कोरोना के लक्षणों के आधार पर होम्योपैथी से किया 500 से अधिक लोगों का सफल उपचार : डॉ. उत्कर्ष त्रिवेदी – Channelindia News
Connect with us

channel india

कोरोना के लक्षणों के आधार पर होम्योपैथी से किया 500 से अधिक लोगों का सफल उपचार : डॉ. उत्कर्ष त्रिवेदी

Published

on


अगर सर्दी खांसी है तो डरे नहीं , मानसिक रूप से बने रहे मजबूत … सर्दी, छींक,बुखार हो तो डॉक्टर से करे संपर्क

रायपुर (चैनल इंडिया)। राजधानी रायपुर के होम्योपैथिक डॉक्टर उत्कर्ष त्रिवेदी ने कोरोना के लक्षणों के आधार पर 500 से अधिक मरीजों के सफल इलाज का दावा किया है। उन्होंने आज चैनल इंडिया से बातचीत में कहा कि शीत ऋ तु की शुरुआत हो चुकी हैं। ठंडी हवाओं के चलते पर्यावरणीय बदलाव देखने को मिल रहे हैं। वही  दिन में कड़ी धूप होने की वजह से गर्मी का एहसास अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। यही वजह है कि इस सर्दी, जुकाम, बुखार, बदन दर्द, सिरदर्द और फ्लू जैसी बीमारियों का शिकार लोग बड़ी संख्या में हो रहे हैं।  खासतौर पर वैसे लोग जिनकी रोगप्रतिरोधक क्षमता कम हैं । साथ में कोरोना महामारी का भी खतरा फैला हुआ है।  ऐसे में जरूरी है कि बदलते मौसम में खुद को बीमारियों से बचाकर रखें।

डॉ. त्रिवेदी ने बताया कि जब भी मौसम परिवर्तन होता है। हर मौसम परिवर्तन में शरीर अपने आपको एडजस्ट करने की कोशिश करता है,  इसमें जो व्यक्ति एडजस्ट नहीं कर पाता है उसे कहीं ना कहीं मौसमी समस्याओं से गुजरना पड़ता है। मौसमी परेशानी सर्दी, छींक, बुखार इन सब का यदि सही समय पर इलाज करा लेते हैं तो इनसे कोई दिक्कत नहीं होगी।

इसे भी पढ़े   वैष्णो देवी के दर्शन के लिए कराना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, रोज 7 हजार लोगों को मिलेगी अनुमति, पहले हर दिन 35 हजार लोग होते थे शामिल

डॉ. त्रिवेदी ने कहा कि मौसम के बदलने से कई मौसमी बुखार होने की संभावनाएं बनी रहती हैं। बताया कि मौसम इन्फेक्शन में चले जाते हैं। जैसे सर्दी, खांसी ऐसी स्थिति में हमें ज्यादा घबराना नहीं है। स्वास्थ के लिए सावधानियां बरते। ठंडी आते ही तुरंत शरीर के अंदर गर्मी पैदा करने वाली चीजें ना खाएं।  शरीर को वातावरण के हिसाब से में ढलने की थोड़ा समय दें। जब शरीर मौसम के वातावरण में ढल जाएगा तब कोई भी तकलीफ नहीं होगी। अगर साइंस की बात करे तो हर क्रिया के विपरीत एक प्रतिक्रिया भी होती है। वैसे ही मौसम के बदलाव में जो व्यक्ति उस वातावरण में ढल नहीं पाएगा। उसके बॉडी से प्रतिक्रिया किसी भी रूप में निकल सकती है। चाहे वह छींक, सर्दी या बुखार या नाक बहना हो एनवायरमेंट के वायरल होने के संक्रमण के चांस रहते हैं। ऐसी स्थिति में हमें तुरंत एक्शन नहीं लेना है थोड़े दिनों के इंतजार करें।  अगर ज्यादा दिक्कतें हो तो डॉक्टर से इलाज कराएं, वरना घर में दो-तीन दिन वायरल बीमारियों का देखरेख करें।  उसके बाद ही उसका संपूर्ण इलाज कराएं। अगर शरीर में क्रिया के विपरीत प्रतिक्रिया होती है तो शरीर उसे अपने आप बाहर निकालती है।

सामान्य सर्दी, छींक के लिए बॉडी को एक-दो दिन के लिए समय दें ताकि अंदर का विकार निकल सके , अगर विकार निकल रहा है और उसे तुरंत रोक देंगे तो अंदर जम सकता है जो कब के रूप में ब्रोमपैट्रिक्स, बीमारी अस्थमा,सांस फूलना जैसी बीमारी दे सकता है।  जब कभी भी अगर वायरल संक्रमण होता है तो शरीर को व्यवस्थित होने का समय दें ,ताकि शरीर अपने आप उसे बाहर निकालें और अगर बुखार होता है तो अपने मन से किसी प्रकार की दवाइयां ना लें बल्कि नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें। डॉ उत्कर्ष त्रिवेदी ने बताया कि  कोरोना संक्रामण में जितने भी बीमारियां नजर आती हैं उन सभी बीमारियों का हमने इलाज किया है। जिसका परिणाम शत-प्रतिशत अच्छा रहा।

इसे भी पढ़े   आज़ाद चौक, डीडी नगर एवं टिकरापारा तीनों थाने मिलकर देखेंगे पुरानी बस्ती थाने का काम काज.....

