जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक रही हंगामेदार, राजिम विधायक प्रतिनिधि के प्रश्नो से अधिकारियों मे मचा हड़कंप – Channelindia News
Connect with us

channel india

जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक रही हंगामेदार, राजिम विधायक प्रतिनिधि के प्रश्नो से अधिकारियों मे मचा हड़कंप

Published

on



गरियाबंद। जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक मे प्रथम पंचायत मंत्री और राजिम विधायक अमितेश शुक्ल के प्रतिनिधी नरेंद्र देवांगन ने जिले के विकास के सम्बंध मे अनेक प्रश्न उठाए जिसमें प्रमुख रूप से सिंचाई विभाग मे हो रहे नहर लाईनिंग के कार्य जो श्यामनगर, सिंधोरी, देवरी, बरोंडा, कौंदकेरा लाईनिंग कार्य मे हो रहे व्यापक अनियमितता जिसमें घटिया स्तर कीं सामग्री का उपयोग करते हुए गुणवत्ताहीन कार्य किया जा रहा है। मुख्य ठेकेदार पेटी ठेकेदार को कार्य देकर अपना काम करा रहे है, और निर्धारित मापदंड के अनुरूप कार्य नहीं हो रहा है जिससे कार्य मे गुणवत्ता नहीं रहेगी।

इसी प्रकार कोविड 19 कोरोंना के सम्बन्ध में वर्तमान स्तिथि के बारे के स्वास्थ्य विभाग से पुरी जानकारी ली, बात उस समय गरमा गयी जब पुनः खेलगड़िया योजना की ख़रीदी की बात उठायी गई। जब की पूर्व की बैठक मे शिकायत पश्चात जाँच समिति गठित कर जाँच पूर्ण कर ली गयी थी लेकिन दोषियों को बचाने के उद्देश्य से जाँच रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया गया और इसके बदले एक नहीं जाँच समिति बनाकर मामले को दबाया गया है और अब तक दुबारा इसकी जाँच भी नहीं हुयी है, इससे व्यापक भ्रष्टाचार का अंदेशा है, यह मुद्दा पूर्व मे भी विधानसभा मे 3 विधायको ने उठाया था लेकिन इसे दिग्भ्रमित किया गया। इसी के साथ कूटेंना ग्राम मे लम्बे समय से पानी टंकी बनकर तैयार है और गुणवत्ताहीन कार्य होने से इसे चालु नहीं किया गया था जिसपर लोक स्वास्थ्य यंत्रिकी के अधिकारी ने सुचित किया की उसे ठीक कर पानी सप्लाई शुरु कर दी गयी है।

इसे भी पढ़े   हैवानियत की सारी हदे पार, अपनी ही नाबालिग बेटी को पिता ने बनाया हवस का शिकार

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना मे फ़िंगेश्वर से कुंडेल सड़क मार्ग अत्यंत जर्जर हो चुका है और लगभग प्रतिदिन इस पर दुर्घटना होती है जबकि दुर्घटना मे मौतें भी हो चुकी है, चूँकि इस मार्ग पर धान से लदी भारी भरकम गाड़ियाँ दिनभर गुजरती है। जिले में पुनः झोलाछाप डाक्टरो की बाढ़ आने की शिकायत की गयी और इन पर रोक लगाने की माँग की गयी। अधिकतर झोलाछाप डाक्टर एलोपैथी का ज्ञान ना होने के बाद भी एलोपैथी का इलाज करते है जिससे क्षेत्र में मरीज़ों की जाने भी जा चुकी है परंतु प्रशासन मूकदर्शक बना सब देख रहा है।

इसे भी पढ़े   कोरोना थोड़ी मस्ती ,थोड़ी पढ़ाई, बच्चे ले रहे है चित्रकला में उत्साह !

बैठक समय के अभाव मे 5 बजे स्थगित कर दी गयी और सिर्फ़ पालन प्रतिवेदन पर ही चर्चा हुई , कार्ययोजना पर चर्चा नहीं हो पाई। विधायक प्रतिनिधी ने जानकारी मे बताया की जो अधिकारी आज की बैठक मे उपस्थित नहीं हुए है उनके लिए निर्देश जारी किया गया है की 2-3 दिन के अंदर पुनः बैठक आयोजित कर बुलाया जाए। बैठक मे जिला पंचायत अध्यक्षा स्मृति ठाकुर, सीईओ चंद्रकांत वर्मा, राजिम विधायक प्रतिनिधि नरेंद्र देवांगन, विधायक डमरुंधर पुजारी, उपाध्यक्ष संजय नेताम, लोकेश्वरी नेताम, सहित विभागीय अधिकारी मौजूद थे l

इसे भी पढ़े   PM मोदी ने नई संसद भवन का किया शिलान्यास, कहा- ‘नया संसद भवन आत्मनिर्भर भारत के निर्माण का गवाह बनेगा’
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

खबरे अब तक

Advertisement
Advertisement