कोरोना के खिलाफ कारगर है डायबिटीज की दवा, इस्तेमाल से कम होता है कोविड का खतरा: स्टडी – Channelindia News
Connect with us

ambikapur c.g.

कोरोना के खिलाफ कारगर है डायबिटीज की दवा, इस्तेमाल से कम होता है कोविड का खतरा: स्टडी

Published

on

देश की राजधानी दिल्ली के सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी टिप्पणी की है. शीर्ष अदालत ने सीमा पर बैठे किसानों को हटाने के लिए केंद्र सरकार से जरूरी कदम उठाने के लिए कहा है. गुरुवार को कोर्ट में नोएडा निवासी एक महिला की याचिका पर सुनवाई हो रही थी, जिसमें दिल्ली-नोएडा के यात्रियों को हुई असुविधा का मुद्दा उठाया गया था. मामले की अगली सुनवाई सोमवार को होगी. सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को साफ कर दिया है कि मामले को लेकर अदालत ने पहले ही व्यवस्था कर दी है. ऐसे में सरकार हमसे ये न कहे कि हम नहीं कर पा रहे हैं. सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि हमने तीन सदस्यीय कमेटी बनाकर किसान नेताओं को बुलाया था और अन्य स्थान पर धरने का प्रस्ताव दिया था. लेकिन उन्होंने अस्वीकार कर दिया. इस पर कोर्ट ने कहा कि आप अदालत में आवेदन क्यों नहीं करते हैं. एपेक्स कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि कानून का पालन करवाना आपका काम है.
अगस्त में सुनवाई के दौरान भी एपेक्स कोर्ट ने कहा था कि सड़के ब्लॉक नहीं की जानी चाहिए. जस्टिस संजय किशन कौल ने कहा था, ‘उन्हें आंदोलन करने का अधिकार हो सकता है, लेकिन सड़कों को इस तरह रोका नहीं जा सकता.’ उस दौरान भी कोर्ट ने केंद्र सरकार और संबंधित राज्यों को हल निकालने के लिए कहा था. याचिकाकर्ता मोनिका अग्रवाल ने कहा था कि शीर्ष अदालत की तरफ से कई निर्देश जारी होने के बाद भी उनका पालन नहीं किया जा रहा है. आगे कहा गया था कि याचिकाकर्ता एक सिंगल मदर हैं, जो स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से जूझ रही हैं. ऐसे में उनका नोएडा से दिल्ली सफर करना बहुत मुश्किल हो गया है. तब उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में कहा गया था कि सरकार किसानों को मनाने की कोशिश कर रही है कि कैसे सुप्रीम कोर्ट के पहले के फैसले को मुताबिक सड़कें रोक कर विरोध करने की अनुमति नहीं है.
इसी महीने सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा के सोनीपत के रहवासियों की याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया था. कोर्ट ने उन्हें पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट जाने की सलाह दी थी. जस्टिस डीवाई चंद्रचूण की अगुआई वाली बेंच ने कहा था, ‘जब हाईकोर्ट स्थानीय हालात से पूरी तरह परिचित है और उन्हें पता है कि क्या हो रहा है, तो हमें इसमें दखल देने की जरूरत नहीं है. हमें उच्च न्यायालयों पर भरोसा करना चाहिए.’

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING20 mins ago

CM बघेल ने कहा- आज उम्मीद है लखनऊ एयरपोर्ट में बैठना नहीं पड़ेगा, जशपुर की घटना पर बोले बार-बार सवाल उठाकर माहौल खराब नहीं करना चाहिए…

रायपुर(चैनल इंडिया)।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दो दिवसीय उत्तरप्रदेश दौरे के लिए रवाना हो गए है। इसके पहले उन्होंने एयरर्पोट पर मीडिया...

BREAKING32 mins ago

नगरपंचायत पांडातराई में तालाब पर अवैध प्लाटिंग करने का आरोप, कलेक्टर से हुई शिकायत

कवर्धा(चैनल इंडिया)|जिले में सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा का खेल तो चल ही रहा है लेकिन माफियाओं ने सार्वजनिक उपयोग...

BREAKING47 mins ago

सक्ती शहर के रामअवतार ट्रेडर्स में दीपावली पर्व को लेकर चलाई जा रही डबल धमाका स्कीम

सक्ती(चैनल इंडिया)|शहर के स्टेशन रोड में स्थित कपड़ों की प्रतिष्ठित दुकान रामअवतार ट्रेडर्स में दीपावली पर्व को लेकर डबल धमाका...

BREAKING50 mins ago

सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 3 नक्सली ढेर, AK-47 समेत कई हथियार बरामद

बीजापुर(चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़-तेलंगाना बॉर्डर पर सोमवार की सुबह सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में सुरक्षाबलों...

BREAKING54 mins ago

शिवसेना ने पेट्रोल-डीजल मूल्य वृद्धि के खिलाफ फूंका पेट्रोलियम मंत्री का पुतला

धरसीवां/रायपुर(चैनल इंडिया)|औद्योगिक क्षेत्र के सिलतरा सांकरा शिवसेना के भारतीय कामगार सेना के द्वारा पेट्रोल, डीज़ल मूल्यवृद्धि के खिलाफ रैली निकालकर...

Advertisement
Advertisement