मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों व कोयला निजीकरण के खिलाफ कल, ( 3 जुलाई ) को देशव्यापी विरोध दिवस – रायपुर में देंगे धरना – Channelindia News
Connect with us

channel india

मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों व कोयला निजीकरण के खिलाफ कल, ( 3 जुलाई ) को देशव्यापी विरोध दिवस – रायपुर में देंगे धरना

Published

on

channel india news

रायपुर | कोविड-19 के दौर में 4 तालाबंदी के बाद अब अनलॉक-2 में भी स्थति में सुधार नहीं आया हैं | लेकिन भाजपा के नेत्तृत्व वाली केंद्र सरकार करोना जैसे महामारी के दौर में भी इस संकट जी आड़ लेकर देश की सम्पदा व मेहनतकश जनता के हितों की बलि चढ़ाने पर आमादा है । मोदी सरकार की इस जविरोधी हमलों के खिलाफ देश के समस्त केंद्रीय ट्रेड कल, 3 जुलाई को देशव्यापी विरोध दिवस मनाएंगे । कल छत्तीसगढ़ के मजदूर भी पूरे प्रदेश में भी जबर्दस्त विरोध कार्यवाही आयोजित करेंगे । इंटक , एटक, सीटू, एकतू, एच एम एस, बैंक, बीमा, राज्य व केंद्र कर्मचारी, बी एस एन एल यूनियन व अन्य स्वतंत्र फेडरेशन ने यह आव्हान किया है । इंटक के अध्यक्ष संजय सिंह, एटक महासचिव हरनाथ सिंह, सीटू के अध्यक्ष बी सान्याल, महासचिव एम् के नंदी, एच एम एस के कार्यकारी अध्यक्ष एच एस मिश्रा, एकटू महासचिव बृजेन्द्र तिवारी बैंक कर्मी नेता शिरीष नलगोंडवार, डी के सरकार, वी एस एन एल ई यू के महासचिव आर एस भट्ट, बीमा कर्मी नेता सुरेन्द्र शर्मा, तृतीय वर्ग कर्म संघ अध्यक्ष राकेश साहू, केंद्रीय कर्मचारियों के नेता दिनेश पटेल, मानिक राम पुराम,आशुतोष सिंह, राजेन्द्र सिंह, बीमा कर्मी नेता सुरेन्द्र शर्मा, दवा प्रतिनिधि यूनियन के प्रदीप मिश्रा, ट्रेड यूनियन कौंसिल के सचिव एस सी भट्टाचार्य ने एक संयुक्त विज्ञप्ति में इस बात पर गहरा रोष व्यक्त किया गया कि 150 वर्षो के संघर्षो के बाद हासिल किये गए मजदूरों के अधिकारों को खत्म करने के लिए श्रम कानूनों में मालिक पक्षीय बदलाव करने साथ-साथ कई राज्यों में श्रम कानूनों की सुरक्षा को निलंबित करने का काम कर रही है| इतना ही नहीं केंद्र सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों का विनिवेश करने तथा थोक में उनका निजीकरण करने रेलवे, प्रतिरक्षा, गोदी तथा बंदरगाह, कोयला, एयर इंडिया, बैंको, बीमा आदि निर्णायक महत्व के सेक्टरों में 100 प्रतिशत फड़ी लाने के अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए कोविड-19 के तालाबंदी के आवरण की ओट ली हैं |

इसे भी पढ़े   सरगुजा कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर का बिलासपुर जिले के कलेक्टर के रूप में स्थानांतरण होने पर दी गयी भावभीनी विदाई

भाजपा के आत्मनिर्भर नारे के पीछे उसका इरादा संसाधनो और देश के व्यापार को हड़पने के लिए भारतीय तथा विदेशी ब्रांड के कॉर्पोरेट घराने के पक्ष में कदम उठाना है | कोयला उद्योग में नीलामी भी इसका उदाहरण है प्रदेश के 9 कोल ब्लॉक भी उसमें शामिल है और आज से कोयला मजदूर ने 72 घंटे की हड़ताल प्रारंभ की है । यह हड़ताल अभूतपूर्व है ।

इसे भी पढ़े   दंतेवाड़ा जेल ब्रेक की घटना में फरार माओवादी गिरफ्तार.....