 

होम्योपैथी का मूल सिद्धांत होता है सम से सामान्य की चिकित्सा

होम्योपैथी में जो शिक्षा दी गई है उसके अनुसार बीमारी का नाम महत्वपूर्ण नहीं है, उसके लक्षण महत्वपूर्ण हैं। आज कोरोना  फैला हुआ हैं , इसके लक्षण सर्दी, छींक, बुखार, नाक बहना, सांस फूलना है।  उसी लक्षण के मिलान करने पर हमने ईलाज किया है। लक्षण की दवाई दी और उससे मरीज के स्वास्थ्य में सुधार आया , तो वह पूरी तरह ठीक है फिर उसे बीमारी कोई भी हो वो महत्व नही रखता।

 

लक्षणों को देखकर देते हैं दवा

उन्होने कहा कि किसी व्यक्ति को ज्यादा बुखार आ रहा है ,तो हम उसके लक्षण को देखकर होम्योपैथी की दवाई देते हैं, जिससे उसका इलाज चलता है। डॉ उत्कर्ष त्रिवेदी ने बताया कि उसी प्रकार से कोरोना के भी लक्षण हैं। इन लक्षणों का मिलान कर मरीज की स्थिति समझ कर दवाई देते हैं । ज्यादातर लोगों को डिप्रेशन, काम के बोझ से तबियत खराब होना, यह सारी स्थिति समझ कर ट्रीटमेंट शुरू किया जाता है। उन्होने बताया कि उपचार में काफी अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। कोरोना संक्रमितो के लक्षणो के आधार पर करीब 500 से अधिक लोगो के  सफल उपचार किया गया  है। कोरोना को लेकर आम नागरिकों मे पहले की अपेक्षा तनाव थोड़ा कम हुआ  हैं। टीवी, न्यूजपेपर और मार्केट से कोरोना की खबरें कम थी लेकिन फिर से खबर आने लगी है कि ठंड में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ेगा इसी वजह से लोगों का मेंटल प्रेशर बढने लग गया है। डॉ त्रिवेदी ने कहा कि मौसम बदलाव से सर्दी छींक बुखार यदि आता हैं तो इससे बिल्कुल भी न घबराएँ। हमें इस दौरान मानसिक रूप से स्वस्थ व मजबूत रहना होगा , जब भी मौसम परिवर्तन होता है तो बीमारियाँ आती है और इस बार का सर्दी, खांसी, छींक, बुखार कोरोनावायरस का रूप लेकर आया है। अगर उसका सही समय पर सही तरीके से इलाज हो जाए तो हम स्वस्थ रहेंगे किसी प्रकार से घबराने की कोई जरूरत नहीं है।कोरोना के लक्षणों के आधार पर होम्योपैथी से किया 500 से अधिक लोगों का सफल उपचार

इसे भी पढ़े   ब्रेकिंग न्यूज़:: बॉलीवुड एक्टर अर्जुन रामपाल के घर पड़ी एनसीबी की रेड, ड्रग्स की तलाश जारी

 

Advertisement
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india12 hours ago

होम आइसोलेशन के संबंध में स्वास्थ्य विभाग की नई गाईड लाईन का पालन सुनिश्चित करें – कलेक्टर, जिला स्तरीय कोविड केयर कोर कमेटी की बैठक

जांजगीर-चापा(चैनल इंडिया)। कलेक्टर यशवंत कुमार ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित कर कहा कि वे कोविड-19 संक्रमित मरीजों...

BREAKING12 hours ago

असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष की उम्र में निधन, 3 दिनों का राजकीय शोक

असम(चैनल इंडिया)। असम के तीन बार मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई  का सोमवार शाम को निधन हो गया. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज...

channel india13 hours ago

आठ दिनों से गोताखोर के तालाब में डूबने की खबर पर मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने तालाब पहुचकर तत्काल ढूंढने के दिए आदेश

कोरबा(चैनल इंडिया)। राजस्व एवं आपदा प्रबन्धन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा अपर कलेक्टर, कोरबा एसडीएम्, कोरबा डीएसपी,जिला मुख्य कार्यपालन अधिकारी...

channel india13 hours ago

पांच जिलों के करीब दस लाख बच्चों को लगाए जाएंगे जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से बचाव के लिए टीके, स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने किया टीकाकारण अभियान का ऑनलाइन शुभारंभ

रायपुर(चैनल इंडिया)। स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज प्रदेश में जैपनीज इन्सेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान का ऑनलाइन शुभारंभ किया। अभियान...

channel india14 hours ago

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने फाइलेरिया उन्मूलन के लिए सामूहिक दवा सेवन अभियान का किया शुभारंभ… सरगुजा और सूरजपुर जिले में 23 से 30 नवम्बर तक चलेगा अभियान

रायपुर(चैनल इंडिया)। स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत आज प्रदेश में सामूहिक दवा सेवन अभियान...

खबरे अब तक

Advertisement