सरेंडर कर चुके नक्सलियों के लिए देश का पहला हब तैयार, 20 मई को सीएम बघेल करेंगे उद्घाटन - Channelindia News
Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

सरेंडर कर चुके नक्सलियों के लिए देश का पहला हब तैयार, 20 मई को सीएम बघेल करेंगे उद्घाटन

Published

on

Bastar News: देश में पहली बार सरेंडर नक्सलियों और नक्सल पीड़ितों के लिए हब बनकर तैयार हो चुका है. हब छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में बनाया गया है. लगभग 30 एकड़ में बनाये गए हब में सरेंडर नक्सली और नक्सल पीड़ितों के परिवार रह सकेंगे. जीवन यापन और रोजगार का अवसर मुहैया कराने के लिए कॉम्प्लेक्स, ट्रेनिंग सेंटर बनाकर भी दिए जाएंगे. हब का नाम शहीद महेंद्र कर्मा कॉलोनी के नाम से रखा जा रहा है.

लोन वर्रा टू हब का 20 मई को सीएम बघेल करेंगे उद्घाटन

बस्तर में नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में पुलिस को लगातार सफलता मिल रही है. सभी नक्सल प्रभावित जिलों में स्थानीय नक्सलियों के साथ ही बाहरी नक्सलियों को सरेंडर करने का मौका दिया जा रहा है. दंतेवाड़ा में पिछले एक साल से लोन वर्राटू अभियान (घर वापस आइए) की शुरुआत की गई है.  लोन वर्रा टू अभियान के तहत अब तक 500 से अधिक नक्सली सरेंडर कर चुके हैं. नक्सलियों को पुनर्वास नीति का लाभ देने के लिए विशेष केंद्रीय सहायता मद से लगभग 3 करोड़ की राशि खर्च कर लोन वर्राटू हब बनाया गया है. लोन वर्रा टू हब दंतेवाड़ा शहर के पास ही बनाया गया है. पिछले डेढ़ साल से तैयार हो रहे हब में सरेंडर नक्सली और नक्सल पीड़ित परिवारों को हर तरह से बेहतर जीवन यापन की सुविधा मिलेगी. नक्सल प्रभावितों को एक ही जगह पर आवास से लेकर रोजगार देने का मॉडल देश के छत्तीसगढ़ राज्य में ही तैयार किया गया है. दंतेवाड़ा एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने बताया कि आगामी 20 मई को प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लोन वर्रा टू हब का उद्घाटन करेंगे.

एक ही जगह पर आवास से लेकर रोजगार देने की सुविधा

दंतेवाड़ा कलेक्टर दीपक सोनी ने बताया कि परिसर में कमेटी के तहत आवास आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. ज्यादा आवेदन होने पर लॉटरी पद्धति से चयन किया जाएगा. आवेदनों की संख्या कम होने पर बचे आवास को सरेंडर नक्सलियों को दिया जाएगा. एक ही जगह पर आवास से लेकर रोजगार भी दिया जाएगा. कलेक्टर ने बताया कि परिसर में रहने वाले नक्सल पीड़ित और सरेंडर नक्सलियों को शासन की तमाम योजनाओं से जोड़ा जाएगा. 30 एकड़ के टाउनशिप में 36 आवास, 20 दुकानें, 20 शेड निर्माण, सड़क, गार्डन, पार्किंग और पानी की सुविधा मिलेगी और एक आंगनबाड़ी केंद्र भी बनाया जाएगा. वर्राटू हब में बने 36 आवासों के लिए 86 आवेदन आए हैं. आवास पाने के नियम भी बनाए गए हैं. नियमों में प्राथमिकता नक्सल पीड़ित परिवारों को दी जा रही है. बताया जा रहा है कि आवास 3 साल के लिए आबंटित होगा. परिवार के किसी भी सदस्य का शासकीय सेवा में आने और शासकीय आवास आंबटन होने पर एक महीने बाद मकान खाली करना होगा. तैयार हो चुके हब से नक्सल पीड़ित परिवारों और सरेंडर नक्सलियों में काफी खुशी है.

Advertisement
RO No.- 11641/7

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

खबरे छत्तीसगढ़6 hours ago

झीरम घाटी हमला: नक्सलियों के दिये जख्म के 9 साल पूरे, शहीदों की याद में बने स्मारक, पर न्याय अब भी अधूरा

25 मई 2013 को छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में नक्सलियों ने कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा में हमला कर 32 लोगों...

खबरे छत्तीसगढ़8 hours ago

शहीद पति की प्रतिमा से लिपट कर रो पड़ी पत्नी

रायपुर। आज ही के दिन हुए झीरम हमले की कटु स्मृतियां शहीदों के परिजनों और पूरे प्रदेश के लोगों के...

खबरे छत्तीसगढ़9 hours ago

जयसवाल निको इंडस्ट्रीज के विस्तार जनसुनवाई में भारी विरोध अधिकारियों ने बीच में ही रोक दी जनसुनवाई…देखिये वीडियो

धरसीवां- औद्योगिक क्षेत्र सिलतरा के जयसवाल निको प्लांट में उद्योग विस्तार को लेकर जन सुनवाई रखी गई थी जिसमें बड़ी...

खबरे छत्तीसगढ़9 hours ago

बीजापुर में सीआरपीएफ जवान ने इलेक्ट्रिक ब्लेड से गला काटकर की आत्महत्या

छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित बीजापुर जिले के जैतालूर मार्ग में स्थित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 170 बटालियन के...

खबरे छत्तीसगढ़9 hours ago

झीरम घाटी शहीद मेमोरियल में शहीदों के परिजनों से मिले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

जगदलपुर। झीरम घाटी शहीद मेमोरियल में शहीदों के परिजनों से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुलाकात की और शहीदों के परिजनों...

Advertisement