ग्राम टेरम में हुआ “पुलिस जनदर्शन” कार्यक्रम,एसडीओपी धरमजयगढ़ और थाना प्रभारी घरघोड़ा ने सुनी ग्रामीणों की शिकायतें

ग्राम टेरम में हुआ “पुलिस जनदर्शन” कार्यक्रम,एसडीओपी धरमजयगढ़ और थाना प्रभारी घरघोड़ा ने सुनी ग्रामीणों की शिकायतें

घरघोड़ा से संवाददाता गौरीशंकर गुप्ता की रिपोर्ट

ग्रामवासियों को किया गया नशा मुक्ति के लिए प्रेरित

रायगढ़ । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार के दिशा निर्देशन पर आज दिनांक 03/02/2024 को थाना घरघोड़ा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम टेरम में घरघोड़ा पुलिस द्वारा “ पुलिस जनदर्शन” कार्यक्रम का आयोजन किया गया । ग्रामीणों की शिकायत के निराकरण एवं जागरूकता कार्यक्रम के लिए एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा एवं थाना प्रभारी घरघोड़ा निरीक्षक शरद चंद्रा कार्यक्रम में मौजूद थे । 

“ पुलिस जनदर्शन” में एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा द्वारा ग्रामवासियों की पुलिस से जुड़ी शिकायतें सुनी और उनके निकरण के लिए थाना प्रभारी को निर्देशित किया गया ।

एसडीओपी ने ग्रामवासियों को नशा मुक्ति के लिए प्रेरित करते हुए बताये कि नशा से सबसे ज्यादा पीड़ित महिलाएं होती है । नशा और नाश में न केवल एक मात्रा का फर्क है बल्कि नशा ही कई समस्याओं की जड़ है । अपराध और सड़क दुर्घटनाओं में भी नशा एक बड़ा कारण बनकर उभर रहा है । उन्होंने बताया कि एसएसपी श्री सदानंद कुमार के दिशा कुमार के मार्गदर्शन पर रायगढ़ पुलिस नशा के खिलाफ अभियान स्तर पर कार्यवाही कर रही है, वहीं विविध जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को नशे के प्रति जागरूक किया जा रहा है । कार्यक्रम में महिलाओं को जादू-टोना जैसी अंधविश्वासों से दूर रहें, गांव में कोई बीमार होता है तो उसका उचित इलाज करावें मेडिकल तथा पुलिस सहायता के लिये महत्वपूर्ण हेल्पलाइन नम्बरों की जानकारी दिया गया। उन्होंने बताया कि पुलिस जान माल की सुरक्षा के लिए है, पुलिस से सहायता लें । 


थाना प्रभारी घरघोड़ा निरीक्षक शरद चंद्रा ने नशे को दुखों का खान बताया और छत्तीसगढ़ी भाषा में नशा के दुष्प्रभाव को समझाते हुए महिलाओं को नशे के विरुद्ध एकजुट होने प्रेरित किया गया । उन्होंने बताया कि महिलाएं अपने घर के सदस्यों को नशा से दूर कर गांव और समाज को नशा मुक्ति के लिए प्रेरित कर रही है जो सराहनीय है । महिलाओं की ओर से भी कार्यक्रम में सकारात्मक रूख देखने को मिला । थाना प्रभारी द्वारा उपस्थित महिलाओं को साइबर क्राइम के संबंध में जानकारी देकर ऑनलाइन फ्रॉड से सजग करते हुए फेक कॉल से बचने, मोबाइल ओटीपी शेयर ना करने और अंजान लिंक को क्लिक ना करने  समझाइश दिये और यातायात नियमों का पालन करने कहा गया । 


गांव के छोटे बच्चों द्वारा पुलिस अधिकारियों के स्वागत के लिए मंच पर छत्तीसगढ़ी नृत्य प्रस्तुत किया गया अधिकारियों ने बच्चों के नृत्य की सराहना कर उन्हें कला व शिक्षा के लिए प्रेरित करते हुए पुरस्कृत किया गया । पुलिस जनदर्शन कार्यक्रम में एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा, थाना प्रभारी घरघोड़ा निरीक्षक शरद चन्द्रा, सरपंच ग्राम पंचायत टेरम प्रदीप राठिया तथा आसपास गांव की काफी संख्या में महिलाएं और बच्चे मौजूद थे ।