विदेशी पशु-पक्षी  पालने के है,शौकीन तो जान ले ये जरूरी बात – Channelindia News
Connect with us

Special News

विदेशी पशु-पक्षी  पालने के है,शौकीन तो जान ले ये जरूरी बात

Published

on


राजस्थान|प्रदेश मे विदेशी पशु-पक्षियों को पालने के शौकीन लोगो के लिए वन विभाग ने सूचना जारी किया है,और संबंधित जानकारी भी जारी किया है|राजस्थान वन विभाग ने इसके लिए एक फॉर्मेट भी जारी किया है। कोई भी जीव-जंतु पालने के 6 माह में जानकारी देना अनिवार्य किया गया है।

लोग जो विदेश से लाए या आए जीवों को पाल रहे या उनकी खरीद-फरोख्त का कारोबार कर रहे हैं। उन्हें इस से संबधित जानकारी वन विभाग से साझा करनी होगी। हाल ही में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने ज़िंदा विदेशी जीवों को आयात करने की प्रक्रिया को कारगर बनाने और औपचारिक रूप से इसकी जानकारी जारी करने के लिए एक एडवाइजरी जारी की जिसके बाद आज राजस्थान वन-विभाग की ओर से भी ये एडवाइजरी जारी करते हुए कहा गया है कि राजस्थान में ऐसे जीवों को रखने, पालने, प्रजनन करने या उनके कारोबार की घोषणा करनी होगी और रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

दरअसल वन विभाग ने इसके लिए एक फॉर्मेट जारी किया है, जिसके मुताबिक इसके लिए राज्य के मुख्य वन्य-जीव प्रतिपालक की अनुमति अनिवार्य कर दी गई है। प्रदेश में बहुत से लोग ऐसे जीवों को पालना पसंद करते हैं, जो विदेश से लाए जाते हैं। इनमें ज्यादातर विदेशी नस्ल के पक्षी होते हैं जैसे लव बर्ड्स, मकाऊ तोता, अफ्रीकी तोते, चूहे, विदेशी कछुए, विदेशी छिपकली समेत ऐसे सैंकड़ों प्रजातियों के जीवों का आजकल कारोबार किया जाता है। लोग उन्हें पालतू बनाकर घरों में रखते हैं। लेकिन अब तक उसका कोई रिकॉर्ड नहीं हुआ करता था।

होगा पंजीकरण

बता दे भारतीय नहीं होने की वजह से अभी तक ये वन्य-जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के दायरे से बाहर हैं, लेकिन अब इन विदेशी प्रजातियों के जीवों का लेखा-जोखा भी वन-विभाग अपने पास रखेगा। ऐसे जीवों की आधिकारिक तौर पर घोषणा के लिए वन विभाग सभी को 6 महीने का समय देगा। अगर इस दौरान कोई अपने पास मौजूद ऐसे विदेशी जानवर (Rajasthan Forest Department) की जानकारी छुपाएगा तो उसके पास मौजूद ऐसे वन्य जीवों को गैर-कानूनी माना जाएगा। वन विभाग की ओर जारी की गई एडवाइजरी के मुताबिक इस योजना के जरिये प्रदेश में विदेशी प्रजातियों के जीवित जीवों की एक लिस्ट बनेगी। 6 महीने में सभी को ऐसे जीवों की खुद आगे आकर घोषणा करनी होगी। जिसका वन-विभाग पंजीकरण करेगा।

 

 

 

 

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING4 mins ago

खाद की समस्या को लेकर भाजपा ने दिया धरना, राज्यपाल के नाम एसडीएम को सौपा ज्ञापन

जशपुर(चैनल इंडिया)|  राज्य स्तरीय धरना प्रदर्शन में भारतीय जनता पार्टी जिला जशपुर के आह्वान पर आज 26 जुलाई को पत्थलगांव...

BREAKING31 mins ago

विधायक बृहस्पति सिंह और सिंहदेव विवाद, हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित…

रायपुर(चैनल इंडिया)| टीएस सिंहदेव के विधानसभा से अपनी बात कहकर बाहर निकलने के बाद पहले 10 मिनट के लिए सदन...

BREAKING37 mins ago

सदन से निकलने के बाद अपने बंगले पहुंचे सिंहदेव, बंगले में लगा ताला…

रायपुर(चैनल इंडिया)| बृहस्पति सिंह विवाद मामले में सदन से अपनी बात कहकर निकले मंत्री टीएस सिंहदेव अपने शासकीय आवास पहुंच...

BREAKING48 mins ago

छत्तीसगढ़ : अब गाड़ियों का फोटो फिटनेस QR कोड एम-वाहन एप से…

रायपुर(चैनल इंडिया)| प्रदेश में अब बगैर फिटनेस के वाहन सड़कों पर नहीं दौड़ पाएंगे। बिना परिवहन कार्यालय आए अब वाहन...

BREAKING1 hour ago

बड़ी खबर : टीएस सिंहदेव ने छोड़ा सदन बोले- जब तक मेरी भूमिका तय नहीं होगी तब तक नहीं लौटूँगा…

रायपुर(चैनल इंडिया)|  विधानसभा के दूसरे दिन आज टीएस सिंहदेव औैर बृहस्पति सिंह का मुद्दा फिर छाया रहा। प्रश्नकाल के बाद...

Advertisement
Advertisement