बिन फेरे हम तेरे: इन 5 बातों से समझिए ……  बेहतर शादी के लिए क्यों परफेक्ट है लिव इन रिलेशनशिप  – Channelindia News
Connect with us

CHANNEL INDIA NEWS

बिन फेरे हम तेरे: इन 5 बातों से समझिए ……  बेहतर शादी के लिए क्यों परफेक्ट है लिव इन रिलेशनशिप 

Published

on


कहते हैं कि प्यार एक खूबसूरत भावना है जो दो लोगों को बिना किसी भेदभाव जैसे रंग, जाति, धर्म या वर्ग को छोड़ एक साथ लाता है। कभी-कभी प्यार को बढ़ाने या एक-दूसरे को ज्यादा से ज्यादा जानने के लिए प्रेमी जोड़े शादी से पहले लिव इन रिलेशन में रहने का फैसला करते हैं। हालांकि, हमारे समाज में आज भी शादी से पहले लड़का-लड़की का यूं साथ रहना सही नहीं माना जाता। लेकिन उन लोगों को बता दें कि अब लिव- इन रिलेशनशिप को भारत सरकार की तरफ से क़ानूनी मान्यता दे दी गई है।

जहां कुछ लोग आज भी इस कानून का जमकर विरोध करते हैं, तो कइयों का ऐसा मानना है कि लिव इन रिलेशनशिप में रहकर एक-दूसरे को अच्छे से समझा जा सकता है। यही नहीं, शादी के बाद आने वाली चुनौतियों को संभालने या पार्टनर के साथ तालमेल बिठाने या फिर एक-दूसरे की पसंद-नापसंद जानने के लिए भी लिव- इन जैसा कदम उठाना एकदम परफेक्ट है। ऐसे में जिन लोगों का ऐसा मानना है कि शादी से पहले ‘बिन फेरे हम तेरे’ वाला कॉन्सेप्ट सही नहीं है, उन्हें बता दें कि लिव इन में रहना बेहतर शादी के लिए एकदम परफेक्ट है।

इसे भी पढ़े   कोरोना विस्फोट के बाद कलेक्ट्रेट 72 घंटे के लिए बंद, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

रिलेशनशिप स्टेटस समझना जरूरी

सबसे पहले इस बात को समझिए कि आप जिस रिलेशनशिप में हैं, उसमें आप अपने पार्टनर के प्रति कितने सीरियस हैं। जी हां, यह बात आपको सुनने में अटपटी जरूर लग सकती है, लेकिन शायद आप में बहुत कम लोग इस बात को जानते होंगे कि हम दो तरह की रिलेशनशिप में आते हैं- एक सीरियस और एक कैजुअल रिलेशनशिप।

सीरियस रिलेशनशिप में हम अपने पार्टनर को बहुत अधिक समय से जानते हैं। एक साथ रहने और शादी करने का मन बनाते हैं। वहीं, कैजुअल रिलेशनशिप में हम एक-दूसरे से प्यार तो करते हैं लेकिन शादी के बारे में कुछ नहीं सोचते।

फिजिकल वाले कॉन्सेप्ट को निकालिए

ऐसा कहीं नहीं लिखा है कि लिव इन में आने का मतलब पार्टनर के साथ फिजिकल होना जरूरी है। यह पूरी तरह आपकी इच्छा पर निर्भर करता है। दरअसल, ऐसा माना जाता है कि फिजिकल रिलेशन से पार्टनर्स के बीच अच्छी बॉन्डिंग बनती है, हालांकि इसके अलावा भी तमाम ऐसी एक्टिविटीज हैं जिनसें पार्टनर संग एक मजबूत रिश्ता बनाया जा सकता है।

इसे भी पढ़े   छत्तीसगढ़ : शाम 4 बजे के बाद 48 घंटे तक कर्फ्यू जैसे हालात ! घर से बेवज़ह निकलने वाले रहे सावधान !

