केंद्र सरकार ने दिए निर्देश, सभी राज्यों के निजी कर्मचारियों को मिलेगा 7 लाख रुपए, प्राइवेट कर्मियों को होगा फायदा… – Channelindia News
Connect with us

CHANNEL INDIA NEWS

केंद्र सरकार ने दिए निर्देश, सभी राज्यों के निजी कर्मचारियों को मिलेगा 7 लाख रुपए, प्राइवेट कर्मियों को होगा फायदा…

Published

on


कोरोना काल में निजी कर्मचारियों के लिए अच्छा फैसला लिया गया है। कर्मचारी की मौत होने पर परिजनों को 7 लाख रुपए दिए जाएंगे। इससे प्रदेश के 10 लाख से ज्यादा कर्मचारियों को फायदा होगा। केंद्रीय मंत्रालय ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया।

ऐसे समझें
दरअसल, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन अपने मेंबर इंप्लॉइज को लाइफ इंश्योेरेंस की सुविधा उपलब्ध कराता है। EPF के सभी सब्सक्राइबर इंप्लॉइज डिपॉजिट लिंक्ड इंश्योरेंस स्कीम 1976 के तहत कवर होते हैं। यह इंश्योरेंस कवर अधिकतम 7 लाख रुपये का होता है। पहले यह रकम 6 लाख रुपये थी, जिसे हाल ही में बढ़ाकर 7 लाख किया गया है।

इसे भी पढ़े   रूखापन, फटी एड़ियों से पाएं छुटकारा, पैरों को मुलायम- खूबसूरत बनाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

कौन कर सकता है क्लेम
अगर आप किसी प्राइवेट संस्थान में काम करते हैं और EPF के सदस्य हैं तो आपके बीमार होने पर या दुर्घटना होने पर या फिर स्वाभाविक मौत पर भी आपके नॉमिनी इस क्लेम का दावा कर सकते हैं। अगर कोई कर्मचारी मौत होने से 12 महीने पहले एक से ज्यादा संस्थानों में काम करता है तो इसके परिवार को भी यह सुविधा मिलती है।

इसे भी पढ़े   विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत के पहल से जेठा कोविड हॉस्पिटल में  लगा मरीजों के लिए जनरेटर

इसमें नॉमिनी को पेमेंट एकमुश्त किया जाता है। EDLI में इम्ला नॉ इॅज को कोई रकम नहीं देनी होती है। अगर स्कीम के तहत कोई नॉमिनेशन नहीं हुआ है तो क्ले म कर्मचारी का जीवनसाथी, कुंवारी बच्चियां और नाबालिग बेटा/बेटे कर सकेंगे। कोरोना महामारी से भी अगर ईपीएफओ सब्सेक्राइबर की मौत होती है तो इंश्याीरेंस क्लेम कर सकते हैं।

प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों का EPF खाता होता है। इस खाते में कर्मचारी की सैलरी का कुछ हिस्सा और कंपनी की तरफ से उतनी ही रकम हर महीने जमा की जाती है। 60 साल के बाद इन कर्मचारियों को यह पैसा दिया जाता है। प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों को भी कई तरह की सुविधाएं मिलती हैं। कोरोना काल में इन योजनाओं के बारे में जानना जरूरी है। ये सुविधाएं बिना कुछ खर्च किए मिलती हैं। साथ ही अनहोनी की स्थिति में परिवार को आर्थिक सहयोग करती हैं। ईपीएफओ की ईडीएलआई स्कीम भी कुछ ऐसी ही है।

इसे भी पढ़े   Breaking: छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर जारी, एक जनपद CEO की हुई कोरोना से मौत... दो दिन पहले हुए थे अस्पताल में भर्ती
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING32 mins ago

कोरोना काल में शिक्षा का बदलता परिदृश्य” विषय पर एकदिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार, शिक्षा में निवेश और ज्यादा बढ़ाने की जरूरत पर बल

रायपुर(चैनल इंडिया)। पब्लिक रिलेशन्स सोसाइटी आफ इंडिया रायपुर चैप्टर द्वारा आज रविवार को “कोरोना काल में शिक्षा का बदलता परिदृश्य”...

BREAKING40 mins ago

बड़ी खबर : सड़क हादसे में इस दिग्गज अभिनेता की हुई मौत, सीएम समेत कई बड़े नेताओं ने जताया शोक

सड़क दुर्घटना में घायल हुए राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कन्नड़ अभिनेता संचारी विजय का सोमवार को यहां एक निजी अस्पताल में...

BREAKING1 hour ago

ASI ने लिया फैसला, 16 जून से खुल जाएंगे केन्द्र द्वारा संरक्षित सभी स्मारक और संग्रहालय

देश में कोरोना का प्रकोप कम हो रहा है और शहर, बाजार, दुकानें खुलने लगी हैं। इसे देखते हुए ASI...

BREAKING2 hours ago

अनोखा ऑफर : कोरोना वैक्सीन लगवाने पर इनाम में मिलेगी 10 लाख की कार

कोरोना महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान दुनियाभर में चलाया जा रहा है और लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए लुभाने...

BREAKING2 hours ago

एक सेल्फी ने ले ली MBBS की छात्रा की जान, पढ़े पूरी खबर

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक सेल्फी के चक्कर में लड़की की जान चली गई. सेल्फी लेने के चक्कर में...

Advertisement
Advertisement