मनमानी: उचित मूल्य की दुकानों में नही की जा रही है शासन द्वारा जारी पँजियो की संधारण, मामला बोड़ला विकासखंड के उचित मूल्य की दुकानों का – Channelindia News
Connect with us

channel india

मनमानी: उचित मूल्य की दुकानों में नही की जा रही है शासन द्वारा जारी पँजियो की संधारण, मामला बोड़ला विकासखंड के उचित मूल्य की दुकानों का

Published

on


कवर्धा(चैनल इंडिया) – बोड़ला विकासखण्ड के शासकीय उचित मूल्य की दुकान कामाड़बरी ,दरिया , बेंदा , दुरजनपुर, मुड़वाही , प्रभाटोला, तीतरी, लब्दा,बरबसपुर व सिंधारी में शासन द्वारा आबंटित खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत राशन के खरीदी व वितरण में अनियमितता और गड़बड़ी की जा रही हैं । दुकान संचालक के पास खरीदी, बिक्री एवं शेष राशन के हिसाब किताब के लिए शासन द्वारा निर्धारित नियमानुसार दस्तावेजों का संधारण नही किया जा रहा है साथ ही दुकान संचालक के द्वारा मनमानी करते हुए शेष राशन का गबन कर लिया गया हैं ।

इसे भी पढ़े   55 प्रतिशत शादीशुदा भारतीय अपने साथी को देते हैं धोखा, महिलाएं हैं आगे

 

सूचना के अधिकार में हुआ खुलासा

उपरोक्त ग्राम पंचायतों में सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत जानकारी हेतु आवेदन किया गया जिसमें दस्तावेज प्राप्त नही होने के कारण नियमानुसार अनुविभागीय अधिकारी राजस्व  बोड़ला के कार्यालय में प्रथम अपीलीय आवेदन  प्रस्तुत किया गया। आवेदन उपरांत अनुविभागीय अधिकारी बोड़ला के आदेश अपील प्रकरण क्रमांक 202006080100051 ब 121/2019-20ग्राम दरिया ,20200608010047 ब 121/2019-20ग्राम सिंधारी , 202006080100048 ब 121/ 2019-20ग्राम बरबसपुर, 202006080100049 ब 121/2019-20 ग्राम लब्दा ,202006080100050 ब 121/2019-20 ग्राम तीतरी , 202006080100045 ब 121/ 2019-20  ग्राम प्रभाटोला ,202006080100054 ब 121/2019-20 ग्राम मुड़वाहि, 202006080100053 ब 121/2019-20 ग्राम दुरजनपुर , 20200608010046 ब 121/ 2019–20 ग्राम कामाड़बरी से मामले की खुलासा हुआ ।

इसे भी पढ़े   सुब्रत साहू बने सीएम भूपेश के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी, गौरव द्विवेदी भेजे गए पंचायत विभाग

 

खाद्य निरीक्षण की भूमिका सन्देह के दायरे में

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत संचालित उचित मूल्य की दुकानों की नियमित निरीक्षण के लिए विकासखंड स्तर पर खाद्य निरीक्षण होते हैं जो उचित मूल्य की दुकानों का नियमित निरीक्षण करते हैं लेकिन यदि यहाँ पर निरीक्षण करते तो सैकड़ो क्विंटल चावल की हेराफेरी नही होता है । इससे स्पष्ट है कि अकेले दुकान संचालक इतनी बड़ी मात्रा में चावल की हेराफेरी नही करते ।

इसे भी पढ़े   इस राज्य ने 31 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन

दुकान संचालक भी बदल गए

उपरोक्त दुकानों की संचालन एजेंसी ग्राम पंचायत है जहां पर ग्राम पंचायत के सरपंच व उनके द्वारा नियुक्त व्यक्ति ही दुकान का संचालन करते हैं उपरोक्त ग्राम पंचायतों के उचित मूल्य की दुकानों में मार्च 2020 के बाद नए सरपंचों ने कार्यभार ग्रहण कर लिए है । तत्कालीन सरंपचों ने वर्तमान सरपंचों को प्रभार में पूर्व की बचत चावल की जानकारी कार्यभार में नही दिए है ।

Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india17 hours ago

पोष्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन 30 नवम्बर तक

रायपुर (चैनल इंडिया)। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य ने बताया है कि अनुसूचित जाति, अनसूचित जनजाति एवं अन्य...

balrampur17 hours ago

पुलिस अधीक्षक बलरामपुर द्वारा महिला संबंधी अपराधों की समीक्षा तथा गूगल स्प्रेडशीट के माध्यम से मॉनिटरिंग के संबंध में ली गई बैठक

बलरामपुर(चैनल इंडिया)। पुलिस महानिदेशक महोदय छत्तीसगढ़, पुलिस मुख्यालय रायपुर द्वारा 23 अक्टूबर को समस्त पुलिस अधीक्षकों की मीटिंग आयोजित की...

balrampur17 hours ago

कमलपुर के सचिव के ऊपर करीब 12 लाख रुपए गबन करने के आरोप पर एफआईआर दर्ज

शैलेंद्र कुमार द्विवेदी की रिपोर्ट बलरामपुर(चैनल इंडिया)। जिले के जनपद पंचायत वाड्रफनगर के ग्राम पंचायत कमलपुर के सचिव के ऊपर...

channel india18 hours ago

भाजपा की गुटबाजी और असंतोष के कारण सैकड़ो भाजपा कार्यकर्ताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ : कांग्रेस

रायपुर(चैनल इंडिया)। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने मरवाही उपचुनाव  पर बयान जारी करते हुए कहा...

channel india18 hours ago

पांच आदिवासी किसानों ने बदली बंजर जमीन और खुद की किस्मत, आम का ऐसा उत्पादन कि थोक व्यापारी खेत से ही खरीद लेते हैं फल

रायपुर(चैनल इंडिया)। सहकारिता की भावना के साथ एक सूत्र में बंधकर आगे बढ़ने की मिसाल है जशपुर जिले का सुरेशपुर...

खबरे अब तक

Advertisement