दिल्ली की शादियों में बस 50 लोग ही हो सकेंगे इकट्ठा, CM केजरीवाल के प्रस्ताव को LG की मंजूरी – Channelindia News
Connect with us

channel india

दिल्ली की शादियों में बस 50 लोग ही हो सकेंगे इकट्ठा, CM केजरीवाल के प्रस्ताव को LG की मंजूरी

Published

on


अब नए नियम के मुताबिक, दिल्ली में किसी भी शादी समारोह में 50 से ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते. अभी तक इकट्ठे होने वाले लोगों की संख्या 200 थी. उपराज्यपाल ने बुधवार को इसकी मंजूरी दे दी है |

नई दिल्ली | दिल्ली में कोरोनावायरस (Delhi Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए अरविंद केजरीवाल सरकार ने कई नए कदम उठाते हुए शादियों में मेहमानों की संख्या घटाने का जो प्रस्ताव भेजा था, उसे उपराज्यपाल अनिल बैजल ने स्वीकार कर लिया है. यानी कि अब नए नियम के मुताबिक, दिल्ली में किसी भी शादी समारोह में 50 से ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते. अभी तक इकट्ठे होने वाले लोगों की संख्या 200 थी  |

इसे भी पढ़े   श्रमिक स्पेशल ट्रेन से सरगुजा संभाग के 568 प्रवासी श्रमिक पहुंचे अम्बिकापुर रेल्वे स्टेशन श्रमिकों ने जताया मुख्यमंत्री के प्रति आभार, स्वास्थ जांच के बाद बसों से किए गए क्वारेंटाइन के लिए रवाना

 

दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने यह संख्या घटाकर 50 कर दी है. केजरीवाल सरकार ने मंगलवार को डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया था कि यह प्रस्ताव उपराज्यपाल के पास मंजूरी के लिए भेजा गया है, उपराज्यपाल ने बुधवार को इसपर मंजूरी दे दी है.

बता दें कि केजरीवाल ने बताया था कि उनकी सरकार शादियों में इकट्ठा होने वाले मेहमानों की संख्या को कम करने और कोविड हॉट-स्पॉट में बदल रहे बाजारों को बंद करवाने का प्रस्ताव रखा था, हालांकि, ट्रेडर्स बॉडी और बैंक्वेट हॉल असोसिएशन की तरफ से इसपर विरोध जताया गया था. शादी समारोहों में सिर्फ 50 लोगों को इजाज़त देने के दिल्ली सरकार के प्रस्ताव पर बैंक्वेट हाल एसोसिएशन ने गृह मंत्रालय को पत्र लिखा और कहा था अधिकतम गैदरिंग की संख्या 200 से घटाकर 50 करने पर बैंक्वेट हाल इंडस्ट्री को नुकसान होगा और ये इंडस्ट्री को अपंग बना देगा |

इसे भी पढ़े   *रायपुर मे तीन नए कोरोना के मरीज मिले .... इन स्थानों से मिले मरीज़ , 24 घंटे मे राजधानी मे कुल 5 मामले आए सामने

पत्र में कहा गया है कि ’25 नवंबर से शादी का सीज़न शुरू हो रहा है और अब सरकार ने समारोह में शामिल होने वाली सीमा को 200 से घटाकर 50 करने का फैसला किया है, यह मनमाना फैसला करते हुए हमारा (बैंक्वेट हॉल इंडस्ट्री) का पक्ष भी नहीं जाना गया. हमारा व्यापार सीज़नल है और कई छोटे क्षेत्र के लोग इससे जुड़े हुए हैं. अगर ऐसा फैसला लिया जाता है तो उनकी रोजी-रोटी पर बन आएगी. इसलिए विनती है कि महामारी से बचने के उपाय तो किए जाएं लेकिन साथ-साथ बैंक्वेट इंडस्ट्री से जुड़े लोगों की रोजी-रोटी का भी ध्यान रखा जाए.’

इसे भी पढ़े   राष्ट्रीय पुरस्कार पाने वाली यह फिल्म इस दिन होगी रिलीज, जानें

हालांकि, अब एलजी की मंजूरी के साथ दिल्ली में शादी समारोहों में 50 लोगों को ही शामिल होने का आदेश लागू हो गया है. वैसे बाजारों को बंद किए जाने के मामलें अभी तक कोई फैसला नहीं आया है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने यह साफ किया है कि लॉकडाउन जैसी कोई बात नहीं है, बस कुछ जगहों पर पब्लिक रिस्ट्रिक्शन पर विचार किया जा रहा है |

Advertisement
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING6 hours ago

भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चों के पुनर्वास के लिए मुहिम चलाएगा छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग

रायपुर: राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने प्रदेश के चौक चौराहों पर बाल भिक्षावृत्ति रोकने और इसमें लिप्त बच्चों के...

channel india6 hours ago

लालू यादव को आज भी नहीं मिली जमानत, अब 11 दिसंबर को होगी अगली सुनवाई 

राँची: चारा घोटाला के चार मामलों में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की जमानत...

BREAKING7 hours ago

बड़ी खबर: सरकार झुकी, किसानों को मिली दिल्ली आने की इजाजत

नई दिल्ली: केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के तेवर के आगे सरकार झुक गई और किसानों को दिल्ली...

channel india7 hours ago

महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक ने की जशपुर में 19 प्रकरणों की सुनवाई, कहा- ‘किसी भी पीड़ित महिला के साथ नहीं होगा अन्याय’

जशपुरनगर (चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग के अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक आज जशपुर जिले के महिलाओं के उत्पीडन से...

channel india7 hours ago

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर मंडल में मनाई गई डॉ. हरिवंश राय बच्चन की जयंती

रायपुर: दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर मंडल आज 27 नवम्बर को राजभाषा विभाग, रायपुर द्वारा हिंदी के प्रख्यात साहित्यकार डॉ....

खबरे अब तक

Advertisement