गरीबों की सेवा से मिलती है सुखद अनुभूति : मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय

गरीबों की सेवा से मिलती है सुखद अनुभूति : मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय

जशपुर में धनुर्विद्या को प्राथमिकता दी जाएगी : मुख्यमंत्री

रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय शनिवार को जशपुर जिले में अपने गृहग्राम बगिया में निजी चैनल के ‘इमर्जिंग जशपुर‘ कार्यक्रम में शामिल हुए। एक प्रश्न के जबाव में मुख्यमंत्री ने कहा कि ग़रीबों की सेवा से सुखद अनुभूति होती है। हम सभी को स्वास्थ्य सुविधा दिलाने प्रयासरत रहेंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि जशपुर जिले के ट्रक ड्राइवर का एम्स दिल्ली में इलाज कराया हैं। उसके पेट में ट्यूमर था, इलाज के बाद वह स्वास्थ्य होकर वापस आया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से सहयोग लेकर ज़रूरतमंद लोगों का इलाज ज़्यादा से ज्यादा कराया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मदद से प्रधानमंत्री सहायता कोष से भी इलाज कराया गया।

मुख्यमंत्री साय ने कहा कि वे अपने अतित को भूले नहीं है। पक्का मकान होने पर पुराने मकान को तोड़ा नहीं है। उसे संजो कर रखा है। उन्होंने कहा कि पारिवारिक जिम्मेदारी के कारण खेल नहीं पाया, किन्तु हॉकी, फुटबॉल खेला, उन्होंने कहा कि जशपुर में धनुर्विद्या (निशानेबाजी) को प्राथमिकता दी जाएगी। मुख्यमंत्री साय ने कहा कि उनकी खेती में काफी दिलचस्पी है। उन्होंने कहा कि इस बार हमने समर्थन मूल्य पर 144 लाख मीटरिक टन धान की ऐतिहासिक खरीदी की है। उन्होंने कहा कि किसानों को धान के मूल्य की अंतर राशि 917 रुपए प्रति क्विण्टल के मान से शीघ्र दी जाएगी। खेती-किसानी को बेहतर बनाने के लिए सिंचाई के साधनों का भरपूर उपयोग किया जाएगा।

मुख्यमंत्री साय ने कहा कि सरकार बनने के एक महीने में ही सीजी पीएससी में भर्ती के शिकायत के मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है। हमारी सरकार ने मेडिकल कॉलेजों की संख्या बढ़ाई है। वनोपज का आदिवासी भाईयों को कैसे लाभ मिले इसके लिए भी उनकी आर्थिक स्थिति बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी क्षेत्रों में विकास किया जाएगा। मुख्यमंत्री 22 जनवरी को अयोध्या में श्रीरामलला प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम के अवसर पर पूरा छत्तीसगढ़ रामललामय हो गया था। इस ऐतिहासिक अवसर पर मैं स्वयं शिवरीनारायण जाकर कार्यक्रम से ऑनलाइन शामिल हुआ।