बड़ा दावाः सौर मंडल में पृथ्वी के नजदीक इस ग्रह पर मिले जीवन के संकेत…. – Channelindia News
Connect with us

(UAE)

बड़ा दावाः सौर मंडल में पृथ्वी के नजदीक इस ग्रह पर मिले जीवन के संकेत….

Published

on


डेस्क(चैनल इंडिया)|  धरती के नजदीक और अपने सौर मंडल में एक ऐसा ग्रह भी है जहां पर जीवन के आसार दिखाई दिए हैं. वह भी उस ग्रह के बादलों में. हैरानी वाली बात ये है कि इस ग्रह को आप अपनी खुली आंखों से रात में देख सकते हैं. इतना ही नहीं इस ग्रह पर 37 सक्रिय ज्वालामुखी भी हैं जो दिन-रात फट रहे हैं. ऐसे में उस ग्रह के बादलों में जीवन के अंश खोजना एक बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है.
इस ग्रह का नाम है शुक्र (Venus). इस ग्रह के घने बादलों में वैज्ञानिकों को जीवन के अंश दिखाई दिए हैं. वैज्ञानिकों ने इन बादलों में एक ऐसे गैस की खोज की है जो धरती पर जीवन की उत्पत्ति से संबंधित हैं. इस गैस का नाम है फॉस्फीन (Phosphine). हालांकि, शुक्र ग्रह के वातावरण में किसी जीवन का होना लगभग असंभव है ऐसे में फॉस्फीन गैस का मिलना अपने आप में एक चौंकाने वाली घटना है.

इसे भी पढ़े   बड़ी खबर : एम्स ने किया डिस्चार्ज, कोरोना वायरस के दो रोगी हुए ठीक!!

मैसाच्यूसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) की एस्ट्रोबायोलॉजिस्ट यानी अंतरिक्ष जीव विज्ञानी सारा सीगर ने बताया कि हमारे इस खोज की रिपोर्ट नेचर एस्ट्रोनॉमी में प्रकाशित हुई है. हमने उसमें लिखा है कि शुक्र ग्रह के वातावरण में धरती से अलग प्रकार के जीवन की संभावना है. सीगर ने बताया कि हम यह दावा नहीं करते कि इस ग्रह पर जीवन है. लेकिन जीवन की संभावना हो सकती है क्योंकि वहां एक खास गैस मिली है जो जीवों की वजह से उत्सर्जित होती है.
आपको बता दें कि फॉस्फीन (Phosphine) गैस के कण पिरामिड के आकार के होते हैं. इसमें फॉस्फोरस का इकलौता कण ऊपर और नीचे तीन हाइड्रोजन के कण होते हैं. लेकिन हैरानी की बात ये है कि इस पथरीले ग्रह पर इस गैस का निर्माण कैसे हुआ. क्योंकि फॉस्फोरस और हाइड्रोजन के कणों को जुड़ने के लिए काफी ज्यादा मात्रा में दबाव और तापमान चाहिए. बादलों की ये तस्वीरें यूरोपियन साउदर्न लेबोरेट्री (ESO) और अलमा टेलीस्कोप (ALMA) टेलीस्कोप से ली गई हैं.
आपको बता दें कि शुक्र ग्रह पर 37 ज्वालामुखी सक्रिय हैं. ये हाल ही में फटे भी थे. इनमें से कुछ थोड़े-थोड़े अंतर पर अब भी फट रहे हैं. यह ग्रह भौगोलिक रूप से बेहद अस्थिर है. यह ग्रह ज्यादा देर तक शांत नहीं रह पाता. इसमें अक्सर किसी न किसी तरह की गतिविधि होती रहती है. यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड के वैज्ञानिकों ने इन सक्रिय ज्वालामुखियों की खोज की थी.

इसे भी पढ़े   COVID-19- 30 अप्रैल तक बढाई गयी भारत में फंसे विदेशियों की वीज़ा!!