नेताओ ने कहा कि केंद्र सरकार के 48 लाख कर्मचारियों के महंगाई भत्ता को फ्रीज करने और 68 लाख पेंशनधारियो के महगाई भत्ते को फ्रीज करने के फैसले का नतीजा बुरा होगा |

केंद्र सरकार का 20 लाख करोड़ का पैकेज पीड़ित लोगो के साथ एक धोखा और क्रुर मजाक है क्योंकि इसमें मुख्यत: विभिन्न क्षेत्रों के लिए केवल ऋण की गारंटी है| उसी प्रकार कामर्शियल माइनिंग का गैर क़ानूनी और राष्ट्रविरोधी फैसला इस सरकार के मंसूबे को स्पष्ट करता है |

इसी पृष्टभूमि में देश के ट्रेड यूनियन आंदोलन ने निम्नलिखित मांगो को लेकर आगामी 3 जुलाई को देशव्यापी विरोध दिवस का आह्वान किया है |

मांगे—–

1) इनकम टैक्स के दायरे में नहीं आने वाले सभी लोगो के बैंक अकॉउंट में अगले 6 माह तक साढ़े 7 हजार रुपये ट्रांसफर किये जाये|

इसे भी पढ़े   छत्तीसगढ़ राज्य लॉकडाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों को सुविधाएं देने के मामले में रहा अव्वल. राज्य के 97.80 प्रतिशत प्रवासी श्रमिकों को मिला राशन शत-प्रतिशत श्रमिकों को मिली क्वारंटाइन सुविधा, श्रमिक परिवारों को एलपीजी कनेक्शन, नगद सहायता, कृषि ऋण, मनरेगा में रोजगार सहित मिली कई सुविधाएं

2 ) सभी जरुरतमंद परिवार के व्यक्तियों को निशुल्क 10 किलो अनाज उपलब्ध कराया जाये|

३) सभी प्रवासी कामगारों को भोजन और काम दिए जाने की गारंटी की जाये |

4 ) सार्वजनिक स्वास्थ सेवा को सभी के लिए लिए मजबूत किया जाये |

5)कमर्शियल माइनिंग का फैसला वापस लिया जाये|

6 )सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको का विलय करने की नीति पर रोक लगाई जाये |

7 ) PF के ब्याज दर को कम करने का फैसला वापस लिया जाये|

8 ) कोरोना वारियर्स के वर्करों को व्यापक सुरक्षा मुहैय्या कराये जाये

9 ) ट्रेड यूनियनों के 12 सूत्री मांग पत्र पर अविलम्ब करवाई शुरू किया जाये |
प्रदेश में छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा व टी यू सी सी यूनियन के साथी भी इसमें शरीक होंगे । रायपुर में ट्रेड यूनियनों के साथी सुबह 11.30 बजे से 1 बजे तक शारीरिक दूरी व कोविड नियमों का पालन करते हुए कर्मचारी भवन, बूढ़ा पारा के समीप धरना देंगे ।

Advertisement
Advertisement



Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india3 hours ago

कलेक्टर श्याम धावड़े ने जनचैपाल में सुनी आमजनों की समस्याएं, कहा- ‘नौनिहालो को स्वस्थ एवं सुपोषित जीवन प्रदान करना हमारा नैतिक दायित्व’

बलरामपुर: विकासखण्ड बलरामपुर के ग्राम पंचायत बरदर में अनुविभागीय स्तर पर जनचैपाल आयोजित कर शासकीय योजनाओं की जानकारी तथा विभिन्न...

channel india3 hours ago

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक खरीदी पूर्व उपार्जन केन्द्रों का दौरा कर वस्तुस्थिति का लिया जायजा, उपार्जन केन्द्र के कर्मचारियों को दिये आवश्यक निर्देश

बलरामपुर: राज्य शासन द्वारा आगामी 1 दिसम्बर से छत्तीसगढ़ के कृषकों से समर्थन मूल्य में उपार्जन केंद्रों के माध्यम से...

channel india3 hours ago

जनप्रतिनिधियों ने पुलिस पर अवैध कारोबारियों के ऊपर कार्यवाही नहीं करने का लगाया आरोप, पुलिस ने कहा- ‘अवैध कारोबार करते पकड़ा गया तो करेंगे सख्त कार्यवाही’

रायपुर ( धरसीवा )। औद्योगिक क्षेत्र पर नशे का कारोबार करने वाले लोगों पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने कार्यवाही नहीं करने...

channel india3 hours ago

SKS उद्योग द्वारा पर्यावरण जनसुनवाई का हुआ आयोजन: जनप्रतिनिधि व स्थानीय लोग हुए नाराज, बिना सूचना दिए किया गया था आयोजन

धरसीवां- (चैनल इंडिया)। औद्योगिक क्षेत्र सिलतरा के फेस2 में एसकेएस इस्पात एंड पावर लिमिटेड द्वारा पर्यावरण जनसुनवाई का आयोजन किया...

channel india3 hours ago

धरसीवा पुलिस ने नशा मुक्ति अभियान के तहत 2 लोगों पर कार्यवाही कर भेजा जेल

धरसीवा- (चैनल इंडिया)। रायपुर पुलिस द्वारा चलाये जा रहे नशामुक्ति अभियान…संभव है? के तहत पुलिस सहायता केंद्र सिलतरा थाना धरसीवां...

खबरे अब तक

Advertisement