ग्रीष्मकालीन शिविर के प्रथम दिन बच्चों ने सिखी शतरंज से लेकर डांस,फोटोग्राफी और नाटक की बारीकियां

ग्रीष्मकालीन शिविर के प्रथम दिन बच्चों ने सिखी शतरंज से लेकर डांस,फोटोग्राफी और नाटक की बारीकियां

कोंडागांव से संवाददाता मुकेश राठौर की रिपोर्ट

बच्चों को जिला कार्यालय सहित नारियल विकास बोर्ड एवं शासकीय रोपणी का कराया गया भ्रमण

कोण्डागांव। ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान छात्र-छात्राओं को समृद्ध और आकर्षक अनुभव प्रदान करने, कौशल विकास, शारीरिक गतिविधियां, रचनात्मक अभिव्यक्ति, शैक्षणिक संवर्धन, बाहरी रोमांच, सांस्कृतिक और वैश्विक जागरूकता, आत्मविश्वास और स्वतंत्रता का निर्माण स्व-कौशल विकसित करने के उद्देश्य से 14 से 20 मई तक जिला स्तरीय आवासीय पीएम विद्यालयीन ग्रीष्मकालीन शिविर का आयोजन कलेक्टर कुणाल दुदावत के मार्गदर्शन में शिक्षा विभाग द्वारा किया जा रहा है।

विभिन्न खेलों का किया समायोजन

इस ग्रीष्मकालीन शिविर में बच्चों को भाषण, वाद-विवाद, ड्राईंग, पेंटिंग, संगीत सहित विशेष कौशल के रूप में फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी, ड्रोन बनाना, नाट्य-थिएटर, क्लासिकल डांस, वेस्टर्न डांस सिखाया जा रहा है। इस शिविर के प्रथम दिन बच्चों को प्रशिक्षक गुप्तेश्वर नाग, अनिश यादव एवं सौरभ मडामे द्वारा शतरंज के खेल की आधारभूत नियमों की जानकारी दी गयी। बैडमिंटन के प्रशिक्षक राकेश दीवान, चंदन मिनोचा, दीपक मिनोचा एवं त्रिदर्शी मडामें द्वारा बच्चों को बैडमिंटन में प्रयोग होने वाली शब्दावलियों, पॉइंट सिस्टम सहित विभिन्न आधारभूत ज्ञान उन्हें प्रदान किया गया।


नृत्य कलाओं में शास्त्रीय नृत्य काजल अंसारी एवं मालती ध्रुव तथा पाश्चात्य नृत्य ब्रजेश पवार एवं निरू सिंह द्वारा बच्चों को सिखाया गया। खेल प्रतियोगिताओं में बैडमिंटन, स्वीमिंग, टेबल टेनिस का प्रशिक्षण प्रारंभ किया गया। वहीं पाटलीपुत्र आवर्ड से सम्मानित प्रशिक्षक धर्मेंद्र यदु एवं नीलकंठ शार्दुल द्वारा बच्चों को नाटक के प्रारंभिक चरणों का ज्ञान देते हुए नाटक की बारीकियों के संबंध में जानकारी दी गयी। बच्चों में शारीरिक कौशल के अतिरिक्त मानसिक कौशल के विकास हेतु वाद विवाद एवं भाषण के संबंध में बच्चों को ज्ञान बृजेश तिवारी, प्रांजल गुप्ता, मधु तिवारी, अंकित गुप्ता, शीला शार्दुल, गोविंदराज नायडू द्वारा दिया गया।

बच्चों को चित्रकला का ज्ञान हर्षदीप द्वारा दिया गया। वहीं संगीत की प्रारंभिक जानकारी बच्चों को जय किशन मारकण्डेय, घनश्याम यादव एवं तरूण चौहान द्वारा दिया गया। इसके अतिरिक्त विज्ञान के प्रदर्शन के रूप में ड्रोन बनाने के लिए प्रारंभिक जानकारी एवं उनमें प्रयुक्त होने वाले उपकरणों की जानकारी बच्चों को विरेन्द्र दीवान, दिव्या वर्मा एवं गौतम पाहुजा द्वारा दी गई। फोटोग्राफी के विशिष्ठ कौशल का ज्ञान एवं फोटोग्राफी कैमरों की विशिष्ठताएं बच्चों को प्रेम यादव एवं सिकंन्दर खान द्वारा सिखाई गई।

विभागों में कराया भ्रमण 

बच्चों को प्रशासनिक कार्यालयों एवं प्रशासन की गतिविधियों की जानकारी देने हेतु बच्चों को जिला कार्यालय के संयुक्त कार्यालय भवन का भ्रमण कराया गया। जिसमें बच्चों को कलेक्टर कार्यालय से लेकर शिक्षा विभाग, महिला बाल विकास विभाग, आदिम जाति कल्याण विभाग, श्रम विभाग, खनिज विभाग, राजस्व विभाग, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, सभा कक्ष, संपर्क केन्द्र, निर्वाचन शाखा, जिला कोषालय, जिला पंचायत एवं अन्य कार्यालयों का भ्रमण कराया गया। इसके अलावा कोपाबेड़ा स्थित शासकीय रोपणी में उद्यानिकी विभाग के अधिकारी लोकेश धु्रव द्वारा उद्यान विकास की जानकारी दी गयी। कोपाबेड़ा के नारियल विकास बोर्ड में बच्चों को नारियल के साथ कोको, लिची, काली मिर्ची आदि की कृषि के संबंध में जानकारी दी गई।
उल्लेखनीय है कि इस आवासीय ग्रीष्मकालीन शिविर में पीएम शालाओं के विद्यार्थी शामिल होंगे। इन शिविरों का आयोजन शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय एवं प्री मैट्रिक बालक छात्रावास कोण्डागांव में किया जा रहा है।