बैंक डूबा तो कही फस तो नहीं जाएंगे आपके पैसे….पढ़िये पूरी खबर – Channelindia News
Connect with us

Special News

बैंक डूबा तो कही फस तो नहीं जाएंगे आपके पैसे….पढ़िये पूरी खबर

Published

on


अगर जिस बैंक में आपका पैसा जमा है और वह दिवालिया हो जाता है तो उसमें जमा रकम आप 90 दिन के भीतर वापस पा सकेंगे। दरअसल, सरकार डिपॉजिट इंश्योरेंस क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (डीआईसीजीसी) एक्ट में बदलाव करने की योजना बना रही है, जिसमें वह ऐसी व्यवस्था करने पर विचार कर सकती है।
अगर इसको मंजूरी मिलती है तो बैंक डूब जाने के बावजूद पांच लाख रुपये तक की जमा रकम 90 दिन के भीतर लोग निकाल पाएंगे। गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकों के असफल होने पर डीआईसीजीसी कवर के लिए आसान और समयसीमा के अंदर निकासी का वादा किया था। वित्त वर्ष 2021 के में वित्त मंत्री ने डीआईसीजीसी के तहत कवर की राशि को 1 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये करने का ऐलान किया था। केंद्रीय वित्त मंत्री ने बजट में बैंक कवर बढ़ाए जाने संबंधी यह ऐलान पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक में हुए फ्रॉड के बाद किया था। वित्तीय संकट में फंसे यस बैंक ने भी बैंक में रोजाना की निकासी पर लिमिट लगा दी थी।

कमजोर वित्तीय स्थिति से जूझ रहे बैंक

देश के कई सरकारी बैंक इस समय कमजोर वित्तीय स्थिति से जूझ रहे हैं। इसको देखते हुए सरकार कई बैंकों को मिलाकर एक बैंक बना रही है। साथ ही निजीकरण की भी तैयारी है जिससे आने वाले दिनों में किसी बैंक के डूबने की नौबन न आए। बैंक डूबने से लाखों लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

क्या है डीआईसीजीसी

डिपॉजिट इंश्‍योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (डीआईसीजीसी) बैंक जमा रकम पर इंश्‍योरेंस मुहैया कराता है। यह भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली कंपनी है। डीआईसीजीसी सभी तरह के बैंक डिपॉजिट को कवर देता है। इनमें बचत खाता, सावधि जमा (एफडी), करेंट और रिकरिंग डिपॉजिट शामिल हैं। इसकी सीमा 5 लाख रुपये तक होती है। इसका मतलब है कि बैंक में ग्राहकों की 5 लाख रुपये तक की जमा ही सुरक्षित है।

कभी 30 हजार तक की ही गारंटी थी

मई 1993 से पहले तक डिपॉजिटर को बैंक डूबने की परिस्थिति में उनके खाते में जमा 30,000 रुपये तक की रकम पर ही वापसी की गारंटी हुआ करती थी। वर्ष 1992 में एक सिक्योरिटी स्कैम के कारण इसमें बदलाव किया गया। तब बैंक ऑफ कराड के दिवालिया हो जाने के बाद इंश्योर्ड डिपॉजिट की रकम की सीमा बढ़ाकर 1 लाख रुपए की गई थी। फिर वित्त वर्ष 2021 के बजट में इसे बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया गया।

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING18 mins ago

साइंस फिक्शन : 2041 तक बदल जाएगी पूरी दुनिया, जानिए क्या होगा धरती का हाल?

20 साल तक सोए रह जाएं और फिर उठें तो दुनिया कैसी दिखेगी? यह बात आपको किसी साइंस फिक्शन मूवी...

 सक्ती33 mins ago

छत्तीसगढ़ को नहीं बनने देंगे अडानीगढ़ – अर्जुन राठौर

सक्ती(चैनल इंडिया)|  जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे विधान  सभा सक्ती के पुर्व प्रभारी  ने कहा कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के...

channel india37 mins ago

नपा लोहारा के शासकीय भूमि पर जनप्रतिनिधियों की नजर   हड़पने का प्रक्रिया जारी प्रशासन मौन

कवर्धा(चैनल इंडिया)| राजीवगांधी आश्रय योजना  अंतर्गत राज्य सरकार के निर्देशों के तहत शहरी क्षेत्रों में  पट्टा प्रदान किया जाना है।जिसमें...

 बलरामपुर39 mins ago

कार्य में लापरवाही बरतने पर कलेक्टर ने पर्यवेक्षक की दो वेतन वृद्धि में रोकी, एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की सेवा समाप्त

बलरामपुर(चैनल इंडिया)| विकासखण्ड राजपुर के आंगनबाड़ी केन्द्र बाड़ी चलगली पटेलपारा में विगत 10 महीने से गोदाम में रेडी-टू-ईट सड़ने, बच्चों...

 बलरामपुर43 mins ago

वनाधिकार पट्टाधारी निरंजन गोड़ को मनरेगा से मिली डबरी, सिंचाई के लिए वर्षा पर निर्भरता होगी कम

बलरामपुर(चैनल इंडिया)| शासन के मंशानुरूप वनभूमियों में पीढ़ियों से काबिज तथा आजीविका के साधन के रूप में उपयोग करने वाले...

Advertisement
Advertisement