चाणक्य नीति: आपके अंदर है ये खास गुण तो प्रेम में कभी नहीं होंगे असफल, वैवाहिक जीवन भी रहेगा सुखमय - Channelindia News
Connect with us

देश-विदेश

चाणक्य नीति: आपके अंदर है ये खास गुण तो प्रेम में कभी नहीं होंगे असफल, वैवाहिक जीवन भी रहेगा सुखमय

Published

on

कहते है कि कोई व्यक्ति काम में कितना सफल है इसे देखकर इस बात का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता कि वो प्रेम में कितना सफल होगा.  वहीं, चाणक्य नीति में कुछ ऐसे गुणों को बताया गया है जिन्हें अपनाने वाला पुरुष प्रेम में कभी असफल नहीं होता. इंसान के लिए प्रेम और वैवाहिक रिश्ता अहम और पवित्र माना गया है. वहीं, इंसान की कोशिश रहती है कि इन दोनों रिश्ते में वह कभी नाकाम न हो. तो आइए, जानते हैं आचार्य चाणक्‍य ने मनुष्‍य के वैवाहिक जीवन और साथ ही प्यार वाले रिश्ते पर अपनी राय रखी है.

1. महिलाओं का सम्मान

महिला और पुरुषों के संबंधों को सफल बनाने के लिए पुरुषों में जो सबसे खास गुण होना चाहिए वो है महिलाओं का सम्मान. पत्नी और प्रेमिका यह देखकर बहुत अधिक खुश होती है कि उनका साथ हर तरह की महिला का सम्मान करता है. प्रेमिका अपने प्रेमी के इस भाव को देखकर सोचती है कि अगर उसका पति या पार्टनर जब अन्य महिलाओं को इतना सम्मान देता है तो उसके लिए उनके मन में कितना प्रेम होगा.

2. रिश्ते में भरोसा

अगर किसी रिश्ते में भरोसा नहीं हो वो बिना किसी पहिए की गाड़ी जैसा ही है. चाणक्य के मुताबिक, अगर एक व्यक्ति प्रेमिका या प्रेमी के अलावा किसी भी पराई महिला स्त्री को देखना या उसीक तरफ आकर्षित नहीं होता है तो वो हमेशा आपका होकर रहेगा और उसे आप से ही प्यार रहेगा. ऐसा करने वाले प्रेमी के मन में दिखावा नहीं होता है और ये गुण उनके रिश्ते में विश्वास पैदा करता है.
प्रेमिका को सुरक्षा देने वाला

3. रक्षा करना

जो पुरुष दूसरे पुरुषों से अपनी प्रेमिका की रक्षा करता है उसकी प्रेमिका उसे छोड़कर कभी नहीं जाती, क्योंकि उसके मन में सुरक्षा का भाव रहता है. माना जाता है कि एक प्रेमिका या पत्नी अपने प्रेमी में अपने पिता को ढूंढती है, इसलिए वो सुरक्षा और परवाह की उम्मीद लगाए रहती है. हर पत्नी अपने पति में पिता की एक छाया देखती है. ऐसे में अगर पत्नी में सुरक्षा का भाव मिले तो वो अपके साथ हमेशा खुशी से रहती

4. प्रेमिका या पत्नी की संतुष्टि

जो पुरुष अपनी प्रेमिका को संबंध बनाते समय पूरा प्रेम और संतुष्ट करता है, ऐसी प्रेमिका हमेशा खुश रहती है। चाणक्य कहते हैं कि संबंध बनाते हुए स्पर्श को कोमल रखना चाहिए। जो पुरूष अपनी प्रेमिका को फूल की भांति समझकर उसे कोमलता से प्रेम करते हैं, उनकी प्रेमिका के मन में प्रेम बढ़ता ही जाता है।

Advertisement
RO No.- 11641/7

Advertisment

Advertisement

Advertisment

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

खबरे छत्तीसगढ़6 hours ago

झीरम घाटी हमला: नक्सलियों के दिये जख्म के 9 साल पूरे, शहीदों की याद में बने स्मारक, पर न्याय अब भी अधूरा

25 मई 2013 को छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में नक्सलियों ने कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा में हमला कर 32 लोगों...

खबरे छत्तीसगढ़8 hours ago

शहीद पति की प्रतिमा से लिपट कर रो पड़ी पत्नी

रायपुर। आज ही के दिन हुए झीरम हमले की कटु स्मृतियां शहीदों के परिजनों और पूरे प्रदेश के लोगों के...

खबरे छत्तीसगढ़9 hours ago

जयसवाल निको इंडस्ट्रीज के विस्तार जनसुनवाई में भारी विरोध अधिकारियों ने बीच में ही रोक दी जनसुनवाई…देखिये वीडियो

धरसीवां- औद्योगिक क्षेत्र सिलतरा के जयसवाल निको प्लांट में उद्योग विस्तार को लेकर जन सुनवाई रखी गई थी जिसमें बड़ी...

खबरे छत्तीसगढ़9 hours ago

बीजापुर में सीआरपीएफ जवान ने इलेक्ट्रिक ब्लेड से गला काटकर की आत्महत्या

छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित बीजापुर जिले के जैतालूर मार्ग में स्थित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 170 बटालियन के...

खबरे छत्तीसगढ़9 hours ago

झीरम घाटी शहीद मेमोरियल में शहीदों के परिजनों से मिले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

जगदलपुर। झीरम घाटी शहीद मेमोरियल में शहीदों के परिजनों से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुलाकात की और शहीदों के परिजनों...

Advertisement