शर्मनाक करतूत :-पहले माँ को बनाया बंधक ,फिर नवजात का शव परिजन को सौंप मांगे 20 हज़ार – Channelindia News
Connect with us

COVID-19

शर्मनाक करतूत :-पहले माँ को बनाया बंधक ,फिर नवजात का शव परिजन को सौंप मांगे 20 हज़ार

Published

on


जहाँ एक तरफ पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है ,तो व्ही इस संकट की घडी में निजी अस्पतालों की मनमानी दिन पर दिन बढ़ते ही जा रही है। मेरठ के गौहर हॉस्पिटल प्रशासन ने डिलीवरी के दौरान नवजात बच्चे की मौत के बाद उसकी मां को ही बंधक बना लिया. उसके बाद नवजात की लाश उसकी नानी को सौंपकर 20 हजार रुपए जमा करने पर ही मां को डिस्चार्ज करने की शर्त रखी। हालांकि, बाद में स्वास्थ्य विभाग के दो अफसरों ने बिल माफ कराकर महिला को डिस्चार्ज कराया।पूरे मामले में जांच कमेटी बना दी गई है.

इसे भी पढ़े   धोखेबाज़ पति : पहले खुद को बताया कोरोना संक्रमित,फिर भर्ती होने का बहाना कर गर्लफ्रेंड के साथ हुआ फरार,पुलिस ने पकड़ा इस अवस्था में

पूरा मामला कुछ इस तरह है ,मेरठ के हापुड़ चुंगी के पास गौहर हॉस्पिटल है. खरखौदा क्षेत्र में गांव पीपलीखेड़ा के मुबारिक ने पत्नी गुलशन को प्रसव पीड़ा होने पर आठ सितंबर को भर्ती कराया. आरोप है कि डॉक्टर की बजाय स्टाफ नर्स से डिलीवरी कराई गई और नवजात बच्चे की मौत हो गई. परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया. उनकी नहीं सुनी गई. थक-हारकर परिजनों ने गुलशन को डिस्चार्ज करने के लिए कहा तो अस्पताल ने 20 हजार रुपए बकाया बिल भरने की शर्त रख दी,परिजनों का आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने स्पष्ट बोल दिया कि 20 हजार रुपए न देने तक गुलशन उनके यहां बंधक रहेगी. गुलशन की मां अपने मृत धेवते को गोद में लेकर कमिश्नरी चौराहा पहुंच गई. वह बुरी तरह रो रही थी. काफी कुरेदने के बाद जब उसने बताया कि बच्चा मृत है, तो सुनकर सबके पैरों तले जमीन खिसक गई. बोली, अस्पताल वाले उनकी बेटी को डिस्चार्ज नहीं कर रहे.मीडिया रिपोर्ट्स के बाद यह मामला सीएमओ डॉ राजकुमार के संज्ञान में आया. सीएमओ के निर्देश पर एसीएमओ डॉ जीके मिश्रा और डिप्टी सीएमओ डॉ अशोक निगम गौहर हॉस्पिटल में पहुंचे. पूरा बिल माफ कराते हुए महिला को डिस्चार्ज कराया.

इसे भी पढ़े   खाद्य मंत्री ने किया मछली नदी में पुल का उद्घाटन
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

balrampur5 hours ago

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय में प्रवेश के लिए तृतीय काउंसलिंग 31 अक्टूबर को

बलरामपुर 27 अक्टूबर 2020।  शैक्षणिक सत्र 2020-21 अंतर्गत बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में कक्षा 6वीं में...

balrampur5 hours ago

समय-सीमा की बैठक सम्पन्न, लंबित प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ निराकरण करने कलेक्टर का निर्देश

बलरामपुर 27 अक्टूबर 2020। कलेक्टर श्याम धावड़े ने समय-सीमा की बैठक में विभिन्न विभागों में लंबित प्रकरणों की समीक्षा की।...

ambikapur6 hours ago

वर्मी कम्पोष्ट खाद बनाने में लापरवाही पर जनपद सीईओ को कारण बताओ नोटिस, साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक सम्पन्न

अम्बिकापुर 27 अक्टूबर 2020। कलेक्टर संजीव कुमार झा ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में...

ambikapur6 hours ago

ई-मेगा कैम्प में बड़े पैमाने पर किया जाएगा प्रकरणों का निराकरण,31 अक्टूबर को होगा आयोजन

अम्बिकापुर 27 अक्टूबर 2020। जिला एवं सत्र न्यायाधीश बी.पी. वर्मा के निर्देशानुसार राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा 31 अक्टूबर को...

channel india6 hours ago

मुख्यमंत्री का निर्देश हुआ बेअसर ,पटवारी मस्त,, किसान त्रस्त

रिपोर्टर एसके द्विवेदी की रिपोर्ट बलरामपुर   | जिले के वाड्रफनगर विकासखंड में पटवारियों का दबदबा देखते ही बन रहा है...

खबरे अब तक

Advertisement