देश में कैसा है कोरोना वैक्सीनेशन का हाल, जानिए आगे क्या है सरकार का प्लान… – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

देश में कैसा है कोरोना वैक्सीनेशन का हाल, जानिए आगे क्या है सरकार का प्लान…

Published

on

जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज वाली COVID-19 वैक्सीन को भारत में आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के साथ अब लोगों के लिए 5 कोरोना वैक्सीन उपलब्ध हैं. कोविशील्ड, कोवैक्सिन, स्पुतनिक वी और मॉडर्न के बाद भारत में उपलब्ध होने वाला जॉनसन एंड जॉनसन का टीका पांचवां COVID-19 वैक्सीन बन गया है. जॉनसेन वैक्सीन उन शुरुआती वैक्सीन में से एक थी जिन्हें अमेरिका ने मंजूरी दे दी थी, और कहा गया था कि लोगों को अस्पताल में भर्ती होने और मृत्यु को रोकने में ये काफी प्रभावी है.
अब जब भारत के पास 5 कोरोना वैक्सीन उपलब्ध हैं तो एक बार ये भी देख लेते हैं कि अब तक देश में कितनी कोरोना वैक्सीन के डोज दी जा चुकी हैं और आने वाले समय में वैक्सीन प्रोडक्शन को लेकर सरकार का क्या प्लान है.
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दिए गए आंकड़ों के मुताबिक, शनिवार तक लोगों को 50.62 करोड़ कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है. शनिवार को 50 लाख से अधिक खुराक दी गईं. टीकाकरण अभियान के 204वें दिन तक, कुल 50,00,384 वैक्सीन खुराकें दी गईं, जिनमें से 36,88,660 लाभार्थियों को पहली खुराक के लिए टीका लगाया गया और 13,11,724 लोगों को वैक्सीन की दूसरी खुराक मिली.
सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 18-44 वर्ष के आयु वर्ग के 17,54,73,103 लोगों को टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शुरुआत के बाद से पहली खुराक और 1,18,08,368 को दूसरी खुराक दी गई है.

जॉनसन एंड जॉनसन
जॉनसन एंड जॉनसन को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी मिली गई है लेकिन इस बात को लेकर अनिश्चितता है कि देश में टीका कब उपलब्ध होगा. टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक अधिकारी के हवाले से कहा कि सरकार को उम्मीद है कि अगर वे कंपनी के साथ एक समझौते पर आ गए तो सप्लाई सितंबर के आसपास शुरू हो जाएगी.

ऑक्सफ़ोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका का कोविशील्ड
स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने एक लिखित उत्तर में कहा कि 16 जनवरी से 5 अगस्त तक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा राष्ट्रीय कोविड -19 टीकाकरण कार्यक्रम के लिए कोविशील्ड की 44.42 करोड़ खुराक की सप्लाई की गई थी. सरकार ने 6 अगस्त को कहा कि कोविशील्ड की मासिक वैक्सीन उत्पादन क्षमता को 11 करोड़ खुराक से बढ़ाकर 12 करोड़ खुराक प्रति माह करने की योजना है.

25 करोड़ डोज सितंबर तक
सरकार को कोविशील्ड, कोवैक्सिन और स्पुतनिक वी की 20 करोड़ खुराक अगस्त में और 25 करोड़ खुराक सितंबर में मिलेगी. इसके अलावा, सरकार को अक्टूबर तक बायोलॉजिकल-ई, ज़ाइडस कैडिला, नोवावैक्स और जेनोवा के टीकों की उम्मीद है क्योंकि तब तक नियामकों से अनुमोदन प्राप्त हो सकता है और इनमें से कुछ वैक्सीन निर्माता पहले से ही टीकों का जोखिम-रहित उत्पादन कर रहे हैं.

दिसंबर तक 100 करोड़ डोज की सप्लाई
सरकार ने पहले कहा था कि दिसंबर 2021 तक 100.6 करोड़ खुराक की सप्लाई के आदेश दिए हैं. सरकार ने कहा, “अगस्त से दिसंबर 2021 के बीच, 135 करोड़ खुराक उपलब्ध होने की उम्मीद है.” सरकार ने कहा है कि यह उम्मीद की गई थी कि दिसंबर 2021 तक 18 वर्ष और उससे अधिक आयु के लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाएगा, लेकिन वर्तमान में महामारी की गतिशील और विकसित प्रकृति को देखते हुए टीकाकरण अभियान को पूरा करने के लिए कोई निश्चित समय रेखा नहीं बताई जा सकती है.

 


Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india8 mins ago

India में लॉन्च हुई Ducati Monster बाइक , फीचर्स और कीमत जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर…

2021 डुकाटी मॉन्स्टर (Ducati Monster) को भारत में लॉन्च कर दिया गया है, जिसकी कीमतें स्टैंडर्ड वेरिएंट के लिए 10.99...

BREAKING23 mins ago

कोल ब्लॉक नीलामी के लिए दबाव बना रहा केंद्र सरकार : मंत्री रविंद्र चौबे

रायपुर(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने सीएम भूपेश बघेल के दिल्ली दौरे को लेकर बड़ी जानकारी दी...

BREAKING44 mins ago

बदमाशों के हौसले बुलंद, 3 दिनों में चाकूबाजी की तीसरी बड़ी वारदात, 4 आरोपी गिरफ्तार…

रायपुर(चैनल इंडिया)। राजधानी रायपुर में चाकूबाजी की वारदातें अब आम हो गई हैं. बेखौफ बदमाश रोजाना बेधड़क होकर लोगों को...

 सक्ती1 hour ago

अमलडीहा  में निःशुल्क चिकित्सा एवं आयुष मेला सम्पन्न

सक्ती(चैनल इंडिया)|  छत्तीसगढ़ शासन आयुष विभाग द्वारा आज अमलडीहा (सक्ती) में आयुष मेला तथा नि:शुल्क चिकित्सा व दवा वितरण का...

BREAKING1 hour ago

इस राज्य में अब स्पा सेंटर के बंद कमरों में आप नहीं करा पाएंगे मसाज

नई दिल्ली(चैनल इंडिया)। फिजियोथेरेपी, एक्यूप्रेशर या व्यावसायिक चिकित्सा डिग्री, डिप्लोमा प्रमाण पत्र के बगैर अब स्पा सेंटरों में यूं ही...

Advertisement
Advertisement