शुक्र ग्रह पर हाल ही में हुए ज्वालामुखीय विस्फोटों की वजह से सतह पर कोरोने या कोरोना (Coronae/Corona) जैसे ढांचे बन गए. कोरोना जैसे ढांचों का मतलब होता है कि गोल घेरे जो बेहद गहरे और बड़े हैं. इन घेरों की गहराई शुक्र ग्रह के काफी अंदर तक है. हाल ही में इन घेरों से ही ज्वालामुखीय लावा बहकर ऊपर आया था. अभी इनसे गर्म गैस निकल रही है. अभी तक ये माना जाता था कि शुक्र ग्रह की टेक्टोनिक प्लेट्स शांत हैं. लेकिन ऐसा नहीं है, वहां भी इन ज्वालामुखीय विस्फोटों की वजह भूकंप आ रहे हैं. टेक्टोनिक प्लेट्स हिल रही हैं.
पहले यह माना जाता था कि शुक्र ग्रह के एक्टिव कोरोना से ही ज्वालामुखीय विस्फोट होता आया है लेकिन अब ऐसा नहीं है. साल 1990 से लेकर अब तक 133 कोरोना की जांच की गई है. इनमें से 37 कोरोना अब भी सक्रिय हैं. इन कोरोना गड्ढों से पिछले 20 से 30 लाख साल ज्वालामुखीय विस्फोट हो रहा है. ज्वालामुखी लावा के बहने के लिए किसी भी ग्रह में कोरोना गड्ढे जरूरी होते हैं. ये 37 ज्वालामुखी ज्यादातर शुक्र ग्रह के दक्षिणी गोलार्द्ध पर स्थित हैं. इनमें सबसे बड़ा कोरोना जिसे अर्टेमिस कहते हैं, वो 2100 किलोमीटर व्यास का है.

इसे भी पढ़े   सुरक्षा की अनदेखी कर बांटा जा रहा है राशन, बढ़ रहा संक्रमण का खतरा!!
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india8 hours ago

पोष्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन 30 नवम्बर तक

रायपुर (चैनल इंडिया)। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य ने बताया है कि अनुसूचित जाति, अनसूचित जनजाति एवं अन्य...

balrampur8 hours ago

पुलिस अधीक्षक बलरामपुर द्वारा महिला संबंधी अपराधों की समीक्षा तथा गूगल स्प्रेडशीट के माध्यम से मॉनिटरिंग के संबंध में ली गई बैठक

बलरामपुर(चैनल इंडिया)। पुलिस महानिदेशक महोदय छत्तीसगढ़, पुलिस मुख्यालय रायपुर द्वारा 23 अक्टूबर को समस्त पुलिस अधीक्षकों की मीटिंग आयोजित की...

balrampur8 hours ago

कमलपुर के सचिव के ऊपर करीब 12 लाख रुपए गबन करने के आरोप पर एफआईआर दर्ज

शैलेंद्र कुमार द्विवेदी की रिपोर्ट बलरामपुर(चैनल इंडिया)। जिले के जनपद पंचायत वाड्रफनगर के ग्राम पंचायत कमलपुर के सचिव के ऊपर...

channel india9 hours ago

भाजपा की गुटबाजी और असंतोष के कारण सैकड़ो भाजपा कार्यकर्ताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ : कांग्रेस

रायपुर(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने मरवाही उपचुनाव  पर बयान जारी करते हुए कहा...

channel india9 hours ago

पांच आदिवासी किसानों ने बदली बंजर जमीन और खुद की किस्मत, आम का ऐसा उत्पादन कि थोक व्यापारी खेत से ही खरीद लेते हैं फल

रायपुर(चैनल इंडिया)। सहकारिता की भावना के साथ एक सूत्र में बंधकर आगे बढ़ने की मिसाल है जशपुर जिले का सुरेशपुर...

खबरे अब तक

Advertisement