अगर दुनिया से मानवता हो जाए खत्म तो कहां जिंदा बचेंगे इंसान?, ये देश रखेंगे धरती पर मानव सभ्यता को जीवित… – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

अगर दुनिया से मानवता हो जाए खत्म तो कहां जिंदा बचेंगे इंसान?, ये देश रखेंगे धरती पर मानव सभ्यता को जीवित…

Published

on

न्यूजीलैंड, आइसलैंड, ब्रिटेन, तस्मानिया और आयरलैंड वैश्विक समाज के खत्म होने पर जिंदा बचे रहने के लिए सबसे बेहतर स्थान होंगे. एक स्टडी में इसकी जानकारी दी गई है. शोधकर्ताओं ने कहा कि मानवता सभ्यता इंटरकनेक्टेड और ऊर्जा-गहन समाज होने की वजह से खतरनाक स्थिति में है. यही वजह है कि इससे पर्यावरणीय नुकसान हो सकता है. वैज्ञानिकों ने कहा है कि एक गंभीर वित्तीय संकट, जलवायु संकट का प्रभाव, प्रकृति की तबाही, कोविड-19 से भी खतरनाक महामारी या इन सब के मिलकर एक साथ होने से भी मानव समाज चुटकियों में खत्म हो सकता है.
मानव समाज के खत्म होने पर कौन से मुल्क इससे बच पाएंगे. इसका आकलन करने के लिए दुनिया के देशों को उनकी आबादी के लिए भोजन उगाने, प्रवास से अपनी सीमा को बचाने और इलेक्ट्रिकल ग्रिड को बचाने और कुछ निर्माण ईकाइयों को सुरक्षित रखने की क्षमता के आधार पर रैंक किया गया. इस लिस्ट में द्वीप समूह और अधिकतर कम जनसंख्या घनत्व वाले द्वीप टॉप में रहे. शोधकर्ताओं ने कहा है कि उन्होंने अपनी स्टडी के जरिए उन फैक्टरों के बारे में बताया है, जिनके जरिए समाज के खत्म होने पर निपटा जा सकता है. उन्होंने कहा कि आर्थिक दक्षता पर निर्भर समाज को भोजन उगाने और अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों में काम करने की जरूरत है.

ब्रिटेन के सूची में शामिल होने पर हुई हैरानी
इस बात की खबरें सामने आई कीं अरबपति लोग न्यूजीलैंड में बंकर खरीद रहे हैं, ताकि वे कयामत से बच सकें. ब्रिटेन की एंजलिया रस्किन यूनिवर्सिटी में ग्लोबल सस्टेनेबिलिटी इंस्टीट्यूट में प्रोफेसर एलेड जोन्स ने कहा, हमें आश्चर्य नहीं हुआ कि न्यूजीलैंड हमारी सूची में था. जोन्स ने कहा, हमने इस बात पर देशों की रैंकिंग की कि ये अपनी सीमा की रक्षा कर पाएं और इनके यहां तापमान अच्छा हो. ऐसे में इस बात की पूरी संभावना था कि जटील सामाजिक बनावट वाले बड़े द्वीपीय देश इस सूची में शामिल होंगे. हम ब्रिटेन के इस सूची में शामिल होने से थोड़ा हैरान रहे, क्योंकि ये सिर्फ खुद के लिए 50 फीसदी खाने का ही उत्पादन करता है.

दुनिया ने हाल के सालों में देखी कई परेशानियां
अपनी भूतापीय और जलविद्युत ऊर्जा, प्रचुर मात्रा में कृषि भूमि और कम मानव जनसंख्या घनत्व की वजह से न्यूजीलैंड में जिंदा बचे रहने की सबसे बड़ी क्षमता पाई गई. हाल के सालों में वैश्विक खाद्यान्न संकट, आर्थिक संकट और महामारी देखने को मिली है. मगर मानवता सभ्यता काफी भाग्यशाली है कि ये परेशानियां एक साथ सामने नहीं आई हैं. वहीं, कोरोनावायरस महामारी ने भले ही दुनिया को संकट में डाला है, मगर इसने एक चीज दिखाया है कि अगर जरूरत पड़ती है तो दुनियाभर की सरकारें मिलकर काम कर सकती हैं. लेकिन दुनिया को किसी भी संकट से बाहर निकालने के लिए पहले से तैयारी करनी होगी.

 


Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

 सक्ती16 hours ago

भाजपा ग्रामीण मंडल द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय  की जयंती मनाई

सक्ती(चैनल इंडिया)| भारतीय जनता पार्टी ग्रामीण मंडल समिति द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती ग्रामीण मंडल सक्ती  के ग्राम पंचायत...

channel india16 hours ago

आबकारी विभाग की में बड़ी कार्रवाई, शराब बनाने की अवैध फैक्ट्रीं का पर्दाफाश

रायपुर(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नरदाह विधानसभा रोड स्थित अवैध शराब फैक्ट्री बनाने का राजफाश हुआ है। वहां...

channel india16 hours ago

बंगाल की खाड़ी से आने वाला है एक और बड़ा खतरा, जानिए क्या है पूरा मामला….

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने चेतावनी दी है कि बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का सिस्टम, जो...

 अंबिकापुर16 hours ago

यहाँ शख्स की हत्या कर लाश को क्रेन से लटकाया, VIDEO वायरल…

काबुल. तालिबान के सत्ता में आने के बाद अफगानिस्तान के हालात अब तेजी से बदल रहे हैं. तालिबान ने शरिया...

balod district17 hours ago

छत्तीसगढ़ के VVIP सिटी में रेवेन्यू इंस्पेक्टर के साथ लूट…

दुर्ग.(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में महिला अधिकारी के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया गया है. लूट...

Advertisement
Advertisement