सामुदायिक स्वास्थ अधिकारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

सामुदायिक स्वास्थ अधिकारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

कोंडागांव से संवाददाता मुकेश राठौर की रिपोर्ट

कोंडागांव। कोंडागांव जिले के पांचों विकासखंड के अंतर्गत 195 आयुष्मान आरोग्य मंदिर में कार्यरत 138 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी अपनी तीन सूत्रीय जायज मांगो के संबंध में, जिसमे सितंबर 23 से आज दिनांक तक प्रोत्साहन राशि का भुगतान /गृह जिले में स्थानांतरण और महिला कर्मचारी को अपने मुख्यालय से 8 किलोमीटर दूरी पर निवास कर सेवा देने /कांकेर  जिले के पवन वर्मा को बिना किसी सूचना के बर्खास्त करने पर बहाल करने के लिए  छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ कर्मचारी संघ के प्रांतीय आव्हान पर दिनांक 21 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं।

पूर्व आग्रह उपरांत हड़ताल पर

आंदोलन पर जाने के पूर्व क्रमशः विभागीय मंत्री विभाग के राज्य एवम जिले स्तर के सभी अधिकारियों को अपनी जायज मांगो के संबंध में भी ज्ञापन देकर अविनय निवेदन कर सूचना भी दिए है। इसके बावजूद भी शासन प्रशासन से कोई पहल नहीं किया गया जिससे अपनी मांगों को पूर्ण करवाने के लिए आंदोलन की राह पर निकल पड़े है।

स्वास्थ्य कार्यों में पड़ रहा असर

केंद्र की प्रतिदिन की ओपीडी प्रभावित हो रही। साथ ही राष्ट्रीय स्वास्थ कार्यक्रम के अंतर्गत सभी  स्वास्थ सेवाएं जिसमें गर्भवती महिला की जांच / प्रसव संबंधी कार्य /प्रसव उपरांत जांच  एवं दी जाने वाले सेवा /नवजात शिशु देखभाल /किशोर स्वास्थ सेवा /परिवार कल्याण कार्यक्रम/संचारी एवम गैर संचारी रोग का जांच एवम उपचार /मानसिक स्वास्थ्य जांच /सामान्य नेत्र संबंधी जांच एवम उपचार /दंत रोग /आपात कालीन सेवाए / वृद्धजनों की जांच उपचार  एचबी जांच /सिकलिन जांच आयुष्मान कार्ड निर्माण कार्य के साथ साथ सभी ऑनलाइन इंट्री पूरे जिले में ढप्प है।

क्या कहते हैं जिलाध्यक्ष

सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष दीपक वर्मा ने बताया कि छत्तीसगढ़ स्वास्थ कर्मचारी संघ के बैनर पर हम सभी कोंडागांव जिले के सभी विकासखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी विकासखंड के अध्यक्ष कोंडागांव से ऋचा पात्र केशकाल से अर्चना साहू माकड़ी डोलोरोसा मिंज विश्रामपुरी से गौरव सेन फरसगाव से मोनिका नेताम एवम हेमराज नेताम अपनी विकासखंड के सभी सामुदायिक अधिकारी के साथ डीएन के ग्राउंड के मंच पर अपनी उपस्थित देकर आंदोलन में अपनी उपस्थिति देकर मांगो पर अपनी सहमति दी है। इसी क्रम में 18/19/20 जून तीन दिवस सभी ऑनलाइन रिपोर्टिंग का कार्य सभी जिले के बंद कर अपनी मांग के संबध में  विरोध किया गया है इसके पश्चात शासन से किसी भी प्रकार की सकारात्मक पहल न होने की स्तिथि में 21 जून से अनिश्चित कालीन आंदोलन की पर है और जब तक मांग पूरी नहीं होती तब तक आंदोलन पर डटे रहने की बात कही है साथ आज आंदोलन के प्रथम दिवस पर छत्तीसगढ़ स्वास्थ संघ के जिला अध्यक्ष अनिल वैध सचिव संजय नायडू  सह सचिव नागेश नाइक एवं अन्य जिला टीम के सदस्य  उपस्थित होकर मांग को समर्थन भी दिया है।