93 साल के हुए लाल कृष्ण आडवाणी, पीएम मोदी ने खिलाया केक और पैर छूकर लिया आशीर्वाद – Channelindia News
Connect with us

channel india

93 साल के हुए लाल कृष्ण आडवाणी, पीएम मोदी ने खिलाया केक और पैर छूकर लिया आशीर्वाद

Published

on


दिल्ली | पीएम मोदी ने वरिष्ठ नेता के साथ जन्मदिन के मौके पर केक काटा और उन्हें खिलाया। आडवाणी ने भी पीएम मोदी को केक खिलाया। इस दौरान आडवाणी से मिलने आए नेताओं ने उनके संग बैठकर चर्चा भी की।

इससे पहले, पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, भाजपा को जन-जन तक पहुंचाने के साथ देश के विकास में अहम भूमिका निभाने वाले श्रद्धेय श्री लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई। वे पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं के साथ ही  देशवासियों के प्रत्यक्ष प्रेरणास्रोत हैं। मैं उनकी लंबी आयु और स्वस्थ जीवन की प्रार्थना करता हूं।

इसे भी पढ़े   कैबिनेट सचिव ने राज्यों के मुख्य सचिव व शीर्ष अफसरों की ली वीडियो कांफ्रेंसिंग…इन मुद्दो पर हुई चर्चा .

बता दें कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और देश के सातवें उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी का जन्म पाकिस्तान के कराची में 8 नवंबर, 1927 को एक हिंदू सिंधी परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम किशनचंद आडवाणी और मां का नाम ज्ञानी देवी है। उनके पिता पेशे से एक उद्यमी थे।

शुरुआती शिक्षा उन्होंने कराची के सेंट पैट्रिक हाई स्कूल से ग्रहण की थी। इसके बाद उन्होंने हैदराबाद, सिंध के डीजी नेशनल स्कूल में दाखिला लिया। विभाजन के समय उनका परिवार पाकिस्तान छोड़कर मुंबई आकर बस गया। यहां उन्होंने लॉ कॉलेज ऑफ द बॉम्बे यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई की। उनकी पत्नी का नाम कमला आडवाणी है। उनके बेटे का नाम जयंत आडवाणी और बेटी का नाम प्रतिभा आडवाणी है।

इसे भी पढ़े   अम्बिकापुर के 15 वार्ड कंटेनमेंट जोन घोषित, कंटेनमेंट जोन में सभी दुकाने एवं वाणिज्यिक प्रतिष्ठान पूर्णतः बंद रहेंगे

लाल कृष्ण आडवाणी 2002 से 2004 के बीच अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में भारत के सातवें उप प्रधानमंत्री का पद संभाल चुके हैं। इससे पहले वह 1998 से 2004 के बीच भाजपा के नेतृत्व वाले नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (एनडीए) में गृहमंत्री रह चुके हैं।

इसे भी पढ़े   जग्गन्नाथ रथ यात्रा मे शामिल हुये विधायक विनय भगत, वर्षों पुरानी परंपरा से प्रभावित होकर मंदिर प्रांगण के लिए दिए तीन लाख

वह उन लोगों में शामिल हैं जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी की नींव रखी थी। 10वीं और 14वीं लोकसभा के दौरान उन्होंने विपक्ष के नेता की भूमिका बखूबी निभाई है।  उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जरिए अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। 2015 में उन्हें भारत के दूसरे बड़े नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।
 

Advertisement
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING7 hours ago

भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चों के पुनर्वास के लिए मुहिम चलाएगा छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग

रायपुर: राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने प्रदेश के चौक चौराहों पर बाल भिक्षावृत्ति रोकने और इसमें लिप्त बच्चों के...

channel india7 hours ago

लालू यादव को आज भी नहीं मिली जमानत, अब 11 दिसंबर को होगी अगली सुनवाई 

राँची: चारा घोटाला के चार मामलों में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की जमानत...

BREAKING7 hours ago

बड़ी खबर: सरकार झुकी, किसानों को मिली दिल्ली आने की इजाजत

नई दिल्ली: केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के तेवर के आगे सरकार झुक गई और किसानों को दिल्ली...

channel india7 hours ago

महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक ने की जशपुर में 19 प्रकरणों की सुनवाई, कहा- ‘किसी भी पीड़ित महिला के साथ नहीं होगा अन्याय’

जशपुरनगर (चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग के अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक आज जशपुर जिले के महिलाओं के उत्पीडन से...

channel india7 hours ago

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर मंडल में मनाई गई डॉ. हरिवंश राय बच्चन की जयंती

रायपुर: दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर मंडल आज 27 नवम्बर को राजभाषा विभाग, रायपुर द्वारा हिंदी के प्रख्यात साहित्यकार डॉ....

खबरे अब तक

Advertisement