम पंचायत गढ़गोढी में पंचायत भवन के सामने 28 नवंबर शनिवार को सुबह 11:00...

खबरे अब तक

Advertisement