35 के बाद मां बनने पर शिशु को हो सकता है इस बड़ी बीमारी का खतरा, बेटा होगा तो बढ़ेगी मुश्किलें – Channelindia News
Connect with us

देश-विदेश

35 के बाद मां बनने पर शिशु को हो सकता है इस बड़ी बीमारी का खतरा, बेटा होगा तो बढ़ेगी मुश्किलें

Published

on


ज्यादा उम्र की महिलाओं से जन्मे लड़कों में दिल संबंधी बीमारियों का खतरा ज्यादा होता है। एक हालिया शोध में यह दावा किया गया है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज द्वारा किए गए शोध में पाया गया कि उम्रदराज माताओं के गर्भनाल में होने वाले बदलाव के कारण उनसे जन्मे लड़कों के स्वास्थ्य को आगे चलकर नुकसान पहुंच सकता है।

 

35 के बाद मां बनने से मुश्किल: यह शोध चूहों पर किया गया और पाया गया कि 35 की उम्र के ऊपर मां बनने वाली महिलाओं के बेटों के साथ ऐसी समस्या हो सकती है। हालांकि, शोध में पाया गया कि देर से मां बनने वाली महिलाओं के बेटों को तो इसके नकारात्मक परिणाम भुगतने पड़ें लेकिन बेटियों में ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिला, बल्कि उनमें कुछ फायदा ही देखा गया। शोधकर्ताओं ने कहा कि माताओं की उम्र ज्यादा होने से गर्भनाल द्वारा बच्चे तक पोषण और ऑक्सीजन पहुंचाने की क्षमता कम हो जाती है।

इसे भी पढ़े   वायरल VIDEO : जानिये दिवार पर चिपके इस केले में क्या थी खासियत जो बिका 85,00,000 रूपए में !

पहली गर्भावस्था की उम्र बढ़ती जा रही है:

शोधकर्ता डॉक्टर अमांडा पेरी ने कहा, महिलाओं में पहली गर्भावस्था की औसत आयु दिनों-दिन बढ़ती जा रही है, इसलिए यह समझना जरूरी है कि ज्यादा उम्र में मां बनने वाली महिलाओं के बच्चों में वयस्क होने पर किस तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

इसे भी पढ़े   हमेशा विवादों में रहने वाली सांसद प्लेन मैं बैठी धरने पर, नाराज़ होने का कारण जानकर आपकी भी निकल जाएगी हंसी

शोधकर्ताओं ने कहा कि मां को गर्भ में पल रहे बच्चे से जोड़ने वाली गर्भनाल बेहद गतिशील होती है। महिलाओं की उम्र बढ़ने से होने वाले जेनेटिक बदलावों के कारण गर्भनाल के कार्य करने की क्षमता भी प्रभावित होती है।

बढ़ती उम्र में पोषण का बंटवारा करना मुश्किल
शोधकर्ता डॉक्टर टीना नापसो ने कहा, ज्यादा उम्र में गर्भधारण करना मां के लिए काफी महंगा साबित होता है क्योंकि उसके शरीर के लिए बच्चों के साथ पोषण का बंटवारा करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है।

इसे भी पढ़े   अंत्यावसायी योजना का लाभ लेने हेतु आवेदन 10 जुलाई तक

वैज्ञानिकों का कहना है कि शोध के दौरान देखा गया कि उम्रदराज मां और मादा भ्रूण के मामले में गर्भनाल फायदे देता हुए पाया गया। इस दौरान गर्भनाल में सकारात्मक बदलाव देखे गए जो भ्रूण के विकास को ज्यादा फायदा पहुंचाते हैं।

वहीं शोध में पता चला कि नर भ्रूण के मामले में उम्रदराज माताओं का गर्भनाल कमजोर हो जाता है और ठीक से अपना काम नहीं कर पाता।

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

CG Trending News

channel india44 mins ago

सनी लियोनी (Sunny Leone) और उनके पति का ये वीडियो खूब हो रहा वायरल , पति को सबक सिखाते हुए आई नजर , देखे VIDEO

सनी लियोनी (Sunny Leone) ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है ,जिसमें वह अपने घर के बगीचे में दिखाई...

channel india1 hour ago

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का कोरोना टेस्ट नेगेटिव

मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी  मुक्तेश्वरी बघेल, नान के अध्यक्ष  रामगोपाल अग्रवाल, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष  गिरीश देवांगन और मुख्यमंत्री के...

channel india2 hours ago

मुख्यमंत्री ने जो जवाबदारी मुझे प्रदान की है उसका निर्वाह करूंगा – राजेश्री महन्त जी महाराज

रायपुर | राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री डॉ महन्त रामसुन्दर दास जी महाराज ने आज  दिनांक 9 अगस्त...

channel india3 hours ago

जल्द लॉन्च होगा एन.आई.टी के छात्रों का स्टार्टअप “जिमनैश”, पब्लिक एवं मीडिया रिलेशन सेल, एन. आई. टी. रायपुर

रायपुर | एनआईटी के छात्र आयुष पटेल और उनके साथियों ने मिलकर एक ऐसा प्लेटफॉर्म विकसित किया है जिसके माध्यम...

channel india3 hours ago

सूने मकान का ताला तोड़कर नकबजनी करने वाला आरोपी गिरफ्तार, प्रोफेशनल तरीके से दिया था चोरी की घटना को अंजाम

रायपुर(चैनल इंडिया)। प्रार्थी जय प्रकाश प्रधान ने थाना पुरानी बस्ती में रिपोर्ट दर्ज कराया कि प्रोफेसर कालोनी सेक्टर 02 पुरानी...

खबरे अब तक