एक-दूसरे को जानने का मिलता है मौका

लिव इन रिलेशनशिप की सबसे अच्छी बात यही है कि आपको शादी से पहले एक-दूसरे को अच्छे से जानने का मौका मिलता है। इस बात में कोई दोराय नहीं कि किसी से घंटों-घंटों फोन पर बात करके या एक-दो मीटिंग करके उसको जाना नहीं जा सकता। ऐसे में अगर आप दोनों वाकई शादी करने के बारे में सोच रहे हैं, तो लिव इन में आना बुरा नहीं है।

आदतों का चलता है पता

वो कहते हैं न कि ‘दूर के ढोल सुहावन लगते हैं’ यह मुहावरा पूरी तरह से लिव इन वाले कॉन्सेप्ट पर एकदम सटीक बैठता है। ऐसा इसलिए क्योंकि दूर रहते हुए हमें अपने पार्टनर में सब अच्छाइयां ही नजर आती हैं, लेकिन जब हम किसी के साथ रहने लगते हैं तो उसके व्यवहार, विचार और यहां तक कि उसकी गलतियों को जानने का भी मौका मिलता है।

इसे भी पढ़े   अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति (AIKSCC) के आह्वान पर ग्रामीण गरीबों, किसानों और प्रवासी मजदूरों को राहत और सामाजिक सुरक्षा देने की मांग पर पूरे प्रदेश में किसानों ने किया आंदोलन, कल भी होंगे प्रदर्शन

जिम्मेदारी का होता है एहसास

जब दो लोग एक साथ रहने के बारे में विचार करते हैं तो घर की जिम्मेदारियों को उठाने से लेकर घर खर्च तक के लिए जिम्मेदार बनते हैं। यही नहीं, साथ में रहकर ही आपको इस बात का पता चलता है कि आप दोनों एक रिश्ते की जिम्मेदारियों को निभाने के लिए कितने काबिल हैं।

एक-दूसरे के साथ सहजता है या नहीं

लिव इन रिलेशन की सबसे अच्छी खासियत यही है कि साथ में आकर आप दोनों को इस बात का पता चलता है कि आपकी आगे की लाइफ कैसी होने वाली है। कहीं अब आप दोनों एक-दूसरे के साथ रहकर भी अकेलापन महसूस तो नहीं कर रहे, या अभी भी आपका रिश्ता पहले की तरह मजबूत है।

 

 

 

 

 

 

Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

BREAKING12 hours ago

बंगाल में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले, जल्द लागू होगा CAA

सिलीगुड़(चैनल इंडिया)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सोमवार को यहां कहा कि नागरिकता संशोधन कानून...

channel india12 hours ago

लेमरू एलीफेंट रिजर्व से किसी का नहीं होगा विस्थापन, गांवों और वनवासियों के अधिकार रहेंगे बरकरार: वन मंत्री अकबर

रायपुर(चैनल इंडिया)। वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा है कि लेमरू एलीफेंट रिजर्व से किसी का विस्थापन नहीं होगा। गांवों...

reading and writing campaign.channelindia.news reading and writing campaign.channelindia.news
BREAKING12 hours ago

पढ़ना-लिखना अभियान के क्रियान्वयन के लिए जिला साक्षरता मिशन का होगा गठन, पांच वर्ष में प्रदेश के एक तिहाई असाक्षरों को साक्षर किए जाने का लक्ष्य

रायपुर(चैनल इंडिया)। पढ़ना-लिखना अभियान यह अभियान बुनियादी साक्षरता पर केंद्रित होगा। प्रत्येक जिले में राज्य साक्षरता मिशन की तर्ज पर...

channel india13 hours ago

शिवसेना द्वारा निर्माणाधीन बंद मार्ग को पुनः चालू करने लोक निर्माण विभाग को सौंपा गया ज्ञापन, कार्य शीघ्र चालू नहीं करने घेराव की दी चेतावनी

छत्तीसगढ़ ( चैनल इंडिया)। शिवसेना अंतागढ इकाई द्वारा विगत दिनों अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण विभाग अंतागढ को ज्ञापन सौंपकर निर्माणाधीन...

ambikapur13 hours ago

कोरोना को मात देकर घर लौटे 10 व्यक्ति, कोविड अस्पताल में 53 मरीजों का ईलाज जारी

अम्बिकापुर(चैनल इंडिया)। संयुक्त संचालक एवं मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक ने बताया है कि अम्बिकापुर नगर निगम अंतर्गत अम्बिकापुर के अजिरमा...

खबरे अब तक

Advertisement