एक बार फिर मानवता हुई शर्मसार: बरसते पानी में नवजात को फेंका, सड़क किनारे मिला शव – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

एक बार फिर मानवता हुई शर्मसार: बरसते पानी में नवजात को फेंका, सड़क किनारे मिला शव

Published

on

कांकेर(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ के कांकेर में एक बार फिर मानवता शर्मसार हो गई। एक नवजात को कोई बरसते पानी में सड़क किनारे फेंक गया। रात भर बारिश और ठंड में पड़े रहने के कारण नवजात की मौत हो गई। अगले दिन जब खेत जा रही महिलाओं ने शव देखा तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया और DNA सैंपल जांच के लिए भेजा है। मामला भानुप्रतापपुर थाना क्षेत्र का है।
जानकारी के मुताबिक, भानुप्रतापपुर और दल्ली राजहरा के बीच ग्राम पंचायत साल्हे के आश्रित ग्राम टेकातोड़ा से लगे स्टेट हाईवे पर नवजात का शव एक कपड़े के थैले में मिला है। बुधवार को जब महिलाएं खेत जाने लगीं तो झोला देखकर रुक गईं। उन्होंने कपड़ा हटाकर देखा तो अंदर बच्चे का शव था। पुलिस पहुंची, लेकिन आसपास ऐसा कुछ नहीं मिला जिससे बच्चे की पहचान हो सके।

साड़ी से लपेट कर झोले में रखा गया था नवजात
शव देखने वाली महिलाओं ने पुलिस को बताया कि मंगलवार रात भी उन्होंने झोला पड़ा देखा था, लेकिन तब ध्यान नहीं दिया। अगले दिन दोबारा देखा तो संदेह वश उसे देखने के लिए चले गए। इसके बाद बच्चे के शव का पता चला। बच्चे को साड़ी से लपेटकर झोले में रखा गया था। साथ ही कुछ अपशिष्ट भी पड़े हुए थे। पुलिस अब मितानिन और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं से जानकारी जुटा रही है।

जिले में मिले नवजात शिशु के मामले
• 2017 : अंतागढ़ के एक गांव में नवजात को दफना दिया गया था।
• 2017 : चारामा के जैसाकर्रा के पास झाड़ियों में नवजात शिशु रोते हुए मिला।
• 2018 : भानुप्रतापपुर के दत्तक ग्रहण केंद्र के झूले में मिला नवाजात।
• 2019 : कांकेर के दत्तक ग्रहण केंद्र के झूले में मिला नवाजात।
• 2019 : कांकेर डंवरखार में गोबर के गढ्डे में मिला नवजात। एक माह बाद हुई उसकी मौत।
• 2021 : कोरर के डुमरकोट में झाड़ियों में मिला नवजात।

जिले में 48 स्थान पर पालना केंद्र, लेकिन जानकारी नहीं
पालना केंद्र की जानकारी के अभाव में लोकलाज के भय के कारण लोग नवजात को इस तरह लावारिस हालत में मरने छोड़ रहे हैं। जबकि जिले में प्राथमिक व उप स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल, सखी वन स्टाप सेंटर, जिला बाल इकाई, स्वधार समेत 48 स्थानों पर शिशु पालना केंद्र संचालित है। जहां शिशु को देने पर उनका नाम गोपनीय रखा जाता है। इससे शिशु की जान भी बच सकती है।

 

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

Special News3 hours ago

प्रदेश में फिर पड़ेगी कड़ाके की ठंड, छत्तीसगढ़ के उत्तरी इलाके में चलेगी शीतलहर, अन्य क्षेत्रों में रहेगा घना कोहरा

उत्तर भारत से सर्द हवा आने के कारण प्रदेश में बुधवार से फिर कड़ाके की ठंड पड़ेगी। बुधवार व गुरुवार...

CHANNEL INDIA NEWS3 hours ago

गणतंत्र दिवस पर किसान, युवा और बेटियों के लिए मुख्यमंत्री बघेल ने की बड़ी घोषणा, खुलेगी गुंडाधुर तीरंदाजी अकादमी

जगदलपुर(चैनल इंडिया)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जगदलपुर के लाल बाग मैदान में ध्वजारोहण किया। इस मौके पर सीएम ने परेड...

BREAKING1 day ago

दिल दहला देने वाली वारदात: पिता ने की बेटे की हत्या, चार साल की बेटी ने देखा खौफनाक मंजर…

मैनपुरी जनपद में बुधवार को दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। एक पिता ने अपने बेटे की जान...

BREAKING1 day ago

26 जनवरी को नक्सलियों का बंद, 27 तक विशाखापट्ट्नम से किरंदुल तक नहीं चलेंगी ट्रेनें

जगदलपुर(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने एक बार फिर गणतंत्र दिवस पर बंद का ऐलान किया है। ऐसे में किरंदुल...

BREAKING2 days ago

पेट्रोल-डीजल की खपत कम करने छग में लागू हो सकती है इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी

रायपुर(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ के परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा है कि वर्तमान में वायु प्रदूषण की वैश्विक समस्या के...

Advertisement
Advertisement