खबरे अब तक

corona covid 19 news

कोविड-19 के संक्रमण से बचने का कारगर उपाय,रखनी होगी सावधानी- अशोक अग्रवाल 



सक्ति|भारत देश में  विगत मार्च 2020 के बाद से  कोविड-19 के  महामारी ने जहां  पूरी दुनिया को अपने चपेट में लिया, तो वही भारत देश भी इस महामारी से जूझता रहा,तथा  लोगों की जागरूकता एवं प्रशासन के दिशा निर्देशों के परिपालन में इस महामारी पर बहुत कुछ हद तक नियंत्रण किया जा सका,किंतु अब पुनः कोविड-19 का दूसरा ट्रेंड बड़ी तेजी से चरम सीमा पर है,उक्तआशय की बाते छत्तीसगढ़ प्रांतीय अग्रवाल संगठन के चेयरमैन, समाजसेवी एवं समाजिक कार्यकर्ता अशोक अग्रवाल रायपुर ने एक भेंटवार्ता में कही है, श्री अग्रवाल ने बताया कि आज हम सभी को  कोरोना के इस दूसरे ट्रेंड से बचने के लिए काफी सावधानियों की आवश्यकता है, एवं विगत महीनों भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने जब लोगों को जागरूक करने के लिए थालियां बजवाई थी, दीपक जलवाए थे, तब बहुत से लोगों ने हल्ला मचाया, और इस पर टिप्पणीया करी की कोरोना कहीं इससे भगाया जाता है,

इसे भी पढ़े   पाकिस्तान की तरफ से LOC पर जबर्दस्त फायरिंग, तीन जवान शहीद, 3 नागरिकों की मौत

परन्तु प्रधानमंत्री ने दृढ़ निश्चय और आत्मविश्वास का परिचय देते हुए, देशवासियों को अपने भरोसे में लिया, और धीरे- धीरे अपने अनुरूप ढालते ही चले गए, जनता हो, जनसेवक हो, कोरोना योद्धा हो, या डॉक्टर्स,सबने जी- तोड़ मेहनत करके कोरोना पर लगभग विजय प्राप्त कर ही ली थी, देश के वैज्ञानिकों ने कोरोना वैक्सीन भी ईजाद कर ली,परंतु राज्य सरकारें अपनी जवाबदारी से विमुख रही, शराबबंदी पर कोई कंट्रोल नहीं , जुलूस- धरने- प्रदर्शन पर कोई कंट्रोल नहीं, यहाँ तक कि पचास- पचास हज़ार दर्शकों के बीच, क्रिकेट का मैच निर्बाध चालु रहा, जैसे छत्तीसगढ़ ने अमृत चख लिया हो, इन प्रशासनिक कमज़ोरियों व ग़लत राजनैतिक निर्णयों से कोरोना को पुन: पैर पसारने/ पनपने का अवसर मिला, चपेट में पूरा प्रदेश आ गया,कोरोना का दूसरा ट्रेंड बहुत तेज़ी से अपनी चरम सीमा की ओर बढ़ रहा है,एवम अब देखना है कि इस सेकंड ट्रेन्ड को कंट्रोल करने में राज्य सरकारें कितनी सजगता से अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर पाती है, अशोक अग्रवाल रायपुर ने कहा कि दूसरों को शिक्षा देना सरल है कार्य कर दिखाना कठिन है