Dev Uthani Ekadashi 2021: देवउठनी एकादशी आज, जानिए भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के अचूक उपाय… – Channelindia News
Connect with us

BREAKING

Dev Uthani Ekadashi 2021: देवउठनी एकादशी आज, जानिए भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के अचूक उपाय…

Published

on

सनातन परंपरा में भगवान विष्णु की साधना-आराधना को समर्पित एकादशी तिथि का बहुत महत्व है. साल भर में पड़ने वाली 24 एकादशी में देवउठनी एकादशी या फिर कहें देवोत्थान एकादशी (Dev Uthani Ekadashi 2021) का सबसे ज्यादा महत्व है, क्योंकि इसी पावन तिथि पर भगवान श्री हरि विष्णु चार माह की योग निद्रा के बाद जागते हैं. इस पावन तिथि को प्रबोधिनी एकादशी (Prabodhini Ekadashi 2021) भी कहते हैं. देव उठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा करने के बाद सारे मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाते हैं. भगवान विष्णु की कृपा पाने के लिए यह सबसे पावन तिथि है. आइए जानते हैं कि देव उठनी एकादशी के दिन श्री हरि विष्णु का आशीर्वाद पाने के लिए क्या करना और क्या नहीं करना चाहिए.
भगवान विष्णु की कृपा पाने के लिए देवउठनी एकादशी के दिन स्नान करते समय पानी में एक चुटकी हल्दी डाल लें. इसके बाद स्नान करें और पीले रंग के वस्त्र धारण करके भगवान विष्णु की विधि-विधान से साधना करें.
देवउठनी एकादशी के दिन श्री हरि का सबसे पहले गाय के दूध से फिर शंख में गंगाजल भर कर स्नान कराएं. इसके बाद उन्हें पीले रंग के वस्त्र अर्पित करें.
देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा करते समय उन्हें केसर अथवा पीले चंदन अथवा हल्दी का तिलक लगाएं. साथ ही साथ भगवान विष्णु के प्रिय पीले रंग के फूल और पीले फल चढ़ाएं. मान्यता है कि इस उपाय को करने से भगवान विष्णु शीघ्र ही प्रसन्न होकर साधक को मनचाहा आशीर्वाद देते हैं.
यदि आपके आस-पास भगवान विष्णु का मंदिर न हो तो आप भगवान विष्णु के अवतार भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति की भी पूजा करके देव उठनी एकादशी का पुण्य फल प्राप्त कर सकते हैं. ईश्वर की साधना-आराधना में मंत्र जप का विशेष महत्व होता है. ऐसे में आज देवोत्थान एकादशी के दिन भगवान विष्णु की कृपा पाने के लिए ‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः’ मंत्र का जप जरूर करें. यदि संभव हो तो इस मंत्र का जप तुलसी या पीले चंदन की माला से करें.
मान्यता है कि पीपल के पेड़ में भगवान विष्णु का वास होता है. ऐसे में आज देवउठनी एकादशी के दिन पीपल के पेड़ को जल देना न भूलें. मनोकामना को पूरा करने के लिए आज पीपल पर मीठा जल चढ़ाएं और उसकी परिक्रमा करें.
यदि आप देवउठनी एकादशी की पूजा का पूर्ण फल प्राप्त करना चाहते हैं तो आज भगवान विष्णु की पूजा में शुद्ध घी का दीया जरूर जलाएं. इसी तरह भगवान विष्णु को चढ़ाया जाने वाला प्रसाद तब तक अधूरा है, जब तक आप उनकी प्रिय तुलसी नहीं चढ़ाते हैं. गौरतलब है कि तुलसी को विष्णुप्रिया कहा गया है.
भगवान विष्णु की पूजा से जुड़ी इस पावन तिथि पर चावल, तामसिक चीजों, नशे आदि का सेवन नहीं करना चाहिए. देव उठनी एकादशी व्रत करने वाले साधक को ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए अपशब्द कहने और क्रोध करने से बचना चाहिए. व्रत करने वाले व्यक्ति को भूलकर भी दिन में नहीं सोना चाहिए.

 

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING53 mins ago

यहां के कलेक्टर ने ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर लगाया प्रतिबंध

धमतरी(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकायों के उप निर्वाचन 2021 सम्पन्न कराने के लिए घोषित कार्यक्रम को...

BREAKING1 hour ago

कांग्रेस नेता ने खड़ी फसलो पर चलवाई JCB किसानों में दिखा आक्रोश…

जबलपुर(चैनल इंडिया)। प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में कांग्रेस नेता जितेन्द्र अवस्थी की दबंई सामने आई है। किसानों पर अवैध कब्जा...

BREAKING3 hours ago

CM योगी ने विपक्ष पर किया हमला, कहा-जिन्ना के अनुयायी नहीं समझेंगे गन्ने की मिठास…

गोंडा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को गोंडा जिले में 450 रुपये करोड़ की लागत से 65.61...

BREAKING3 hours ago

बड़ी कामयाबी: छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण की दिशा में देश में अव्वल

रायपुर (चैनल इंडिया)| छत्तीसगढ़ ने वायु, जल प्रदूषण, ठोस कचरे के प्रबंधन और वनों के संरक्षण और संवर्धन की दिशा...

BREAKING3 hours ago

पत्नी के सामने घर में घुसकर पुलिसकर्मी की हत्या, आरोपी फरार…

जगदलपुर (चैनल इंडिया)| बीजापुर जिले में अज्ञात लोगों ने भैरमगढ़ थाना में पदस्थ सहायक आरक्षक की हत्या कर दी है।...

Advertisement
Advertisement