लाखों की चोरी का पुलिस ने किया खुलासा,बेटी ने अपने 2 साथियों के साथ दिया था घटना को अंजाम

लाखों की चोरी का पुलिस ने किया खुलासा,बेटी ने अपने 2 साथियों के साथ दिया था घटना को अंजाम

कांकेर। नन्दनमारा में हुई 9 लाख रुपये की चोरी का पुलिस ने खुलासा किया। सगी बेटी ने ही अपने दो पुरुष मित्रों के साथ चोरी की घटना को अंजाम दिया था। 12 लाख में जमीन बेचकर माँ ने पैसे संभाल कर रखे थे। आरोपियों के पास से 8 लाख रुपये नगद पुलिस ने बरामद किया लाखो की। चोरी की घटना को पुलिस ने 5 घंटे के अंदर आरोपियों को धर दबोचाग या है।
कोतवाली पुलिस ने रविवार को खुलासा करते हुए बताया कि प्राथिया की बेटी ने अपने दो पुरुष मित्रो के साथ मिलकर लाखों की चोरी की घटना को अंजाम दिया है।
कोतवाली पुलिस से मिली जानकारी अनुसार प्रार्थिया चरणबती कोरोम पति स्व. कुवंर सिंह कोर्राम उम्र 65 नांदनमारा कांकेर थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बताया था कि इसके हिस्से कि लगभग 1.5 एकड़ जमीन नंदनमारा बाईपास में स्थित है उसमे से लगभग 75 डिसमील जमीन को सम्बलपुर निवासी स्वरूप चंद जैन को 4 माह पहले 12 लाख रूपये में बेची थी, जिसको बेचने के बाद मिले 12 लाख रूपये को अपने निवास में लोहे के आलमारी में रखी थी, उसमे से लगभग 3 लाख रूपये स्वंय के घर बनाने में खर्च हो गया। लगभग 9 लाख रुपए अपने आलमारी में रखी थी जिसे 9 मई को रात कोई अज्ञात चोर ने प्रार्थिया घर मे रात में घुसकर आलमारी तोड़कर रखे पैसे को चोरी कर लिया है।

रिपोर्ट पर अपराध कायम कर जांच में लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुये वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आई के एलेसिला अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के निर्देशन एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस मोहसिन खान के पर्यवेक्षण में थाना कांकेर से दो टीम उप निरीक्षक राम कुमार साव एंव प्र.आर. 203 ओमप्रकाश के नेतृत्व में टीम का गठन कर मामले के अज्ञात आरोपियो एंव चोरी गये माल मुसरुका के पतासाजी हेतु रवाना किया गया। 
विवेचना के दौरान मुखबिर से सुचना मिली कि नंदनमारा में हुये चोरी के संदिग्ध महिला प्रार्थिया की बेटी सुरेखा मरकाम पति स्व. आत्माराम मरकाम निवासी मानिकपुर थाना नरहरपुर जिला कांकेर को पकड़ने गोविन्दपुर की ओर पुलिस टीम रवाना हुई थी। पुलिस को देखकर संदेही महिला भागने का प्रयास कर रही थी, जिसे घेराबंदी कर पकडकर अभिरक्षा में लेकर कड़ाई से पुछताछ की गई। तब बताई कि उसे पैसे की जरूरत होने पर उसकी मां जमीन बेचकर 9 लाख रूपये अपने पास रखी थ, जिसमे से कुछ पैसे देने के लिये बोली जो पैसे देने से मना कर दी,तब अपने अन्य दो सहयोगी सोमारू पांडे पिता अंकालू राम पांडे निवासी अंण्डी थाना कोरर एवं शीतल नायक उर्फ कांता पिता स्व. पन्ना लाल नायक निवासी टिकरापारा कांकेर से मिलकर अपने मां के घर नंदनमारा के आलमारी में रखे पैसे के बारे में दोनो सहयोगी को बताकर 9 मई के रात्रि करीबन 12 से 01 के बीच में जब घर के अन्य सदस्य गहरी नीद में सो गये थे तब अपने साथियो को फोन के माध्यम से बुलाकर अपने मां के घर में रखे-9 लाख रूपये को चोरी करवायी है। आरोपिया ने अपने मेमोरेण्डम कथन पर कबूल किया कि स्वंय तीन लाख रूपये अपने बेडरूम के पंलग मे छुपाकर रखी है शेष रकम को अपने दोनो सहयोगियो को दे दी है उक्त तीन लाख रुपये को आरोपिया के कब्जे से बरामद किया गया आरोपी सोमारू पांडे का पता तलाश किया गया जो कि माकडी चौक में मिला जो पुलिस वाहन को देखकर भागने का प्रयास कर रहा था जिसे अभिरक्षा मे लेकर कडाई से पुछताछ करने पर अन्य साथियों के साथ चोरी करना कबूल किये है आरोपी के मेमोरेण्डम के आधार पर उनके पास रखे थैले से तीन लाख रुपये नगद बरामद किया गया। बाद अन्य आरोपी शीतल नायक उर्फ कांता का पता तलाश किया गया जो जानी चौक में पुलिस टीम को देखकर भागने का प्रयास कर रहा था जिसे अभिरक्षा मे लेकर लेकर कडाई से पुछताछ करने पर अन्य सार्थिया के साथ चोरी करना कबूल किये है आरोपी के मेमोरेण्डम के आधार पर उनके पास रखे थैले से दो लाख 14 हजार 500 रूपये नगद बरामद किया गया। आरोपियो के विरुद्ध पर्याप्त साक्षय पाये जाने से 12मई को गिरफ्तार किया गया है जिसे न्यायिक रिमांड पर न्यायालय पेश किया गया। उल्लेखनीय है कि मामले के आरोपी समारू राम पांडे पूर्व का आरोपी है जो थाना कोरर के अपराध क्रमाक 60/22 धारा 498 (क), 304 (बी) भादवि का आरोपी है एंव अन्य आरोपी शीतल नायक उर्फ कांता के विरुद्ध थाना कांकेर मे अपराध क्रमाक 179/13 धारा 13 जुआ एक्ट अपराध क्रमाक 431/14 धारा 36 (सी) आबकारी एक्ट अपराध क्रमाक 103/19 धारा 13 जुआ एक्ट, अपराध क्रमाक 293/21 धारा 13 जुआ एक्ट, अपराध क्रमाक 156/22 धारा 294,323,506,325,186,353,34 भादवि में आरोपी है। प्रकरण के विवेचना कार्यवाही में उप निरी.राम कुमार साव सउनि भुनेश्वरी भगत प्र.आर आरक्षक शक्ति सिह शैलेन्द्र सोरी डुमेश साहू, म.आर.गणेश्वरी कोडोपी, अंजली गोटा का विशेष योगदान रहा।