रत्नावली कौशल ने मंत्री दयालदास बघेल के जन्मदिन को जनसेवा दिवस के रूप में मनाया

रत्नावली कौशल ने मंत्री दयालदास बघेल के जन्मदिन को जनसेवा दिवस के रूप में मनाया

मुंगेली से परमेश्वर कुर्रे की रिपोर्ट

मुंगेली। भाजपा नेत्री एवं अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण छत्तीसगढ़ शासन पूर्व सदस्य रत्नावली कौशल ने खाद्य मंत्री दयालदास बघेल के जन्मदिन को सेवा दिवस के रूप में मनाया। जन्मदिवस के अवसर पर रायपुर स्थित बंगले में  गगनभेदी नारों के बीच पुष्प गुच्छ भेंट कर भव्य स्वागत अभिनंदन किया। रत्नावली कौशल के मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में पूरे छत्तीसगढ़ में उनसे जुड़े कार्यकर्त्ताओं ने स्वास्थ्य शिविर,औषधि वितरण,रक्तदान शिविर,भंडारा लगाकर एवं जनसेवा के कार्य कर मंत्री दयाल दास बघेल का जन्मदिन मनाया। 

खाद्य मंत्री दयाल दास बघेल के जन्मदिन पर रत्नावली कौशल ने सबसे पहले जैतखाम और बाबा गुरु घासीदास के चित्र की पूजा अर्चना कर मंत्री बघेल के दीर्घायु होने की कामना की। इस दौरान उनके साथ सतनामी समाज के सैकड़ों लोग उपस्थित थे। सभी ने पूजा अर्चना कर गुरु घासीदास जी से प्रार्थना की कि मंत्री दयाल दास को लंबी उम्र दें,ताकि वे सत्य के मार्ग पर चलते हुए जनसेवा करते रहें। इसके बाद रत्नावली कौशल और अन्य लोग विभिन्न मंदिरों, मजारों, चर्च, गुरुद्वारा में भी गए। हर धर्म स्थल पर मंत्री दयाल दास बघेल के जीवन में खुशहाली और उनकी लंबी आयु के लिए प्रार्थना की गई।
रत्नावली कौशल ने गरीब तबके के विद्यार्थियों को पेन, कॉपियां, किताबें, कपड़े, गरीबों को अन्न आदि का वितरण किया। रत्नावली कौशल ने अस्पताल जाकर मरीजों के सेब अनार आदि फल वितरित किए। रत्नावली कौशल के मार्गदर्शन में मुंगेली जिले के कई मुख्य स्थानों तथा राज्य के रायपुर, राजनांदगांव, दुर्ग, कवर्धा, खैरागढ़, अंबागढ़ चौकी, मोहला, मानपुर, कोंडागांव, कांकेर, बस्तर, नारायणपुर, सुकमा, दंतेवाड़ा, बीजापुर, चिरमिरी, सरगुजा, रायगढ़, कोरिया समेत अन्य जिलों में वृहद स्तर पर स्वास्थ्य परीक्षण एवं रक्तदान शिविरों का आयोजन किया गया।
इन शिविरों में रोगग्रस्त लोगों का इलाज विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा किया गया।. मरीजों को निशुल्क दवाएं भी दी गईं। रक्तदान शिविरों में सैकड़ों युवक युवतियों ने रक्तदान किया। एकत्रित रक्त विभिन्न अस्पतालों के ब्लड बैकों में जमा कराया गया। यह रक्त जरूरतमंद मरीजों को निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा।

भाजपा नेत्री रत्नावली कौशल ने इन शिविरों की मॉनिटरिंग करती रहीं और जरूरी साधन उपलब्ध करवाती रहीं। रत्नावली ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर मंत्री दयाल दास बघेल के जन्मदिन को पूरे छत्तीसगढ़ में ऐतिहासिक और यादगार बना दिया। दूर दराज के जिलों के जो लोग दयाल दास बघेल की जन्मतिथि से अनजान थे, उन्हें भी पता चल गया कि आज श्री बघेल का जन्मदिन है।

धन्य है दयाल दास बघेल की माता

खाद्य मंत्री दयाल दास बघेल के जन्मदिन पर आयोजित समरोहों में भाजपा नेत्री रत्नावली कौशल ने सारगर्भित विचार रखे। उन्होंने कहा कि दयाल दास की माता धन्य हैं, जिन्होंने अपनी कोख से सेवाभावी संतान को जन्म दिया है। उस माता को मैं वंदन करती हूं,  नमन करती हूं। ऐसी मांएं किस्मत वाली होती हैं, जिनकी कोख से दयाल दास बघेल जैसा पुत्र जन्म लेता है। मंत्री बघेल ने अपने सेवा भाव परोपकारी कार्यों और जन मानस के हित में अपना जीवन लगा दिया है। वे वास्तव में बाबा गुरु घासीदास के आदर्शो और सिद्धांतों पर चलते हुए निस्वार्थ भाव से जनहित में कार्य कर रहे हैं। वे हमारे सतनामी समाज के अनमोल नगीना हैं। दयाल दास बघेल जैसे ही जनप्रतिनिधि हमारे समाज का गौरव बढ़ाते हैं। रत्नावली कौशल ने कहा कि हम सभी ने डॉ. रमन सिंह के मुख्यमंत्री रहते एक मंत्री के रूप में दयाल दास बघेल के नेक कार्यों को देखा था और आज मुख्यमंत्री विष्णु देव के नेतृत्व में श्री बघेल के अतुलनीय कार्यों को देख रहे हैं। मुझे गर्व है कि हमारे समाज के दयाल दास बघेल गुरु घासीदास बाबा के संदेश, उपदेश को अपने कार्यों के बूते जन जन तक पहुंचा रहे हैं।